अमेरिका में 22,000 और भारतीय स्टार्टअप्स में हजारों कर्मचारियों की हुई छंटनी, जानिए कारण

By मनाली रस्तोगी | Published: July 4, 2022 12:07 PM2022-07-04T12:07:42+5:302022-07-04T13:08:51+5:30

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय स्टार्टअप सेक्टर में 60,000 से अधिक नौकरियों का नुकसान हो सकता है, जोकि फंडिंग विंटर्स के माध्यम से नेविगेट करने के लिए है। इंडस्ट्री के विशेषज्ञों का हवाला देते हुए रिपोर्ट बताती है कि 2022 में पुनर्गठन और लागत में कटौती के नाम पर कम से कम 50,000 स्टार्टअप कर्मचारियों को निकाल दिए जाने की संभावना है, जबकि कुछ स्टार्टअप को लाखों की धनराशि प्राप्त होती रहती है। 

According to the report thousands of techies lose jobs in US nearly 12000 in Indian startups | अमेरिका में 22,000 और भारतीय स्टार्टअप्स में हजारों कर्मचारियों की हुई छंटनी, जानिए कारण

अमेरिका में 22,000 और भारतीय स्टार्टअप्स में हजारों कर्मचारियों की हुई छंटनी, जानिए कारण

Next
Highlightsस्टार्टअप्स को कथित तौर पर फंडरेजिंग में अधिक मुश्किल हो रही है क्योंकि उनके मूल्यांकन ने निराशाजनक माहौल में गिरावट शुरू कर दी है।ब्लिंकइट, बायजूस, फारआई और ट्रेल जैसी कंपनियां उन स्टार्टअप में से हैं, जिन्होंने इस साल कई कर्मचारियों को बाहर का दरवाजा दिखाया।

नई दिल्ली: टेक और स्टार्टअप सेक्टर में लगभग 22,000 कर्मचारियों के साथ-साथ भारतीय स्टार्टअप इकोसिस्टम में 12,000 से अधिक कर्मचारियों ने इस साल नौकरी खो दी। क्रंचबेस की रिपोर्ट में यह बात सामने आई है। इन कर्मचारियों की छंटनी इसलिए हुई क्योंकि महामारी से लाभान्वित होने वाली कंपनियां आर्थिक मंदी के बीच दबाव महसूस कर रही हैं। 

स्टार्टअप्स को कथित तौर पर फंडरेजिंग में अधिक मुश्किल हो रही है क्योंकि उनके मूल्यांकन ने निराशाजनक माहौल में गिरावट शुरू कर दी है। ओला, अनएकेडमी, वेदांतु, कार्स24 और मोबाइल प्रीमियर लीग (एमपीएल) जैसे कई स्टार्टअप्स ने पुनर्गठन और लागत में कटौती के नाम पर कर्मचारियों की छंटनी की है। ब्लिंकइट, बायजूस, फारआई और ट्रेल जैसी कंपनियां अन्य स्टार्टअप उपक्रमों में से हैं, जिन्होंने इस साल कई कर्मचारियों को बाहर का दरवाजा दिखाया है। 

रिपोर्ट के अनुसार, भारतीय स्टार्टअप सेक्टर में 60,000 से अधिक नौकरियों का नुकसान हो सकता है, जोकि फंडिंग विंटर्स के माध्यम से नेविगेट करने के लिए है। इंडस्ट्री के विशेषज्ञों का हवाला देते हुए रिपोर्ट बताती है कि 2022 में पुनर्गठन और लागत में कटौती के नाम पर कम से कम 50,000 स्टार्टअप कर्मचारियों को निकाल दिए जाने की संभावना है, जबकि कुछ स्टार्टअप को लाखों की धनराशि प्राप्त होती रहती है। 

नेटफ्लिक्स जैसी वैश्विक कंपनियां, वित्तीय सेवा कंपनी रॉबिनहुड और कई क्रिप्टो प्लेटफॉर्म ने अपने कर्मचारियों की संख्या में कटौती की है। ये कंपनियां आर्थिक बाधाओं से पीड़ित हैं। ब्लूमबर्ग की रिपोर्ट के अनुसार, यूएस-आधारित वेंचर कैपिटल फर्म सैफायर वेंचर्स के एक पार्टनर ने कहा कि निवेशकों को अगली कुछ तिमाहियों में स्टार्टअप के माध्यम से फिल्टर करना शुरू करने के लिए शेयर बाजार में ऐतिहासिक गिरावट के लिए तैयार रहना चाहिए। 

Web Title: According to the report thousands of techies lose jobs in US nearly 12000 in Indian startups

कारोबार से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे