Bihar assembly elections 2020 transgender Monika Das first time responsibility presiding officer | Bihar assembly elections 2020: पहली बार ट्रांसजेंडर को पीठासीन पदाधिकारी की जिम्मेवारी, मोनिका दास जताई खुशी, कहा-यह सम्मान की बात
दास ने खुशी का अनुभव करते हुए कहा कि यह उनके और पूरे ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए एक बड़ा सम्मान है.

Highlightsमोनिका दास को आज को मतदान केंद्रों को संभालने और कोविड-19 चुनौतियों से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया गया.प्रशिक्षण सत्र पटना के गर्दनीबाग में चुनाव आयोग के अधिकारियों द्वारा आयोजित किया गया था. रिया सरकार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए एक मतदान अधिकारी के रूप में चुना गया था.

पटनाः चुनाव आयोग ने बिहार में पहलीबार एक मतदान केंद्र में पीठासीन पदाधिकारी के रूप में 32 वर्षीय ट्रांसजेंडर-मोनिका दास को नियुक्त किया है.

मोनिका दास केनरा बैंक में बतौर एक बैंकर कार्यरत हैं. मोनिका दास को पटना में एक निर्वाचन क्षेत्र में मतदान केंद्र की अध्यक्षता की जिम्मेवारी सौंपी गई है. यहां 3 नवंबर को मतदान होना है. मोनिका दास पटना की ही रहने वाली हैं. मोनिका दास को आज को मतदान केंद्रों को संभालने और कोविड-19 चुनौतियों से निपटने के लिए प्रशिक्षण दिया गया.

प्रशिक्षण सत्र पटना के गर्दनीबाग में चुनाव आयोग के अधिकारियों द्वारा आयोजित किया गया था. यह पहली बार है जब बिहार विधानसभा चुनाव के लिए एक ट्रांसजेंडर को बरौर पीडासीन पदाधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया है. इसके पहले एक स्कूल शिक्षक, रिया सरकार को पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के लिए एक मतदान अधिकारी के रूप में चुना गया था.

खुद को पीठासीन पदाधिकारी के तौर पर नियुक्त किये जाने पर मोनिका दास ने खुशी का अनुभव करते हुए कहा कि यह उनके और पूरे ट्रांसजेंडर समुदाय के लिए एक बड़ा सम्मान है. उसने यह भी कहा कि वह मतदान अधिकारियों से सभी नियमों और विनियमों का पालन करेगी और अपने कर्तव्यों का निर्वहन एक जिम्मेदार तरीके से करेगी. 

Web Title: Bihar assembly elections 2020 transgender Monika Das first time responsibility presiding officer

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे