व्हिस्की पीने से कोरोना नहीं होता है- दावा करने वाला थाइलैंड का बौद्ध भिक्षु हुआ गिरफ्तार, शराब पीकर भीख मांगने और स्पीड में गाड़ी चलाने का भी लगा आरोप

By आजाद खान | Published: July 23, 2022 03:02 PM2022-07-23T15:02:07+5:302022-07-23T15:14:44+5:30

उस बौद्ध भिक्षु पर नशे करके भीड़भाड़ वाले बाजार में भीख मांगने और तेजी से गाड़ी चलाने का भी आरोप लगा है। फिलहाल वह थाने में है और पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।

Drinking whiskey does not cause covid19 Thailand Buddhist monk Phra Thanakorn arrested also accused begging driving speed | व्हिस्की पीने से कोरोना नहीं होता है- दावा करने वाला थाइलैंड का बौद्ध भिक्षु हुआ गिरफ्तार, शराब पीकर भीख मांगने और स्पीड में गाड़ी चलाने का भी लगा आरोप

व्हिस्की पीने से कोरोना नहीं होता है- दावा करने वाला थाइलैंड का बौद्ध भिक्षु हुआ गिरफ्तार, शराब पीकर भीख मांगने और स्पीड में गाड़ी चलाने का भी लगा आरोप

Next
Highlightsएक बौद्ध भिक्षु के नशे में धुत होकर बाजार में भीख मांगने का मामला सामने आया है। उसने माना था कि उसने नशा किया है और उसका यह भी दावा है कि व्हिस्की पीने से कोविड -19 नहीं होता है। उसकी हालत ठीक नहीं थी इस कारण पुलिस ने उसे मुआंग लोएज पुलिस स्टेशन ले गई है।

Thailand Drunk Monk Arrest:थाईलैंड में एक बौद्ध भिक्षु ने नशे की हालत में यह दावा किया है कि व्हिस्की कोविड -19 को रोकने में कारगर है। यही नहीं इस बौद्ध भिक्षु पर नशे की हालत में लोगों से भीख मांगने और भीड़ वाले बाजार में तेजी से गाड़ी चलाने का भी आरोप लगा है। 

पुलिस ने इस बौद्ध भिक्षु को गिरफ्तार कर लिया है और उसे थाने ले गई है। पुलिस द्वारा पूछे जाने पर बौद्ध भिक्षु ने नशा करने की बात को कबूला है। 

क्या है पूरा मामला

'डेली स्टार' की रिपोर्ट के मुताबिक, थाईलैंड पुलिस को जानकारी मिली थी कि 63 साल के एक बौद्ध भिक्षु ने थाईलैंड के मुआंग लोएज जिले के एक स्थानीय भीड़ वाले बाजार में काफी तेजी से गाड़ी चला रहा है जिससे कोई दुर्घटना भी हो सकता है। 

पुलिस जब मौके पर पहुंची को पिकअप ट्रक बाजार में खड़ा मिला और बौद्ध भिक्षु वहां नहीं था। कुछ देर बाद जब बौद्ध भिक्षु वहां आया तो पुलिस ने उससे पूछताछ की तो वह उस समय सही से कुछ बोल नहीं पाया था। 

पुलिस को बौद्ध भिक्षु के गाड़ी पर बौद्ध मंदिर का नाम छपा मिला था जिससे यह पता चला कि यह गाड़ी किसी बौद्ध मंदिर का है। आरोपी बौद्ध भिक्षु से जब पुलिस ने उसकी पहचान पूछी तो वह कुछ भी बता नहीं सका था। 

नशे में बौद्ध भिक्षु ने पुलिस से बनाया बहाना

मामले में पुलिस ने जब उससे और जानकारी लेनी चाही तो उसने बताया कि उसके गाड़ी के ड्राइवर का एक्सीडेंट हो गया था इसलिए उस गाड़ी चलानी पड़ रही है।

बौद्ध भिक्षु ने पुलिस को बताया कि वह और उसके साथ कुछ और साधु ने जब सुबह मंदिर से बाजार के लिए निकले थे तो उनके साछ यह एक्सीडेंट हो गया था। ऐसे में उसे ही गाड़ी चलाना पड़ा था। 

कोरोना से बचाव के लिए पिया व्हिस्की 

इस पर आगे बोलते हुए बौद्ध भिक्षु ने पुलिस को बताया कि उसने नींबू के साथ व्हिस्की के दो शॉट लिए है। उसने ऐसा इसलिए किया है क्योंकि व्हिस्की कोविड -19 को रोकने में मदद करता है।

पुलिस के सामने भिक्षु ने यह माना कि वह नशे में है और इसके बाद पुलिस ने उसे मुआंग लोएज पुलिस स्टेशन ले गई। 
 

Web Title: Drinking whiskey does not cause covid19 Thailand Buddhist monk Phra Thanakorn arrested also accused begging driving speed

ज़रा हटके से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे