Pakistan witnessed increase in donkey population by one lakh this year | पाकिस्तान में गधों की संख्या में एक लाख का इजाफा, हासिल करने के लिए चीन इसलिए रहता है बेकरार
फाइल फोटो

Highlightsपाकिस्तान में गधों की संख्या लगातार बढ़ रही है। 2020-21 में एक लाख का इजाफा हुआ है। पाकिस्तान में कुल गधां की संख्या 56 लाख तक पहुंच गई है। चीन को निर्यात किए जाने वाले गधों का इस्तेमाल पारंपरिक दवाएं बनाने में किया जाता है।

पाकिस्तान में गधों की संख्या लगातार बढ़ रही है। वित्तीय वर्ष 2020-21 में गधों की संख्या में एक लाख का इजाफा हुआ है। जिसके बाद पाकिस्तान में कुल गधों की संख्या 56 लाख तक पहुंच गई है। यह जानकारी पाकिस्तान के आर्थिक सर्वेक्षण में दी गई है। 

गुरुवार को पाकिस्तान के वित्त मंत्री शौकत तारिन ने आर्थिक सर्वेक्षण 2020-21 को पेश किया। जिसके मुताबिक पाकिस्तान में एक साल के दौरान घोड़ों और खच्चरों की संख्या में वृद्धि स्थिर रही है। हालांकि पाकिस्तानी गधों की संख्या में इजाफा देखा गया है। 

चीन को निर्यात किए जाते हैं गधे

दरअसल पाकिस्तान हर साल चीन को बड़ी संख्या में गधों का निर्यात करता है। जहां पर गधों की खाल का इस्तेमाल दवा बनाने में किया जाता है। सर्वेक्षण के मुताबिक, पाकिस्तान में भैंस, घोड़े, बकरी, भेड़ और ऊंट सहित अन्य मवेशियों की संख्या में 57 लाख का इजाफा हुआ है। 

पारंपरिक दवाओं में इस्तेमाल

चीन में पाकिस्तान के गधों की खूब मांग है। इससे पाकिस्तान को काफी कमाई होती है। पारंपरिक चीनी दवाओं में गधों की खाल का काफी इस्तेमाल किया जाता है। रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाली पारंपरिक चीनी दवाओं में गधों की खाल का इस्तेमाल किया जाता है। 

गधों के लुप्त होने का खतरा

गधों के मामले में दुनिया में पाकिस्तान का तीसरा नंबर है, वहीं चीन में गधों की संख्या सर्वाधिक है। बावजूद इसके चीन में गधों की प्रजाति के लुप्त होने का खतरा भी मंडराने लगा है। विशेषज्ञों का मानना है कि चीन में गधों की मांग बहुत ज्यादा है।  

Web Title: Pakistan witnessed increase in donkey population by one lakh this year

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे