2263 migrant laborers arriving in UP from Maharashtra, were checked and sent home by roadways buses | महाराष्ट्र से 2263 प्रवासी श्रमिकों को लेकर लखनऊ पहुंची 2 विशेष ट्रेन, स्वास्थ्य चेक कर उनको रोडवेज की बसों से घर भेजा गया
सांकेतिक तस्वीर

Highlightsहरियाणा से 11 हजार से अधिक लोग, मध्य प्रदेश से 6 हजार से ज्यादा, कोटा से करीब 12 हजार छात्र यूपी लौटे हैं।उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) ने इन यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिये बसों का इंतजाम किया है।

लखनऊ: महाराष्ट्र से उत्तर प्रदेश अभी 2 ट्रेन आई हैं, जिनमें लगभग 2263 से अधिक लोग आ चुके हैं। इस बात की जानकारी सोमवार को उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी ने मीडिया को दी है। उन्होंने कहा कि लखनऊ में जो ट्रेन श्रमिकों को लेकर आई उसमें जो लोग आए उनका बड़े ही व्यवस्थित तरीके से चैकिंग की गई, भोजन कराया गया, फिर यूपी रोड़वेज की बसों से उनको घर भेजा गया, जिले में उनकी एक बार फिर चैकिंग होगी। जिनको बीमारी के लक्षण नहीं होंगे वो होम क्वारंटाइन में जाएंगे।

उत्तर प्रदेश के अतिरिक्त मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी की मानें तो प्रदेश में अब तक 50 हजार से ज्यादा छात्र और श्रमिक प्रदेश लौट चुके हैं। इसमें हरियाणा से 11 हजार से अधिक लोग, मध्य प्रदेश से 6 हजार से ज्यादा, कोटा से करीब 12 हजार छात्र शामिल हैं।

बता दें कि उत्तर प्रदेश राज्य सड़क परिवहन निगम (यूपीएसआरटीसी) ने इन यात्रियों को उनके गंतव्य तक पहुंचाने के लिये 44 बसों का इंतजाम किया गया था। इन बसों को पहले ही संक्रमणमुक्त कर दिया गया था। दोपहर 11 बजे सभी श्रमिकों को भोजन एंव पानी के साथ मास्क भी उपलब्ध कराये गये और बाद में इन बसों को गंतव्य की ओर रवाना किया गया। बोस ने बताया कि इस ट्रेन से उतरे यात्रियों को गोरखपुर, बस्ती, महाराजगंज, मुरादाबाद, प्रयागराज और सोनभद्र जिलों की ओर रवाना किया गया।

दूसरे राज्यों से यूपी लौट रहे कामगारों की मदद के लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सभी जिलों में वरिष्ठ आईएएस व पीसीएस अधिकारी भेजने को कहा है। यह अधिकारी वहां क्वारंटीन सेन्टर, आश्रय स्थलों तथा कम्युनिटी किचन की व्यवस्थाओं में  डीएम का सहयोग करेंगे। यह अधिकारी सम्बन्धित मण्डलायुक्त के निर्देशन में कार्य करेंगे।

उन्होंने कहा कि विभिन्न राज्यों से प्रदेश लौटने वाले प्रवासी कामगारों/श्रमिकों को क्वारंटीन सेन्टर भेजते हुए वहां उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। इसके लिए पर्याप्त संख्या में मेडिकल टीम गठित की जाएं। यह मेडिकल टीम हेल्थ चेकअप तथा स्क्रीनिंग का कार्य करें। आगरा, लखनऊ, मेरठ, कानपुर नगर, मुरादाबाद, सहारनपुर, फिरोजाबाद आदि जनपदों में विशेष निगरानी की आवश्यकता है। इन जनपदों से प्रभावी संवाद बनाकर यहां की समस्याओं का निराकरण कराया जाए।

Web Title: 2263 migrant laborers arriving in UP from Maharashtra, were checked and sent home by roadways buses
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे