nagpur murder case Killed vegetable shop four brothers executed money given to relatives of deceased | सब्जी की दुकान लगाने के लिए कर दी हत्या, चार भाइयों ने अंजाम दिया, मृतक के परिजनों को दिए थे पैसे
पांच दिनों में हत्या की पांचवीं वारदात होने से पुलिस के माथे पर भी बल पड़ा हुआ है. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsअक्षय को मेयो अस्पताल पहुंचाया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. अपराध और अवैध धंधों की रोकथाम के लिए पुलिस ने सख्त मुहिम चलाई है. सदर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.

नागपुरः सब्जी की दुकान लगाने को लेकर हुए विवाद में चार भाइयों ने अपराधी युवक को मौत के घाट उतार दिया. मंगलवार की शाम सदर के मंगलवारी बाजार में हुई इस वारदात से दहशत फैल गई.

मृतक अक्षय किशोर निर्मले (23) संभाजी कासार मार्ग, मस्कासाथ है. आरोपी रितेश वर्मा, उसके भाई निखिल वर्मा, सुमित वर्मा और राजू वर्मा हैं. चारों कलमना में रहते हैं. अक्षय के खिलाफ हत्या सहित अन्य मामले भी दर्ज हैं. उसने दो साल पहले नाइक तालाब के कुख्यात गुंडे पिंटू ठवकर की हत्या की थी. वह अपने भाई के साथ मंगलवारी बाजार में सब्जी की दुकान लगाता था.

आरोपी वर्मा बंधु भी सब्जी की दुकान लगाते हैं. एक भाई चाय बेचता है. वर्मा बंधुओं का मंगलवारी बाजार में दबदबा है. वह किसी के भी मार्ग में बाधा बन जाते हैं. अक्षय भी अपना दबदबा बनाने में जुटा हुआ था. कुछ दिन पहले एक सब्जी विक्रेता की बीमारी से मृत्यु हुई थी.

अक्षय ने उस जगह के बदले में मृतक के परिजनों को पैसे दिए थे

अक्षय ने उस जगह के बदले में मृतक के परिजनों को पैसे दिए थे. वह उस जगह पर भाई के लिए सब्जी की दुकान लगाना चाहता था. इसका पता चलने के बाद से वर्मा बंधु संतप्त थे. उन्होंने एक हफ्ते पहले अक्षय को वहां दुकान लगाने पर हत्या करने की धमकी दी थी. इसके बाद भी अक्षय ने दूसरी जगह पर भी सब्जी की दुकान लगा ली. इससे वर्मा बंधु आगबबूला हो गए. अक्षय का आपराधिक रिकार्ड होने से उन्हें खुद के लिए खतरा नजर आने लगा.

शाम 7.30 बजे अक्षय बाजार में सब्जी बेच रहा था. उस वक्त ग्राहकों की भी काफी चहल-पहल थी. इसी दौरान हथियार से लैस वर्मा बंधु अक्षय के पास पहुंचे. उन्होंने अक्षय को हथियार से गोद डाला. उसे मौके पर ही ढेर करके फरार हो गए. उस वक्त बाजार में काफी चहल-पहल थी. दुकानदार और ग्राहक वहां से गायब हो गए. वारदात का पता चलने पर सदर पुलिस मौके पर पहुंची.

अक्षय को मेयो अस्पताल पहुंचाया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया

उसने अक्षय को मेयो अस्पताल पहुंचाया जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. बीते पांच दिनों से लगातार हत्या की घटनाएं हो रही हैं. इससे नागरिकों में खलबली मची हुई है. अधिकांश वारदातें तात्कालिक विवाद अथवा पुरानी रंजिश के चलते हुई हैं. जान गंवाने वाले अपराधी प्रवृत्ति के ही हैं. अपराध और अवैध धंधों की रोकथाम के लिए पुलिस ने सख्त मुहिम चलाई है. ऐसे में हत्याएं होना गंभीर है. सदर पुलिस ने हत्या का मामला दर्ज कर जांच आरंभ की है.

पांच दिनों में हत्या की पांचवीं वारदात होने से पुलिस के माथे पर भी बल पड़ा हुआ है. सोमवार-मंगलवार के दौरान तो 24 घंटे में हत्या की दूसरी घटना हुई है. सोमवार की रात 10 बजे पानठेले के ग्राहकों को लेकर हुए विवाद में यशोधरा नगर के अपराधी रियाजुद्दीन अंसारी की मो. अजहर ने दो नाबालिगों की मदद से हत्या कर दी थी.

यशोधरा नगर पुलिस ने अजहर को अदालत में पेश करके 16 जनवरी तक हिरासत में लिया है. दोनों के बीच कुछ दिनों से विवाद चल रहा था. रियाजुद्दीन अपराधी होने के बावजूद पुलिस को उससे आरोपी की रंजिश का पता नहीं चल पाया था. 

Web Title: nagpur murder case Killed vegetable shop four brothers executed money given to relatives of deceased

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे