अमरनाथ गुफाः बाढ़ के 6 दिन बाद राहत बचाव कार्य बंद, उपराज्यपाल सिन्हा ने कहा- 'कोई लापता नहीं '

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: July 14, 2022 06:38 PM2022-07-14T18:38:33+5:302022-07-14T18:38:33+5:30

जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने बृहस्पतिवार को कहा कि अमरनाथ गुफा मंदिर के निकट अचानक आई बाढ़ के बाद शुरू किया गया बचाव अभियान अब खत्म हो गया है और किसी व्यक्ति के लापता होने की जानकारी नहीं मिली है।

Jammu And Kashmir Lt Governor manoj sinha Clarifies, 'no one missing' Amarnath flash floods | अमरनाथ गुफाः बाढ़ के 6 दिन बाद राहत बचाव कार्य बंद, उपराज्यपाल सिन्हा ने कहा- 'कोई लापता नहीं '

अमरनाथ गुफाः बाढ़ के 6 दिन बाद राहत बचाव कार्य बंद, उपराज्यपाल सिन्हा ने कहा- 'कोई लापता नहीं '

Next
Highlightsशुक्रवार को अमरनाथ गुफा के पास फटा था बादल।जानकारी के मुताबिक बादल फटने से अब तक 15 लोगों की मौत हो गई है। जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि घटना के 6 दिनों बाद रेस्क्यू ऑपरेशन रोक दिया गया है।

श्रीनगर: जम्मू कश्मीर के श्रीनगर में शुक्रवार को एक बड़ा हादसा हुआ था। अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने से भारी तबाही हुई थी। उस वक्त कहा जा रहा था कि बड़ी संख्या में लोग लापता है। कई लोगों के टेंट पानी में बह गए थे। पिछले 6 दिनों से राहत बचाव कार्य जारी था।

हालांकि अब जम्मू कश्मीर प्रशासन ने ये साफ कर दिया है कि अब तक मरने वालों की संख्या 15 है। अब कोई लापता नहीं है। जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि ये खबर थी कि बहुत से लोग लापता है। लेकिन हमारे पास पिछले कुछ दिनों में लापता लोगों के बारे में जानकारी लेने के लिए हेल्पलाइन नंबरों पर 200 से ज्यादा फोन आ चुके हैं। सभी के बारे में पता लगा लिया गया है। 

55 घायलों में से 53 को किया गया डिस्चार्ज 

उपराज्यपाल ने बताया कि 55 लोग घायल थे जिनमें से 53 को अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि 14 लोग जिनकी जान इस हादसे में गई उनके शव उनके परिवार वालों को सौंप दिए गए हैं। हालांकि एक परिवार ने कश्मीर में ही उनके परिजन का अंतिम संस्कार करने का फैसला किया था। उन्होंने कहा कि सभी घायलों को 5 लाख का मुआवजा देने का एलान हुआ था। लेकिन अब अमरनाथ बोर्ड उन्हे 5 लाख रुपए का मुआवजा और देगा।

यात्रा में लापरवाही के आरोपों को किया खारिज 

मनोज सिन्हा ने उन सभी आरोपों को खारिज कर दिया जिसमें ये कहा गया कि अमरनाथ यात्रा में लापरवाही हुई है। उन्होंने कहा कि हमनें हर तरह से एहतियात बरती है। अगर ऐसा नहीं होता तो बादल फटने पर ज्यादा नुकसान हो सकता था।

उन्होंने ये भी कहा कि हमने कोर्ट के आदेश के मुताबिक ही 10 हजार यात्रियों को अमरनाथ यात्रा करने की परमिशन दी है। बता दें कि 30 जून को अमरनाथ यात्रा की शुरूआत हुई थी। हालांकि 9 जुलाई को अमरनाथ गुफा के पास  बादल फटने से भारी नुकसान हुआ था। सेना और जम्मू कश्मीर प्रशासन ने 6 दिनों तक रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया है। 

उपराज्यपाल ने कहा कि दो घायलों का यहां एसकेआईएमएस अस्पताल में उपचार चल रहा है और उनकी हालत स्थिर है। सिन्हा ने कहा कि प्रशासन सभी राज्यों की सरकारों के संपर्क में है और अब तक किसी भी व्यक्ति के लापता होने की जानकारी नहीं मिली है। उपराज्यपाल ने कहा कि आठ जुलाई को शुरू बचाव अभियान अब लगभग खत्म हो चुका है।

Web Title: Jammu And Kashmir Lt Governor manoj sinha Clarifies, 'no one missing' Amarnath flash floods

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे