Two girls die in suspicious condition in Asra home of Bihar two arrested | बिहार: 'आसरा होम' में 2 लड़कियों की मौत के मामले में संचालक समेत 2 गिरफ्तार
बिहार: 'आसरा होम' में 2 लड़कियों की मौत के मामले में संचालक समेत 2 गिरफ्तार

नई दिल्ली, 13 अगस्त: पटना शहर के राजीवनगर थाना अंतर्गत नेपाली नगर में संचालित एक आश्रय गृह में एक लड़की सहित दो महिलाओं की संदिग्ध मौत होने का मामला प्रकाश में आने पर समाज कल्याण विभाग सहित जिला प्रशासन के इसकी जांच शुरू कर दी है। पुलिस इस मामले में आश्रय गृह संचालक और कोषाध्यक्ष को गिरफ्तार करके उनसे पूछताछ कर रही है। पटना प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक नैय्यर हसनैन खान ने बताया कि इस मामले में उक्त आश्रय गृह के संचालक चिरंतन कुमार और उसे संचालित करने वाली स्वयं सेवी संस्था :एनजीओ: की कोषाध्यक्ष मनीषा को गिरफ्तार करके उनसे पूछताछ की जा रही है।

इससे पहले समाज कल्याण विभाग के निदेशक राजकुमार ने बताया था कि गत 10 अगस्त की शाम में उक्त आश्रय गृह में रह रही दो महिलाओं (उम्र 17 और 40 साल) की तबीयत अचानक खराब (एक को डायरिया और दूसरे को बुखार) होने पर अतिरिक्त निदेशक, बाल संरक्षण कामत ने उन्हें इलाज के लिए पटना मेडिकल कालेज भेजा था। पटना मेडिकल कालेज अस्पताल के अधीक्षक राजीव रंजन प्रसाद के उक्त कथन पर कि उन महिलाओं को अस्पताल मृत लाया गया था, राजकुमार ने कहा कि इसकी पटना के जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तथा विभाग के दो अतिरिक्त निदेशक, बाल संरक्षण राकेश और विनोद द्वारा जांच की जा रही है ।

उन्होंने बताया कि उन लड़कियों को अस्पताल ले जाने वाले वाहन चालक ने उन्हें पीएमसीएच जीवित अवस्था में ले जाने की बात बतायी है। राजकुमार ने बताया कि दोनों शवों का पोस्टमार्टम कल किया गया था उनमें एक लड़की जिसकी उम्र 17 साल थी उसका अंतिम संस्कार अतिरिक्त निदेशक, बाल संरक्षण कामत और उक्त आश्रय गृह को संचालित करने वाली संस्था अनुमाया द्वारा कर दिया गया था जबकि दूसरी के धर्म के बारे में पता नहीं होने के कारण उसका अभी तक अंतिम संस्कार नहीं किया जा सका है।

उन्होंने बताया कि जांच के अनुसार रिपोर्ट प्राप्त होने पर दोषी के खिलाफ कार्रवाई होगी। पटना प्रक्षेत्र के पुलिस महानिरीक्षक नैय्यर हसनैन खान ने बताया कि इस मामले में पटना के जिलाधिकारी कुमार रवि और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मनु महाराज द्वारा उक्त आश्रय गृह जाकर जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि शुरूआती जांच में आश्रय गृह में रहने के दौरान दोनों महिलाओं के इलाज में लापरवाही बरते जाने की बात सामने आ रही है और यदि यह सिद्ध होता है तो वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक से कहा है कि वहां रह रही लड़कियों और महिलाओं की देखभाल के लिए जिम्मेवार लोगों के खिलाफ कार्रवाई करें।

खान ने बताया कि जिस महिला का अभी तक अंतिम संस्कार नहीं किया गया है उसके शव का पोस्टमार्टम फिर से मेडिकल बोर्ड द्वारा कराये जाने का निर्देश दिया गया है। उन्होंने कहा कि उक्त आश्रय गृह से जुडे़ लोगों ने दोनों महिलाओं की मौत होने की सूचना न तो राजीवनगर थाने और न ही पीएमसीएच के करीब के थाना पीरबहोर को दी तथा दोनों शवों का कल पोस्टमार्टम कराकर उसमें से एक का आनन फानन में अंतिम संस्कार भी कर दिया। खान ने कहा कि वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को यह भी जांच करने को कहा गया है कि आश्रय गृह के संचालन के लिए जिम्मेदार लोगों ने पुलिस को दोनों की मौत की इत्तला क्यों नहीं दी और इसे पुलिस से क्यों छुपाया तथा पोस्टमार्टम कराकर उसमें से एक का आनन फानन में अंतिम संस्कार क्यों कर दिया।

उल्लेखनीय है कि गत 10 अगस्त को ही उक्त आश्रय गृह से तीन लड़कियां फरार हो गयी जबकि फरार होने की कोशिश कर रही एक अन्य लडकी की शिकायत पर आश्रय गृह के पड़ोस में रह रहे बनारसी नाम के एक व्यक्ति को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। उक्त लड़की ने उस व्यक्ति पर छेड़छाड़ करने तथा प्रलोभन देकर भगाने की कोशिश करने का आरोप लगाया था। राजकुमार ने बताया कि बिहार में इस तरह के तीन आश्रय गृह हैं जहां मानसिक तौर पर बीमार लड़कियों और महिलाओं को रखा जाता है।

हिंदी खबरों और देश-दुनिया की ताजा खबरों के लिए यहां क्लिक करें। हमारा यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें। हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें!


Web Title: Two girls die in suspicious condition in Asra home of Bihar two arrested
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे