Jyotiraditya Scindia not quit to BJP here is Fact Check | क्या बीजेपी छोड़ने वाले हैं ज्योतिरादित्य सिंधिया, जानें सोशल मीडिया पर किए जा रहे दावे का सच
Jyotiraditya Madhavrao Scindia And JP Nadda (Photo Source -BJP Twitter )

Highlightsज्योतिरादित्य सिंधिया के ​पर्सनल असिस्टेंट पुरुषोत्तम पराशर ने कहा कि ये अफवाह कांग्रेस ने फैलाई है। ज्योतिरादित्य सिंधिया और बीजेपी में खटास आई है, ऐसी खबरें अखबारों में भी छापी गई है।

नई दिल्ली: कांग्रेस छोड़कर भारतीय जनता पार्टी (BJP) में शामिल होने वाले नेता ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया क्या पार्टी से इस्तीफा दे चाह रहे हैं। पिछले कई दिनों से ट्विटर सहित बाकी सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर ये दावे किए जा रहे हैं कि ज्योतिरादित्य सिंधिया जल्द ही बीजेपी छोड़ने वाले हैं। ट्विटर पर ''India TV'' (@IndiaTVPoll) नाम के एक ट्विटर हैंडल से दावा करते हुए लिखा गया है, सूत्रों के हवाले से खबर, भाजपा नेता ज्योतिरादित्य सिंधिया सोमवार तक भाजपा छोड़ने की तैयारी में। बोले- "मंत्री बनाओ या परिणाम भुगतने को तैयार रहें शिवराज, इनके कारण इज्जत भी गई और कुछ मिला भी नहीं, मामा और मोदी ने मिलकर फंसाया"। हालांकि ये ब्लू टिक यानी अधिकारिक इंडिया टीवी का ट्विटर हैंडल नहीं है। 

वायरल ट्वीट का स्क्रीनशॉट
वायरल ट्वीट का स्क्रीनशॉट

इसके अलावा भी यह दावे कई ट्विटर हैंडल से किया गया है।

15 मई को किए एक ट्वीट में यूजर ने लिखा है,मध्य प्रदेश से बड़ी खबर आ रही हैं। कांग्रेस के बागी सभी विधायकों को टिकट देने के लिए भाजपा तैयार नहीं हैं। ज्योतिरादित्य सिंधिया जी पूरी कोशिश कर रहे हैं, पर सफल होते नहीं दिख रहे हैं।

 

एक और ट्विटर यूजर ने यही दावा किया है।

ऐसे ही बहुत सारे दावे फेसबुक फर भी किए जा रहे हैं। 

जानें क्या है सच? 

सोशल मीडिया चल रही इन अफवाहों में कोई सच्चाई नहीं हैं। इंडिया टूडे में छपी रिपोर्ट के मुताबिक, ज्योतिरादित्य सिंधिया के ​पर्सनल असिस्टेंट पुरुषोत्तम पराशर ने AFWA को बताया कि वायरल ट्वीट फर्जी है और इस तरह के कई आर्टिकल सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। लेकिन इसमें कोई सच्चाई नहीं है। 

पुरुषोत्तम पराशर ने इंडिया टूडे को अखबारों में छपी कुछ स्टोरी के स्क्रीनशॉट भी भेजे हैं, जिसमें ज्योतिरादित्य सिंधिया को लेकर बीजेपी छोड़ने के दावे किए जा रहे हैं। 

अखबारों की क्लिपिंग
अखबारों की क्लिपिंग

पुरुषोत्तम पराशर ने कहा कि ये खबरें निराधार हैं। इन्हें कांग्रेस ने छपवाया और प्रसारित किया है। इसके पीछे कांग्रेस पार्टी की साजिश है। 

ज्योतिरादित्य सिंधिया ने 18 साल तक कांग्रेस में रहने के बाद मार्च 2020 में पार्टी से इस्तीफा दिया। 11 मार्च  2020 को भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की उपस्थिति में दिल्ली में बीजेपी में शामिल हुए थे। 

सिंधिया के बीजेपी में शामिल होते ही मध्य प्रदेश में कमलनाथ की सरकार गिर गई थी। सिंधिया के करीब दो दर्जन विधायकों ने कमलनाथ सरकार से इस्तीफा दे दिया था।

Web Title: Jyotiraditya Scindia not quit to BJP here is Fact Check
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे