Lathi charge on anti-CAA-NRC protesters, two officers removed, orders for investigation | सीएए-एनआरसी विरोधी प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज, दो अधिकारियों को हटाया गया, जांच के आदेश
सीएए-एनआरसी विरोधी प्रदर्शनकारियों पर लाठी चार्ज, दो अधिकारियों को हटाया गया, जांच के आदेश

संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के खिलाफ यहां बड़वाली चौकी क्षेत्र में धरना-प्रदर्शन कर रहे लोगों पर लाठी चार्ज के मामले ने शुक्रवार को तूल पकड़ लिया। इसके बाद राज्य सरकार ने अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक (एएसपी) समेत दो अधिकारियों को उनकी मौजूदा तैनाती से हटाते हुए मामले की जांच के आदेश दिये हैं।

प्रदेश के गृह मंत्री और जिले के प्रभारी मंत्री बाला बच्चन के हवाले से जारी बयान में कहा गया कि बृहस्पतिवार और शुक्रवार की दरम्यानी रात शहर के बड़वाली चौकी क्षेत्र में जारी प्रदर्शन में "कुछ बाहरी व्यक्तियों के प्रवेश के कारण" अप्रिय स्थिति बनी । इस कारण पुलिस द्वारा हालात पर काबू पाने के लिये हल्का बल प्रयोग किया गया।

बच्चन ने कहा, "मैंने सम्पूर्ण घटनाक्रम की जांच के आदेश दिये हैं। यदि इस मामले में कोई पुलिसकर्मी दोषी पाया जाता है, तो उसके विरुद्ध उचित कदम उठाये जायेंगे।" इस बीच, शुक्रवार रात सामने आये आदेश में शहर के एएसपी (पश्चिम जोन-1) गुरुप्रसाद पाराशर को इस पदस्थापना से तत्काल प्रभाव से हटाते हुए अगले आदेश तक भोपाल स्थित पुलिस मुख्यालय से अटैच कर दिया गया है। बड़वाली चौकी इलाका पाराशर के ही क्षेत्राधिकार में था। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) रुचिवर्धन मिश्र ने बताया कि पाराशर को "प्रशासनिक दृष्टिकोण" से हटाया गया है। मिश्र ने यह भी बताया कि उन्होंने सर्राफा पुलिस थाने के प्रभारी आरएनएस भदौरिया को इस तैनाती से हटाते हुए जिला पुलिस लाइन से अटैच कर दिया है, ताकि मामले की निष्पक्ष जांच हो सके।

इससे पहले, प्रदेश कांग्रेस समिति के मीडिया विभाग की अध्यक्ष शोभा ओझा ने प्रदर्शन स्थल पहुंचकर संवाददाताओं से कहा, "मुझे बताया गया है कि बड़वाली चौकी में सीएए-एनआरसी विरोधी प्रदर्शनकारियों पर बृहस्पतिवार देर रात हुए लाठी चार्ज में छह-सात लोग घायल हुए हैं। खुद मुख्यमंत्री कमलनाथ इस घटना को लेकर चिंतित हैं।" ओझा ने कहा, "जहां तक सीएए और एनआरसी का सवाल है, मुख्यमंत्री पहले ही कह चुके हैं कि वह सूबे में किसी भी संविधान विरोधी प्रावधान लागू नहीं होने देंगे।"

चश्मदीद लोगों के मुताबिक प्रदर्शनकारियों से पुलिस की बहस के दौरान बृहस्पतिवार देर रात बड़वाली चौकी क्षेत्र में हंगामा हुआ और प्रदर्शनकारियों पर पुलिस ने कथित तौर पर बल प्रयोग भी किया। बड़वाली चौकी क्षेत्र में सीएए और एनआरसी के खिलाफ धरना-प्रदर्शन पिछले तीन दिन से चल रहा है। जुमे (शुक्रवार) की नमाज के बाद बड़वाली चौकी के जामा मस्जिद मैदान पर लोग सीएए और एनआरसी के विरोध में तिरंगे झंडे और तख्तियां लेकर धरना-प्रदर्शन तथा नारेबाजी करते दिखायी दिये। इनमें बड़ी तादाद में महिलाएं भी शामिल थीं।

Web Title: Lathi charge on anti-CAA-NRC protesters, two officers removed, orders for investigation
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे