छत्तीसगढ़ः भाजपा के दिवंगत नेता दिलीप​ सिंह ​जूदेव के पुत्र युद्धवीर सिंह का निधन, बीजेपी को बड़ा झटका

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: September 20, 2021 01:53 PM2021-09-20T13:53:59+5:302021-09-20T13:54:41+5:30

जशपुर राजघराने में जूदेव परिवार के सदस्य और पूर्व राज्यसभा सांसद रणविजय सिंह जूदेव ने बताया कि युद्धवीर सिंह जूदेव का सोमवार तड़के बेंगलुरु के एक अस्पताल में निधन हो गया।

Chhattisgarh late BJP leader Dilip Singh Judev son Yudhveer Singh dead 39 years | छत्तीसगढ़ः भाजपा के दिवंगत नेता दिलीप​ सिंह ​जूदेव के पुत्र युद्धवीर सिंह का निधन, बीजेपी को बड़ा झटका

दिलीप सिंह जूदेव की मृत्यु के बाद युद्धवीर सिंह ने उस अभियान को आगे बढ़ाया था।

Next
Highlightsयुद्धवीर सिंह के परिवार में उनकी मां माधवी सिंह जूदेव, पत्नी संयोगिता सिंह जूदेव और छह वर्षीय बेटी है। रणविजय सिंह जूदेव ने बताया कि युद्धवीर सिंह की पार्थिव देह मंगलवार को जशपुर लाई जाएगी और यहीं उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।युद्धवीर सिंह जशपुर राजपरिवार के कुमार दिलीप सिंह जूदेव के तीन पुत्रों में सबसे छोटे थे।

जशपुरः छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के वरिष्ठ नेता रहे दिवंगत दिलीप​ सिंह ​जूदेव के पुत्र एवं पूर्व विधायक युद्धवीर सिंह जूदेव का निधन हो गया है। वह 39 वर्ष के थे।

 

राज्य के जशपुर राजघराने में जूदेव परिवार के सदस्य और पूर्व राज्यसभा सांसद रणविजय सिंह जूदेव ने बताया कि युद्धवीर सिंह जूदेव का सोमवार तड़के बेंगलुरु के एक अस्पताल में निधन हो गया। उन्होंने बताया कि युद्धवीर लीवर संबंधी​ रोग से जूझ रहे थे। कुछ​ दिन पहले उन्हें इलाज के लिए दिल्ली ले जाया गया था जहां से उन्हें बेंगलुरु भेजा गया।

बेंगलुरु के अस्पताल में आज तड़के उनका निधन हो गया। युद्धवीर सिंह के परिवार में उनकी मां माधवी सिंह जूदेव, पत्नी संयोगिता सिंह जूदेव और छह वर्षीय बेटी है। रणविजय सिंह जूदेव ने बताया कि युद्धवीर सिंह की पार्थिव देह मंगलवार को जशपुर लाई जाएगी और यहीं उनका अंतिम संस्कार किया जाएगा।

युद्धवीर सिंह जशपुर राजपरिवार के कुमार दिलीप सिंह जूदेव के तीन पुत्रों में सबसे छोटे थे। वर्ष 2013 में दिलीप सिंह जूदेव का निधन हुआ था। छत्तीसगढ़ में भारतीय जनता पार्टी को मजबूत स्थिति में पहुंचाने के लिए ​दिलीप सिंह जूदेव का महत्वपूर्ण योगदान माना जाता है। राज्य के आदिवासी बाहुल्य जशपुर जिले में दिलीप सिंह जूदेव ने धर्म परिवर्तन कर चुके लोगों का घर वापसी अभियान चलाया था।

दिलीप सिंह जूदेव की मृत्यु के बाद युद्धवीर सिंह ने उस अभियान को आगे बढ़ाया था। युद्धवीर सिंह जूदेव वर्ष 2008 में पहली बार चंद्रपुर विधानसभा सीट से छत्तीसगढ़ विधानसभा के लिए चुने गए और उन्होंने लगातार दो बार इस क्षेत्र का प्रतिनिधित्व किया। वर्ष 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा ने इस सीट से उनकी पत्नी संयोगिता सिंह जूदेव को चुनाव मैदान में उतारा था।

संयोगिता सिंह चुनाव हार गई ​थीं। युद्धवीर सिंह अपने पिता दिलीप सिंह जूदेव की तरह बेबाकी के लिए जाने जाते थे। वह कई मौके पर अपनी ही पार्टी के वरिष्ठ नेताओं पर टिप्पणी करने से भी नहीं चूकते थे। छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने युद्धवीर सिंह जूदेव के निधन पर दुख जताया है।

बघेल ने ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति और परिजनों को दुख की घड़ी को सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की। वहीं भाजपा के प्रदेश प्रभारी और सांसद डी पुरंदेश्वरी तथा प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय ने जूदेव के निधन पर दुख जताते हुए इसे पार्टी और क्षेत्र के लिए अपूरणीय क्षति बताया है।

Web Title: Chhattisgarh late BJP leader Dilip Singh Judev son Yudhveer Singh dead 39 years

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे