विराट कोहली संग अच्छा व्यवहार नहीं करने पर बोला बोर्ड- उन्होंने कहा मुझे नहीं करनी कप्तानी

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान विराट कोहली लगातार अपने खराब फॉर्म को लेकर चर्चा का विषय बने हुए हैं। इस बीच बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल का बोर्ड की ओर से कोहली को साइडलाइन करने वाले मुद्दे पर बयान सामने आया है।

By मनाली रस्तोगी | Published: August 4, 2022 02:15 PM2022-08-04T14:15:02+5:302022-08-04T14:16:09+5:30

BCCI on Kohli not treated well Virat said I do not want to captain | विराट कोहली संग अच्छा व्यवहार नहीं करने पर बोला बोर्ड- उन्होंने कहा मुझे नहीं करनी कप्तानी

विराट कोहली संग अच्छा व्यवहार नहीं करने पर बोला बोर्ड- उन्होंने कहा मुझे नहीं करनी कप्तानी

Next
Highlightsविराट कोहली को कैप्टेंसी छोड़े हुए सात महीने हो चुके हैं।कप्तान के पद से हटने के बाद से कोहली फॉर्म के लिए संघर्ष कर रहे हैं।बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल का कहना है कि विराट महान हैं और भारतीय क्रिकेट में उनका योगदान अद्वितीय है।

नई दिल्ली: विराट कोहली को तीनों प्रारूपों से भारत के कप्तान के रूप में पद छोड़े हुए सात महीने हो चुके हैं लेकिन यह विषय अभी भी सुर्खियों में है। कप्तान के पद से हटने के बाद से कोहली फॉर्म के लिए संघर्ष कर रहे हैं। इस बीच भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) द्वारा कोहली के साथ अच्छा व्यवहार नहीं करने पर प्रतिक्रिया दी गई है। 

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल का कहना है, "जहां तक ​​विराट की बात है तो वह कोई साधारण खिलाड़ी नहीं हैं। वह महान हैं और भारतीय क्रिकेट में उनका योगदान अद्वितीय है। यह आउटस्टैंडिंग है। इसलिए इस तरह की बातचीत (बोर्ड कोहली को साइडलाइन करने की कोशिश कर रहा है) मीडिया में होती रहती है और इससे हम प्रभावित नहीं होते हैं। हम चाहते हैं कि वह जल्द फॉर्म में लौट आएं और जहां तक ​​टीम चयन का सवाल है तो हम चयनकर्ताओं पर छोड़ देते हैं। यह उनका फैसला है कि वे इसके बारे में कैसे जाना चाहते हैं।"

धूमल ने अनुभवी खेल पत्रकार विमल कुमार को यूट्यूब चैनल पर बताया, "जहां तक ​​कप्तानी के मुद्दे की बात है तो यह उनका कॉल था। उन्होंने फैसला किया कि मैं कप्तानी नहीं करना चाहता। हो सकता है कि किसी को विश्व कप के बाद ऐसा करना सबसे अच्छा लगे लेकिन यह उनका नजरिया है। लेकिन वह पद छोड़ना चाहते थे और यह विशुद्ध रूप से उनका निर्णय था। और हमने इसका सम्मान किया। देखिए उन्होंने भारतीय क्रिकेट में इतना योगदान दिया है कि क्रिकेट बोर्ड में हर कोई उनका सम्मान करता है। हम विराट को मैदान पर एक्शन में देखना चाहेंगे।"

Open in app