हार्दिक ने की रोहित-द्रविड़ की तारीफ, क्या इशारों में कोहली-शास्त्री पर साधा निशाना?

वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टी20 मैच में जीत के बाद हार्दिक पंड्या ने कप्तान रोहित और कोच राहुल द्रविड़ की जमकर तारीफ की। हार्दिक ने कहा कि हम उन सब प्रक्रियाओं को पीछे छोड़ रहे हैं जो पिछले पांच-छह साल से कर रहे थे। हालांकि इससे यह सवाल भी खड़ा होता है कि क्या कोहली और शास्त्री के कार्यकाल में सब कुछ सही नहीं था?

By शिवेंद्र राय | Published: August 3, 2022 02:51 PM2022-08-03T14:51:19+5:302022-08-03T14:53:04+5:30

Hardik praised Rohit-Dravid did target Kohli-Shastri? | हार्दिक ने की रोहित-द्रविड़ की तारीफ, क्या इशारों में कोहली-शास्त्री पर साधा निशाना?

हार्दिक पंड्या और रोहित शर्मा

Next
Highlightsहार्दिक ने कोच-कप्तान की जमकर सराहना कीकहा, खिलाड़ियों को पूरी आजादी देते हैं रोहितपिछले पांच-छह साल से अपनाई जा रही प्रक्रियाओं को पीछे छोड़ रहे हैं- हार्दिक

नई दिल्ली: टीम इंडिया के स्टार ऑलराउंडर हार्दिक पंड्या ने खिलाड़ियों को ज्यादा स्वतंत्रता देने के लिए कप्तान रोहित शर्मा और कोच राहुल द्रविड़ की जमकर तारीफ की है। हार्दिक ने कहा कि राहुल द्रविड़ और रोहित शर्मा ने खिलाड़ियों के लिए स्वतंत्रता और सुरक्षा सुनिश्चित की है साथ ही टीम में संवाद का बेहतर माहौल भी बनाया है। हार्दिक ने कहा कि रोहित और राहुल की अगुवाई में टीम उस प्रक्रिया से दूर जा रही है जो पिछले पांच-छह वर्षों से अपनाई गई थी। हार्दिक ने वेस्टइंडीज के खिलाफ तीसरे टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच के बाद कहा, "रोहित शर्मा आपको काफी लचीलापन और आजादी देते हैं जो उनकी कप्तानी की ताकत है।"

हालांकि हार्दिक के इस बयान के बाद कि 'टीम उस प्रक्रिया से दूर जा रही है जो पिछले पांच-छह वर्षों से अपनाई गई थी', ये कयास भी लगाए जा सकते हैं कि क्या कोहली की कप्तानी और रवि शास्त्री की कोचिंग के दौरान टीम में खिलाड़ियों को कम आजादी थी? या क्या कोहली और शास्त्री के कार्यकाल में खिलाड़ियों के बीच संवाद कम था?

आईपीएल 2022 से ही शानदार फार्म में चल रहे हार्दिक पंड्या को वेस्टइंडीज के खिलाफ हो रही टी20 सीरीज में उपकप्तान भी बनाया गया है। मैदान पर हार्दिक लगातार सक्रिय देखे जाते हैं और क्षेत्ररक्षण के दौरान गेंदबाजों से बात करते रहते हैं। बातचीत में ऑलराउंडर हार्दिक ने यह भी खुलासा किया कि तीसरे मैच से पहले टीम ने बातचीत की थी कि क्या उन्हें आक्रामक दृष्टिकोण के साथ खेलना जारी रखना चाहिए या वार्नर पार्क में धीमी सतह को देखते हुए अपना तरीका बदलना चाहिए। हार्दिक ने बताया कि कप्तान रोहित कुछ ऐसा जारी नहीं रखना चाहता जो पिछले पांच-छह साल से किया जा रहा था।

हार्दिक ने आगे कहा कि टीम के नजरिये में परिवर्तन का श्रेय रोहित और कोच राहुल द्रविड़ को जाता है। उन्होंने खिलाड़ियों को बिना परिणाम के बारे में सोचे अपनी शैली में खलने की स्वतंत्रता दी है। हार्दिक ने कहा कि हम गलतियां कर रहे हैं लेकिन सीख भी रहे हैं। हम उन चीजों से दूर जा रहे हैं जो हमने पिछले पांच-छह सालों में किया है। हार्दिक ने कहा कि टीम अपने पास उपलब्ध सभी विकल्पों को आजमाना चाहती है ताकि हमें पता हो कि विश्वकप में कैसे खेलना है।

Open in app