Munna Bajrangi Murder case: Sunil Rathi danced infront of UP mafia don corpse | मुन्ना बजरंगी की लाश सामने रखकर सुनील राठी ने जमकर पी दारू, खूब नाचता और बदलता रहा कपड़े

लखनऊ, 14 जुलाईः उत्तर प्रदेश के बागपत जिले के जेल में माफिया मुन्ना बजरंगी की हत्या का सीन पूरी तरह फिल्मी था। मामले में स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) को मिल रहे सबूत और जांच-पड़ताल में कई चौंकाने वाली जानकारियां सामने आ रही हैं। जानकारी के मुताबिक मुन्ना बजरंगी को बागपत जेल में 9 जुलाई तड़के सुबह गोली मारी गई थी। इसकी जानकारी बाहर करीब साढ़े आठ बजे तक आई। इसके पहले जेल के अंदर फिल्मी और घ‌िनौना खेल चलता रहा।

एसटीएफ से मिली जानकारी के बाद मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद उसकी लाश को सामने रखकर सुनील राठी ने जमकर डांस किया। मुन्ना की मौत हो जाने के बाद भी सुनील उसे गोलियां मारता रहा। मौका-ए-वारदात से पुलिस को गोलियों के 10 खोखे मिले हैं। जबकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में भी मौत के बाद मुन्ना को गाली मारे जाने की बात की पुष्टि हुई थी।

लेकिन एसटीएफ ने इसका खुलासा किया है कि मुन्ना की हत्या के बाद जिस पिस्टल से गोलियां दागी थी उसे गटर में डाल दिया गया था। जब पिस्टल की तलाश की गई तो पता चला गटर से पिस्टल के साथ शराब की कई बोतलें भी बरामद हुईं। यही नहीं उस सुबह सुनील राठी के कई बार नहाने और कपड़े बदलने की बात का भी खुलासा हो रहा है।

पूरे मामले को जोड़कर ऐसा बताया जा रहा है कि मुन्ना बजरंगी की हत्या के बाद सुनील राठी ने उसकी लाश सामने रखकर जमकर दारू पी और उसके बाद डांस करता रहा। बीच-बीच में उसे गोलियां मारता और अपने गंदे कपड़े बदलता।

कुछ सालों पहले आई फिल्म गैंग्स ऑफ वासेपुर का क्लाइमेक्स दृश्य कमोबेश ऐसा ही था, जिसमें रामाधीर सिंह की हत्या के बाद भी फैजल खान उसके शरीर में गोलियां दागता रहता है।

बजरंगी का हत्यारोपी राठी फतेहगढ़ जेल स्थानांतरित

कुख्यात गैंगस्टर मुन्ना बजरंगी की हत्या का आरोपी सुनील राठी बागपत की जेल से फतेहगढ के केन्द्रीय कारागार स्थानांतरित कर दिया गया है। पुलिस उप महानिरीक्षक (कानून व्यवस्था) प्रवीण कुमार ने 'भाषा' से कहा, 'इस संबंध में शासनादेश मिल गया है और उसका अनुपालन सुनिश्चित किया जा रहा है ।' 

BJP विधायक ने कहा- ईश्वरीय शक्ति ने मुन्ना बजरंगी की करवाई हत्या, अब तक दे चुके ये विवादित बयान

संयुक्त सचिव सूर्य प्रताप सिंह सेंगर की ओर से महानिरीक्षक :कारागार प्रशासन एवं सुधार सेवाएं: को भेजे पत्र में निर्देश दिया गया कि जिला कारागार बागपत में बंद विचाराधीन सुनील राठी को प्रशासनिक आधार पर केन्द्रीय कारागार फतेहगढ में स्थानांतरित करने की स्वीकृति प्रदान की जाती है।

इस वजह से हुई मुन्ना बजरंगी की हत्या, पूर्वांचल के सफेदपोश ने दी थी 10 करोड़ की सुपारी

कुमार ने बताया कि बजरंगी की बागपत जेल में हत्या के बाद कारागार प्रशासन चौकस है और ये कदम इसलिए उठाया गया है ताकि कोई कोताही ना होने पाये। उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों बजरंगी की जेल में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी। इस मामले में सुनील राठी पर प्राथमिकी दर्ज हुर्इ थी । बजरंगी की पत्नी ने पति की हत्या की आशंका पूर्व में ही व्यक्त की थी।

(भाषा से इनपुट)