गेहूं की रोटी से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें 6 आंटे की ये रोटियां, हाई ब्लड प्रेशर और क्रॉनिक हार्ट डिजीज दूर कर मजबूत करेंगे फेफड़ा, मांसपेशियां; चेहरा भी चमकेगा

By आजाद खान | Published: January 29, 2022 06:30 PM2022-01-29T18:30:46+5:302022-01-29T18:35:06+5:30

इन आटों में फाइबर, प्रोटीन, लैक्टिक एसिड, पोटेशियम और कैल्शियम का अम्बार पाया जाता है। इससे आपका बॉडी फिट रहता है।

try these ata apart from wheat ata to cure high blood pressure chronic heart disease bone strong health tips | गेहूं की रोटी से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें 6 आंटे की ये रोटियां, हाई ब्लड प्रेशर और क्रॉनिक हार्ट डिजीज दूर कर मजबूत करेंगे फेफड़ा, मांसपेशियां; चेहरा भी चमकेगा

गेहूं की रोटी से हो गए हैं बोर तो ट्राई करें 6 आंटे की ये रोटियां, हाई ब्लड प्रेशर और क्रॉनिक हार्ट डिजीज दूर कर मजबूत करेंगे फेफड़ा, मांसपेशियां; चेहरा भी चमकेगा

Next
Highlightsगेहूं के आटा के अलावा कई और आटों में पोषण वाले तत्व पाए जाते हैं। इन आटों में मैक्रो न्यूट्रिएंट्स, कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन औप फैट भारी मात्रा में पाए जाते हैं।इसके इस्तेमाल से आपको मोटापा को कम करने और शुगर को नियंत्रित करने में फायदा मिलता है।

Different Varieties of Ata: अगर आप गेहूं के आटे से बनी हुई चीजें खाना पसंद करते है तो आपको यह जानकर हैरानी होगी कि इससे भी कहीं ज्याद पौष्टिक अनाज के आटे पाएं जाते है। इन आटों को खाकर आप खुद को सेहतमंद महसूस करेंगे। आम गेहूं के आटे के मुकाबले मक्का बाजरा और अन्य अनाज की रोटियों से आपको भरपुर पोषण मिलता है। 

क्या कहना है जानकारों का (What Experts Say on Varieties of Ata)

जानकारों का कहना है कि हमारे शरीर को फाइबर एवं अन्य पोषक तत्वों का मिलना जरूरी होता है। इसके कारण ही हमारा शरीर फिट रहता है। उनके मुताबिक, मैक्रो न्यूट्रिएंट्स और माइक्रो न्यूट्रिएंट्स यानी कार्बोहाइड्रेट्स, प्रोटीन, फैट, विटामिन और मिनरल्स वाले फूड ही हमारी शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। इससे हमारा वजन कम होता और हम आपने आपको फिट रख सकते हैं। 

गेहूं के आटें के अलावा अन्य आटा (Wheat Ata)

तो ऐसे में आइए जानते हैं कि गेहूं के आटे के अलावा और कौन से आटें होते हैं जिसकी मदद से आप अपने शरीर की फिटनेस को बढ़ा सकते हैं। यह आटें की रोटियां न केवल आपको नई टेस्ट देगी बल्कि आपके सेहत को भी मेंटेन रखेगी। 

1. मक्के की रोटी से मिलेगा ढ़ेरो फाइबर (Makki Roti)

आपको बता दें कि मक्के की रोटी में ढ़ेरो फाइबर पाए जाते हैं। इससे आपका पाचनतंत्र दुरुस्त होता है और पेट संबंधी बीमारियां से छुटकारा मिलता है। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड भरपूर मात्रा में पाया जाता है जो हार्ट को स्वस्थ रखने में मदद करता है। मक्के की रोटी अपनी बेहतरीन स्वाद के लिए जानी जाती हैं और जब मक्के की रोटी और सरसो का साग की बात हो, तब बात ही अलग हो जाता है। मक्के की रोटी के इस्तेमाल से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या को भी ठीक किया जाता है। 

2.  शून्य ग्लूटन की मात्रा वाला आटा है ज्वार का आटा (Jawar Roti)

ज्वार के आटे में प्रोटीन, फाइबर और विटामिन का भंडार होता है। इसमें ग्लूटन की मात्रा शून्य होता है। ज्वार का आटा आपके वजन को जल्दी कम करता है। इससे पाचन भी ठीक रहता है और संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है। 

3. दिल की बीमारियों को दूर करता है जौ की रोटी (Jau Roti)

डॉक्टरों का कहना है कि जौ की रोटी में पोषक तत्वों होते हैं जो आपको फिट रखने में आपकी मदद करता है। इसमें फाइबर, प्रोटीन, लैक्टिक एसिड, सैलिसिलिक एसिड, फॉसफोरिक एसिड, पोटेशियम और कैल्शियम का अम्बार होता है जो दिल की बीमारियों से लड़ने में काफी मददगार साबित होता है। इससे चेहरे की रंगत को भी बढ़ने में फायदा मिलता है।

4. ऊर्जावान बनाए रखने वाला है रागी का आटा (Ragi Roti)

न्यूट्रिशनिस्ट के मुताबिक, रागी के आटे में फाइबर और अमीनो एसिड पाया जाता है जिससे आपका पेट लंबे समय तक भरा महसूस होता है। इससे आपको मोटापा से निजात मिलता है और ऊर्जावान बनाने में मददगार साबित होता है। यह क्रॉनिक हार्ट डिजीज से भी बचाता है।

5. चने की रोटी फेफड़ों को करता है मजबूत (Gram Roti)

मेहनत का काम करने वालों के लिए चने की रोटी काफी गुणकारी साबित होता है। अगर आप अंकुरित चना या भुना हुए चना इस्तेमाल नहीं कर पाते हैं तो ऐसे में आप हर रोज चने की रोटी का सेवन करें। इससे आपको भरपूर प्रोटीन मिलेगा जिससे आपके शरीर की मांसपेशियों मजबूत होगी। यह आपके फेफड़ों को भी ताकत देता है। 

6. प्रतिरोधक क्षमता के भरा होता है मल्टीग्रेन आटा (Multigrain Roti)

मल्टीग्रेन आटा प्रतिरोधक क्षमता के भरा होता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो गेहूं के आटे की तुलना में इसका ग्लाइसेमिक इंडेक्स अधिक होने के कारण यह शुगर को नियंत्रित करता है। इसलिए वे उसे इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं। 

(Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं। Lokmat Hindi News इनकी पुष्टि नहीं करता है। इन पर अमल करने से पहले या इसके बारे में अधिक जानकारी लेने के लिए डॉक्टरों से जरूर संपर्क करें।)

Web Title: try these ata apart from wheat ata to cure high blood pressure chronic heart disease bone strong health tips

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे