Did not hear any complaint from India: Penn | भारत से कोई शिकायत नहीं सुनी : पेन
भारत से कोई शिकायत नहीं सुनी : पेन

ब्रिसबेन, 14 जनवरी आस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने स्वीकार किया कि बायो-बबल में भारतीय टीम के लिये जिंदगी चुनौतीपूर्ण होगी क्योंकि वे परिवार के बिना विदेश में रह रहे हैं और उनका कहना है कि स्टीव स्मिथ सहित उनके खिलाड़ी भी संयुक्त अरब अमीरात में इंडियन प्रीमियर लीग के बाद से इसी तरह की मुश्किलों का सामना कर चुके हैं।

भारतीय और आस्ट्रेलियाई टीम फिर से कड़े पृथकवास नियमों के अंतर्गत रह रही हैं क्योंकि ब्रिटेन में पाये गये नये वायरस के मामले क्वींसलैंड की राजधानी में भी मिले हैं। आयोजकों ने खिलाड़ियों को केवल आधारभूत सुविधायें मुहैया करायी हैं।

हालांकि भारतीय बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने कहा कि इतने अहम टेस्ट मैच में खेलने से पहले जज्बा बनाये रखने के लिये किसी को ‘हाउसकीपिंग’ सेवा की जरूरत नहीं है।

पेन के साथी मिशेल स्टार्क की पत्नी और सदर्न स्टार्स की अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी एलिसा हीली ने भारतीय टीम के ब्रिसबेन पृथकवास की कथित शिकायतों का मजाक उड़ाया था।

पेन ने कहा, ‘‘मैंने ऐसी टिप्पणियां नहीं देखीं और सच बताऊं तो भारतीय खिलाड़ियों की भी कोई टिप्पणियां नहीं पढ़ीं। यह सभी के लिये चुनौतीपूर्ण रहा है और उनके लिये ज्यादा, क्योंकि वे अलग देश में हैं और अपने परिवार से ज्यादा दूर हैं। ’’

घरेलू टीम के कप्तान ने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि वे किस परेशानियों से गुजर रहे होंगे और मैं जानता हूं कि स्टीव स्मिथ और पैट कमिंस भी उन्हीं की तरह इन्हें (परेशानियों को) जानते हैं। यह मुश्किल है लेकिन मैंने भारतीय खिलाड़ियों से सीधे तौर पर कुछ भी नहीं सुना है। ’’

राठौड़ ने कहा कि होटल में हो रही समस्या ने टेस्ट मैच से पहले किसी भी खिलाड़ी के ध्यान को प्रभावित नहीं किया है।

पंजाब के पूर्व कप्तान ने कहा, ‘‘हम आस्ट्रेलिया में आस्ट्रेलिया से दुनिया के सर्वश्रेष्ठ आक्रमण में से एक के खिलाफ खेल रहे हैं। इसलिये मुझे लगता है कि जज्बा कायम है। आपका जज्बा बरकरार रखने के लिये आपको ‘हाउसकीपिंग’ या ‘रूम सर्विस’ की जरूरत नहीं है। ’’

उन्होंने कहा, ‘‘निश्चित रूप से, चिंतायें बीसीसीआई को बतायी गयी थीं और मुझे लगता है कि बीसीसीआई इन सब चीजों से निपटने के लिये सीए से संपर्क में है। जहां तक टीम का संबंध है तो हमारा ध्यान मैच पर है और हम मैच में अच्छा करने करने के लिये तैयार हैं।

Disclaimer: लोकमत हिन्दी ने इस ख़बर को संपादित नहीं किया है। यह ख़बर पीटीआई-भाषा की फीड से प्रकाशित की गयी है।

Web Title: Did not hear any complaint from India: Penn

अन्य खेल से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे