World Cup 2011 snub was the turning point in Rohit Sharma's career, says childhood coach | रोहित शर्मा ने इस घटना के बाद दिया था क्रिकेट पर ध्यान, बचपन के कोच ने किया खुलासा
रोहित शर्मा ने इस घटना के बाद दिया था क्रिकेट पर ध्यान, बचपन के कोच ने किया खुलासा

Highlightsरोहित शर्मा के बचपन के कोच दिनेश लाड ने उनके करियर के बारे में बड़ा खुलासा किया है।रोहित वर्ल्ड कप में दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के खिलाफ दो शतकीय पारी खेल चुके है।

मुंबई, 19 जून। रोहित शर्मा के बचपन के कोच दिनेश लाड ने बुधवार को कहा कि इस बल्लेबाज ने 2011 विश्व कप की टीम में जगह नहीं मिलने के बाद अपने खेल पर ज्यादा ध्यान देना शुरू किया, जिससे उनका अंतरराष्ट्रीय करियर परवान चढ़ा। मौजूदा आईसीसी विश्व कप में रोहित दक्षिण अफ्रीका और पाकिस्तान के खिलाफ दो शतकीय पारी खेल चुके है। दोनों मैचों में भारतीय टीम को बड़ी जीत मिली।

लाड ने पीटीआई से कहा, ‘‘मैंने उसे बचपन से ही बल्लेबाजी करते हुए देखा है उसमें काई बदलाव नहीं आया है। उसमें सिर्फ यह बदलाव आया है कि अनुभव के साथ वह ज्यादा परिपक्व हो गया है।’’ लाड ने कहा, ‘‘ रोहित ने 2007 से 2009 तक अच्छा खेल दिखाया और जिम्बाब्वे के खिलाफ दो शतक भी लगाए, लेकिन इसके बाद 2009 से 2011 तक शोहरत और अधिक पैसे के कारण उसका ध्यान भटक गया जिससे उसने खेल पर ध्यान देना कम कर दिया। इसी कारण वह 2011 विश्व कप की टीम में जगह नहीं बना सका।’’

लाड ने कहा, ‘‘उसके लिए यह काफी चौंकाने वाला था। मैंने उसे अपने घर बुलाया और कहा कि आप अभी जहां है वह सिर्फ क्रिकेट की वजह से है लेकिन अब आपका ध्यान क्रिकेट पर नहीं है, इसलिए मैं आपसे अभ्यास करने का निवेदन कर रहा हूं।’’

उन्होंने बताया, ‘‘ मैंने रोहित से कहा कि विराट कोहली आपके बाद आए और उन्होंने विश्व कप की टीम में जगह बना ली। अंतर देखों, अब आपको अपने खेल पर ध्यान देना होगा।’’ लाड ने कहा, ‘‘इसके बाद रोहित ने अपने खेल पर गंभीरता से ध्यान देना शुरू किया जो उसके करियर के लिए काफी अहम साबित हुआ।’’

Web Title: World Cup 2011 snub was the turning point in Rohit Sharma's career, says childhood coach
क्रिकेट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे