दक्षिण पूर्वी एशिया के कई देशों में कोरोना का कहर, न कब्रिस्तान में बची जगह, न मिल रही ऑक्सीजन

By अभिषेक पारीक | Published: July 22, 2021 03:41 PM2021-07-22T15:41:44+5:302021-07-22T15:47:37+5:30

कई देशों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ गए हैं और कई देशों में लोगों को दफनाने के लिए जगह कम पड़ रही है और नई जगह तलाशी जाने लगी है। साथ ही भारत की तरह ही कुछ देशों में ऑक्सीजन संकट भी परेशान कर रहा है। 

Coronavirus havoc in many countries of Southeast Asia, no space left in the cemetery, no oxygen available | दक्षिण पूर्वी एशिया के कई देशों में कोरोना का कहर, न कब्रिस्तान में बची जगह, न मिल रही ऑक्सीजन

प्रतीकात्मक तस्वीर

Next
Highlightsदक्षिण पूर्वी एशिया के कुछ देशों में कोरोना के दैनिक मामलों की संख्या में तेजी से इजाफा हुआ है। इंडोनेशिया में दैनिक 50 हजार मामले सामने आए, वहीं एक ही दिन में 1300 की मौत हो गई। इंडोनेशिया में ऑक्सीजन की किल्लत है, वहीं मलेशिया में कब्रों के लिए जगह कम पड़ गई है। 

दुनिया में कोरोना के मामले कम होने का नाम ही नहीं ले रहे हैं। वैश्विक महामारी के एक देश में मामले कम होते हैं तो दूसरे देश में बढ़ जाते हैं। कई देशों में कोरोना के मामले फिर से बढ़ गए हैं और कई देशों में लोगों को दफनाने के लिए जगह कम पड़ रही है और नई जगह तलाशी जाने लगी है। साथ ही भारत की तरह ही कुछ देशों में ऑक्सीजन संकट भी परेशान कर रहा है। 

कोरोना को लेकर एशिया में इंडोनेशिया और मलेशिया में स्थिति काफी विकट होती जा रही है। इंडोनेशिया में जहां कोरोना के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है और बड़ी संख्या में लोगों की मौत हो रही है। दूसरी लहर के वक्त भारत में ऑक्सीजन की कमी को लेकर हंगामा मचा था, वही स्थिति अब इंडोनेशिया की है। सरकार ने ऑक्सीजन उत्पादन को सिर्फ चिकित्सकीय इस्तेमाल में उपयोग का आदेश दिया है। सरकार ने ऑक्सीजन का उत्पादन बढ़ाने के भी आदेश दिए हैं। देश को करीब दो सप्ताह से ऑक्सीजन की कमी से जूझना पड़ रहा है। 

मलेशिया में भी हालात बद से बदतर होते जा रहे हैं। यहां के अस्पतालों में कोरोना के कारण बड़ी संख्या में लोग पहुंच रहे हैं। अस्पतालों के बैड फुल होने के बाद मरीजों के लिए रिसॉर्ट्स को भी अस्थायी अस्पतालों में तब्दील कर दिया गया है, जहां उन्हें भर्ती कर इलाज किया जा रहा है। यहां भी ऑक्सीजन की किल्लत ने परेशानी को और बढ़ा दिया है। वहीं दूसरी ओर, कब्रिस्तान में मृतकों को दफनाने के लिए जगह की कमी हो गई है। जिसके बाद शवों को दफनाने के लिए दूसरी जगह तलाशी जा रही है। 

मलेशिया के सेलेनगोर के सरकारी अस्पताल में खाली बैड नहीं बचे हैं। ऐसे में लोगों का घरों पर और दूसरी जगहों पर इलाज किया जा रहा है। मलेशिया के सबसे अमीर शहरों में सेलेनगोर की गिनती होती है और बड़ी संख्या में अमीर लोग यहां पर रहते हैं। बावजूद इसके लोगों को अस्पतालों में बैड नहीं मिल रहे हैं। सरकार की ओर से बैड बढ़ाने के बाद यह स्थिति है। 

बता दें कि पिछले कुछ दिनों में दक्षिण पूर्व एशिया के कई देशों में अचानक मामले बढ़े हैं। इंडोनेशिया में 4.17 फीसद और मलेशिया में 3.18 फीसद मामलों में बढ़ोतरी हुई है। इंडोनेशिया में बुधवार को एक ही दिन में 1383 लोगों की मौत हो गई है। यहां पर 50 हजार से ज्यादा मामले एक दिन में सामने आ रहे हैं। वहीं मलेशिया में 13 जुलाई को एक दिन में दस हजार मामले सामने आने के बाद लॉकडाउन लगाना पड़ा था। 

Web Title: Coronavirus havoc in many countries of Southeast Asia, no space left in the cemetery, no oxygen available

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे