mayawati akhilesh Yadav big election promotion plan after SP-BSP alliance | गठबंधन के बाद मायावती और अखिलेश का 2019 चुनाव के लिए ये है बड़ा प्लान
गठबंधन के बाद मायावती और अखिलेश का 2019 चुनाव के लिए ये है बड़ा प्लान

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) आगामी लोकसभा चुनाव 2019 में उत्तर प्रदेश की कुल 80 लोकसभा सीटों में से 38-38 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारेंगी। इन दोनों पार्टियों ने राज्य की दो सीटें छोटी पार्टियों के लिए छोडी हैं जबकि अमेठी और रायबरेली की दो सीटें कांग्रेस पार्टी के लिए छोड़ने का फैसला किया है। 

गठबंधन के बाद ये भी खबर आ रही है कि चुनाव प्रचार को लेकर भी दोनों पार्टियों के पास बड़ा प्लान है। गठबंधन के बाद मायावती और अखिलेश यादव ने चुनाव प्रचार को लेकर बड़ा प्लान किया है। एबीपी न्यूज चैनेल के मुताबिक, मायावती और अखिलेश यादव एक साथ यानी साझा 18 रैलियां  कर सकते हैं। 15 को मायावती के जन्मदिन के बाद दोनों पार्टियां इसको अंतिम रूप देने पर फिर से विचार करेंगी। ये पहली बार होगा जब मायावती और अखिलेश चुनाव प्रचार के लिए एक मंच पर दिखाई देंगे।

‘गुरू-चेला’’ (नरेंद्र मोदी और अमित शाह) की नींद उड़ जाएगी

बसपा सुप्रीमो मायावती और सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शनिवार को यहां एक होटल में आयोजित संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में यह घोषणा की।
मायावती ने बसपा-सपा गठबंधन को ‘‘नई राजनीतिक क्रांति का आगाज’’ करार देते हुए कहा कि इस गठबंधन से ‘‘गुरू-चेला’’ (नरेंद्र मोदी और अमित शाह) की नींद उड़ जाएगी।

उन्होंने कहा, ‘‘नए वर्ष में यह एक प्रकार की नई राजनीतिक क्रांति की शुरुआत है। इस गठबंधन से समाज की बहुत उम्मीदें जग गई हैं। यह सिर्फ दो पार्टियों का मेल नहीं है बल्कि सर्वसमाज (दलित, पिछड़ा, मुस्लिम, आदिवासी, गरीबों, किसानों और नौजवानों) का मेल है। यह सामाजिक परिवर्तन का बड़ा आंदोलन बन सकता है।’’


 यह पूछे जाने पर कि यह गठबंधन कितना लंबा चलेगा, इस पर मायावती ने कहा कि गठबंधन ‘‘स्थायी’’ है। यह सिर्फ लोकसभा चुनाव तक नहीं बल्कि उत्तर प्रदेश के आगामी विधानसभा चुनाव में भी चलेगा और उसके बाद भी चलेगा।

राहुल गांधी ने गठबंधन पर क्या कहा?

लोकसभा चुनाव के लिए उत्तर प्रदेश में सपा और बसपा द्वारा शनिवार को कांग्रेस को साथ लिये बगैर ही आपस में गठजोड़ करने की घोषणा करने के कुछ घंटे बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने कहा कि उनकी पार्टी ‘पूरी क्षमता’ के साथ राज्य में चुनाव लड़ेगी और अपनी विचारधारा पर अडिग रहेगी।

गांधी ने यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि उनके मन में इन दोनों दलों के नेताओं के प्रति ‘बड़ा सम्मान’ है और ‘वे जो भी चाहें, उन्हें वह करने का हक है।’ 

उन्होंने कहा, ‘‘बसपा और सपा को गठबंधन करने का पूरा हक है। मैं सोचता हूं कि कांग्रेस पार्टी के पास उत्तर प्रदेश के लोगों को पेशकश करने के लिए काफी कुछ है, इसलिए हम कांग्रेस पार्टी के तौर पर यथासंभव प्रयास करेंगे। हम अपनी विचारधारा के प्रसार के लिए पूरी क्षमता के साथ लड़ेंगे।’’ 
...........


Web Title: mayawati akhilesh Yadav big election promotion plan after SP-BSP alliance
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे