इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के चौथे सीजन में चेन्नई सुपर किंग्स ने धमाका किया और लगातार दूसरी बार खिताब अपने नाम किया। आईपीएल में हर साल कुछ नए रिकॉर्ड्स बनते है, लेकिन 2011 से पहले किसी भी टीम ने लगातार दो सीजन नहीं जीते थे। 23 मार्च को शुरू हो रहे आईपीएल के 12वें सीजन से पहले हम आपको बता रहे हैं आईपीएल के चौथे सीजन के बारे में खास बाते।

चेन्नई ने जीते लगातार दो सीजन

चेन्नई सुपर किंग्स ने साल 2011 में आईपीएल का खिताब अपने नाम किया और लगातार दो खिताब जीतने वाली पहली टीम बनी। चेन्नई सुपर किंग्स का यह रिकॉर्ड 8 साल बाद भी बरकरार है और कोई भी टीम अब तक लगातार दो बार खिताब अपने नाम नहीं कर पाई।

पहली बार खेली 10 टीमें

आईपीएल 2011 में पहली बार 10 टीमों को शामिल किया गया। पहली बार साल 2011 में पुणे वॉरियर्स इंडिया और कोच्चि टस्कर्स केरल खेली थी। कोच्चि की टीम ने लीग राउंड में खेले 14 मैचों में से 6 में जीत दर्ज की थी और प्लाइंट्स टेबल में 8वें नंबर पर रही थी। पुणे की टीम ने 14 में से 4 मैचों में जीत दर्ज की और प्वाइंट्स टेबल में नौवें नंबर पर रही।

बेस्ट बॉलिंग का रिकॉर्ड

साल 2011 के आईपीएल में भारतीय गेंदबाज इशांत शर्मा ने डेक्कन चार्जर्स की ओर से खेलते हुए कोच्चि टस्कर्स के खिलाफ 3 ओवर में 12 रन देकर 5 विकेट अपने नाम किए थे, लेकिन 2008 में सोहेल तनवीर के 4 ओवर्स में 14 रन दकेर चेन्नई के 6 विकेट का रिकॉर्ड नहीं तोड़ पाए। लसिथ मलिंगा भी साल 2011 में सोहेल के रिकॉर्ड के करीब पहुंचे थे, लेकिन सिर्फ एक विकेट दूर रह गए थे। उन्होंने दिल्ली डेयरडेविल्स के खिलाफ 3.4 ओवर में 13 रन देकर 5 विकेट लिए थे।

2011 का ऑरेंज कैप विनर

रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर की ओर से खेलते हुए क्रिस गेल ने साल 2011 के आईपीएल सीजन में 12 मैच खेलकर 604 रन बनाया और ऑरेंज कैप को अपने नाम किया। इस दौरान क्रिस का उच्चतम स्कोर 107 रन रहा और औसत 67.55 का था। वहीं विराट कोहली अपनी धुंआंधार प्रदर्शन के आधार पर सबसे ज्यादा रन बनाने वाले दूसरे स्थान पर रहे। कोहली ने 16 मैच खेलकर 46.41 की औसत से 557 रन बनाए थे।

2011 का पर्पल कैप विनर

मुंबई इंडियंस की ओर से खेलते हुए लसिथ मलिंगा ने 16 मैचों में 375 रन देकर 28 विकेट लिया था और सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज बने थे। मलिंगा ने 2011 में पर्पल कैप का खिताब अपने नाम किया था। सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाजों में मुनाफ पटेल दूसरे नंबर पर रहे थे। उन्होंने 15 मैचों 358 रन दिए थे और 22 विकेट अपने नाम किया था।

English summary :
In the fourth season of the Indian Premier League (IPL), Chennai Super Kings blasted and won the title for the second consecutive time. Every year some new records are made in the IPL, but before 2011, no team has won two consecutive seasons.


Web Title: IPL Flashback: Indian Premier League 2011 Records
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे