Sports Ministry set to order inquiry into unauthorised Pak trip by kabaddi players | पाकिस्तान दौरे पर गई अनधिकृत कबड्डी टीम की जांच करेगा खेल मंत्रालय, गए हैं 45 खिलाड़ी और 12 अधिकारी
पाकिस्तान दौरे पर गई अनधिकृत कबड्डी टीम की जांच करेगा खेल मंत्रालय, गए हैं 45 खिलाड़ी और 12 अधिकारी

Highlightsखेल मंत्रालय के सूत्र ने पीटीआई से कहा, ‘‘मंत्री (किरेन रिजिजू) इस मामले की जांच शुरू करवाने वाले हैं।’’ खेल मंत्रालय पाकिस्तान में एक सर्कल शैली के कबड्डी विश्व कप में ‘अनधिकृत’ तौर पर भारतीय टीम की भागीदारी की जांच पर विचार कर रहा है।

खेल मंत्रालय पाकिस्तान में एक सर्कल शैली के कबड्डी विश्व कप में ‘अनधिकृत’ तौर पर भारतीय टीम की भागीदारी की जांच पर विचार कर रहा है। खेल मंत्रालय के मुताबिक लगभग 45 खिलाड़ी और 12 अधिकारी बिना किसी आधिकारिक अनुमति या मंजूरी के पड़ोसी देश गये हैं। खेल मंत्रालय के सूत्र ने पीटीआई से कहा, ‘‘मंत्री (किरेन रिजिजू) इस मामले की जांच शुरू करवाने वाले हैं।’’ अन्य सूत्र ने बताया,‘‘कोई भी अनुशासनात्मक कार्रवाई खिलाड़ियों के वापस आने के बाद ही शुरू होगी।’’

सर्कल शैली की कबड्डी, सामान्य शैली से अलग तरह से खेली जाती है। एशियाई खेलों में अधिकृत सामान्य शैली की कबड्डी में दोनों टीमों में 80 किग्रा से कम वजन वाले सात-सात खिलाड़ी होते हैं। सर्कल शैली में वजन का कोई पैमाना नहीं होता है और वृताकार मैदान में खेले जाने वाले इस प्रारूप में दोनों टीमों में आठ-आठ खिलाड़ी होते हैं। भारतीय ओलंपिक संघ (आईओए) ने सोमवार को कहा कि उसने विश्व स्तर के टूर्नामेंट के लिए किसी भी कबड्डी टीम के पाकिस्तान दौरे को मंजूरी नहीं दी है।

चैम्पियनशिप में भाग लेने के लिये भारत से दल शनिवार को वाघा बार्डर के जरिये लाहौर पहुंचा जिसका आयोजन पहली बार पाकिस्तान में किया जा रहा है। टीम के वहां पहुंचने के बाद सोशल मीडिया पर उनकी तस्वीरें वायरल हुई जिससे भारतीय खेल जगत में हलचल मच गयी। अंतरराष्ट्रीय कबड्डी महासंघ (आईकेएफ) के अध्यक्ष जनार्दन सिंह गहलोत ने कहा कि टूर्नामेंट को शीर्ष निकाय द्वारा मान्यता नहीं दी गयी है।

गहलोत ने कहा, ‘‘ यह फर्जी टूर्नामेंट है, इसमें फर्जी खिलाड़ी भाग ले रहे हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ पाकिस्तान में खेले जा रहे सर्कल विश्व कप में भाग ले रहे आस्ट्रेलिया और कनाडा जैसे देश अंतरराष्ट्रीय महासंघ से मान्यता प्राप्त नहीं है। इन देशों में सर्कल कबड्डी नहीं खेला जाता इसलिए ये फर्जी खिलाड़ी इन देशों का नेतृत्व कर रहे हैं।’’

भारतीय एमेच्योर कबड्डी महासंघ (एकेएफआई) ने दावा किया कि उन्होंने किसी भी खिलाड़ी को पाकिस्तान में खेलने की मंजूरी नहीं दी है। इस मामले में पंजाब कबड्डी संघ की भूमिका पर भी सवाल उठ रहा है, क्योंकि टूर्नामेंट में भाग लेने गये लगभग सभी खिलाड़ी राज्य संघ से पंजीकृत है। राज्य संघ के पास खिलाड़ियों को अंतरराष्ट्रीय टूर्नामेंट में भेजने का अधिकार नहीं है।

पाकिस्तान एमेच्योर सर्कल कबड्डी महासंघ (पीएसीकेएफ) ने दावा किया कि कई भारतीय खिलाड़ी आस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और कनाडा का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं। इस बीच गहलोत का एक पत्र सामने आया है जिसमें उन्होंने आईकेएफ अध्यक्ष के तौर पर पाकिस्तान को इस टूर्नामेंट के आयोजन की मंजूरी दी है। यह पत्र पाकिस्तान कबड्डी महासंघ के अध्यक्ष मोहम्मद सरवर राणा को भेजा गया था।

गहलोत से जब इस बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘‘पाकिस्तान महासंघ ने एक पत्र भेजकर टूर्नामेंट की मेजबानी के लिए मंजूरी मांगी और आईकेएफ ने इसकी मंजूरी दी। मैंने अध्यक्ष के रूप में इसकी स्वीकृति दी। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।’’ उन्होंने कहा, ‘‘अगर हमारा कोई सदस्य टूर्नामेंट का आयोजन करना चाहता है तो हम मंजूरी देते है। हमें कैसे पता चलेगा कि इस तरह की परिस्थितियां आयेंगी।’’

Web Title: Sports Ministry set to order inquiry into unauthorised Pak trip by kabaddi players
कबड्डी से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे