Devendra Fadnavis made CM to save central funds Rs 40,000 crore Anant Kumar Hegde twitter trolled | अनंत हेगड़े ने जैसे ही बताया 80 घंटे के लिए फड़नवीस क्यों बने CM, ट्रेंड हुआ #Rs 40,000, लोगों ने BJP को बताया 'महालूट' पार्टी
अनंत हेगड़े ने जैसे ही बताया 80 घंटे के लिए फड़नवीस क्यों बने CM, ट्रेंड हुआ #Rs 40,000, लोगों ने BJP को बताया 'महालूट' पार्टी

Highlightsदेवेंद्र फड़नवीस ने अनंत हेगड़े के 40, 000 करोड़ वाले बयान पर कहा है, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है।सोशल मीडिया पर जैसे ही ये बात सामने आई #Rs 40,000 ट्रेंड करने लगा।

महाराष्ट्र में शिवसेना, राष्ट्रीय कांग्रेस पार्टी (NCP) और कांग्रेस की सरकार बनने के बाद भी राज्य की सियासत को लेकर बयानबाजी थमने का नाम नहीं ले रही। महाराष्ट्र की सियासत में अब 40 हजार करोड़ का नया विवाद खड़ा हो गया है। जैसे ही बीजेपी नेता अनंत हेगड़े ने कहा कि यह जानते हुए कि हमारे पास बहुमत का आभाव है, फिर भी देवेंद्र फड़नवीस ने 80 घंटे के लिए प्रदेश के सीएम पद की शपथ ली। इसके पीछे बहुत अहम वजह थी। अनंत हेगड़े ने कहा, राज्य के विकास के लिए 40000 करोड़ रुपये दिए थे, इस पैसा को वापस लेने के लिए यह तय किया गया कि फड़नवीस को थोड़े वक्त के लिए सीएम बनाकर पैसे वापस क्रेंद्र को भेज दिए जाएंगे। हालांकि देवेंद्र फड़नवीस ने इस बायन का समर्थन नहीं किया है। 

सोशल मीडिया पर जैसे ही ये बात सामने आई #Rs 40,000 ट्रेंड करने लगा। इस ट्रेंड के साथ वैरिफाइड यूजर और जानी-मानी हस्ती 
शमा मोहम्मद ने लिखा, सिर्फ इसलिए कि बीजेपी सत्ता नहीं हड़प सकी, वह महाराष्ट्र के लोगों का पैसा चोरी करके उनको दंडित करने जा रही है।

एक यूजर ने लिखा है बीजेपी ने महालूट का काम किया है।

वहीं लोग यह भी पूछ रहे हैं कि ये नहीं समझ में आ रहा है कि देवेंद्र फड़नवीस झूठ बोल रहे हैं या अनंत हेगडे़। 

वहीं एक यूजर ने राज्य ोक 40, 000 करोड़ देने की मांग कर रहे हैं। 

पढ़ें देवेंद्र फड़नवीस ने अनंत हेगड़े के 40, 000 करोड़ वाले बयान पर क्या कहा? 

देवेंद्र फड़नवीस ने अनंत हेगड़े के 40, 000 करोड़ वाले बयान पर कहा है, ऐसा कुछ भी नहीं हुआ है। मुझे नहीं पता है कि अनंत हेगड़े ऐसा क्यों कह रहे हैं। मैं उनके बयान का बिल्कुल भी समर्थन नहीं करता हूं। उन्होंने कहा, जब मैं 80 घंटे के लिए सीएम बना तो मैंने ऐसा कोई भी फैसाल नहीं लिया है। 

बता दें कि  23 नवंबर को देवेंद्र फड़नवीस ने मुख्यमंत्री और अजित पवार ने उपमुख्यमंत्री पद की शपथ ली। 26 नवंबर को सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद देवेंद्र फड़नवीस और अजित पवार ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। देवेंद्र फड़नवीस ने इस्तीफे से पहले प्रेस कॉन्फ्रेंस कर कहा था कि अजित पवार ने अपना समर्थन वापस ले लिया है, जिसके बाद बीजेपी के पास विधायकों का समर्थन नहीं है। अजित पवार ने बीजेपी को भरोसा दिलाया था कि वह 36 विधायकों का समर्थन दिलवाएंगे। महाराष्ट्र में 288 सीटों के लिए हुए विधानसभा चुनाव में बीजेपी को 105, कांग्रेस को 44, शिवसेना को 56 और एनसीपी को 54 सीट मिले थे। 

Web Title: Devendra Fadnavis made CM to save central funds Rs 40,000 crore Anant Kumar Hegde twitter trolled
ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे