Highlightsव्हाइट हाउस ने कहा, राष्ट्रपति डोनाल्ड जे. ट्रंप भारत के साथ हमारे रणनीतिक संबंध गहरे कर रहे हैं.व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक व्यापार समझौते की दिशा में काम कर रहे हैं.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप जब वापस अपने वतन लौट गये तब व्हाइट हाउस ने एक बयान जारी किया. व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा का मुख्य फोकस भारत और अमेरिका के बीच रणनीतिक संबंधों को मजबूत करना था.

ट्रंप की 36 घंटे की भारत यात्रा खत्म होने के कुछ घंटे बाद व्हाइट हाउस ने ‘प्रेजीडेंट डोनाल्ड जे. ट्रंप इज़ स्ट्रेंथनिंग अवर स्ट्रैटेजी विद इंडिया’के नाम से एक बयान जारी किया. बयान में कहा गया कि अमेरिका और भारत दोनों को ही मजबूत आर्थिक संबंधों से लाभ हैं, जो दोनों देशों में समृद्धि, निवेश और रोजगार पैदा करते हैं. व्हाइट हाउस ने कहा, राष्ट्रपति डोनाल्ड जे. ट्रंप भारत के साथ हमारे रणनीतिक संबंध गहरे कर रहे हैं.

ट्रंप की पहली आधिकारिक भारत यात्रा होने की बात पर जोर देते हुए बयान में कहा गया है कि दोनों देशों के लंबे व्यापारिक संबंध रहे हैं, जो कि 2018 में ही 142 अरब डॉलर के पार थे. व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिकी ऊर्जा निर्यात के लिए भारत एक बढ़ता हुआ बाजार है. राष्ट्रपति ट्रंप के कार्यकाल में भारत में लगातार ऊर्जा निर्यात बढ़ा है, जिससे राजस्व में अरबों डॉलर की बढ़ोतरी हुई है.

व्हाइट हाउस ने कहा कि अमेरिकी राष्ट्रपति और भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एक व्यापार समझौते की दिशा में काम कर रहे हैं जो दोनों राष्ट्रों के बीच आर्थिक साझेदारी की पूर्ण क्षमता को दर्शाता है. व्हाइट हाउस का कहना है कि कि दोनों देश अपने सुरक्षा संबंध गहरे कर रहे हैं.

दोनों देशों के बीच कई समझौते

वापस व्हाइट लौटने से पहले दोनों देशों के बीच कई समझौते भी हुए. जिसमें भारत की अमेरिका से 24 एमएच..60 रोमियो हेलीकॉप्टर की 2.6 अरब अमेरिकी डॉलर की लागत से खरीद शामिल है. वहीं 80 करोड़ डॉलर का एक सौदा छह एएच..64 ई अपाचे हेलीकॉप्टर को लेकर भी हुआ.

व्हाइट हाउस ने कहा कि ट्रंप और मोदी ने सुरक्षित 5 जी दूरसंचार प्रौद्योगिकी प्रणालियां बनाने के महत्व पर चर्चा की ताकि एक भरोसेमंद नेटवर्किंग भविष्य बनाया जा सके. इस दौरान वो चीन पर निशाना साधने से नहीं चूके. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 25 फरवरी को कि 5 जी दूरसंचार प्रौद्योगिकी स्वतंत्रता एवं समृद्धि का औजार बनना चाहिए.

5 जी का इस्तेमाल उत्पीड़न एवं सेंसरशिप के औजार नहीं बने. ट्रंप के इस बयान को चीनी कंपनी हुवई के लिए स्पष्ट संदेश के रूप में देखा जा रहा है. अमेरिका ने इस कंपनी को काली सूची में डाल दिया है. उसे डर है कि हुवई के उपकरणों का चीन सरकार जासूसी के लिए इस्तेमाल कर सकती है.

हुवई दूरसंचार उपकरण बनाने वाली दुनिया की जानी मानी कंपनी है. ट्रंप ने कहा कि मोदी के साथ बातचीत में 5 जी का मुद्दा भी उठा. भारत ने हुवई को 5 जी ट्रायल में हिस्सा लेने देने का फैसला किया है. चीन ने भारत के फैसले का स्वागत किया है.

भारत, अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापान का भी जिक्र किया

अपनी यात्रा के दूसरे दिन दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत के बाद ट्रंप ने मीडिया को जारी किये गये बयान में चतुष्कोण यानी भारत, अमेरिका, आस्ट्रेलिया और जापान का भी जिक्र किया, जिसे हिंद महासागर क्षेत्र में चीन के एग्रेसिव रुख के बाद में हिंद प्रशांत क्षेत्र में शांति के लिए बनाया गया है. अमेरिकी राष्ट्रपति ने ब्लू डॉट का भी जिक्र किया. जो समान सोच वाले देशों के साथ चीन के बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव का मुकाबला समझा जाता है.

भारत में अपनी यात्रा के दूसरे दिन 25 फरवरी को ट्रंप ने पाकिस्तान को तगड़ा मैसेज देते हुए भारत और अमेरिका ने पाकिस्तान से यह तय करने को कहा कि उसकी जमीन का इस्तेमाल आतंकवादी हमले करने के लिए ना हो. पीएम मोदी और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बीच बातचीत के बाद जारी साझा बयान में पाकिस्तान से 26/11 के मुम्बई हमले और पठानकोट हमले के गुनहगारों को जल्दी एक्शन लेने की बात कही. ट्रंप और मोदी ने जैश-ए-मोहम्मद, लश्कर-ए-तैयबा, हिज्बुल मुजाहिदीन, हक्कानी नेटवर्क, डी कंपनी, अलकायदा, आईएसआईएस और तहरीक ए तालिबान पाकिस्तान सहित सभी आतंकवादी संगठनों के खिलाफ ठोस कार्रवाई करने का भी आह्वान किया.

भारत में करीब 36 घंटे गुज़ार कर लौटते वक्त अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप इस यात्रा ‘अद्भुत’ कहा. पीएम ने कहा कि भारत डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका और उनके पति जेरेड कुशनर का स्वागत करके खुश मोदी ने इन दोनों के जल्द ही ‘दोबारा भारत आने की आशा’ जताई.

अमेरिका वापस लौटने से पहले 25 फरवरी को विदेश सचिव हर्षवर्धन श्रृंगला ने सफाई देते हुए कहा राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के बीच समग्र वार्ता के दौरान नये संशोधित नागरिकता कानून का मुद्दा नहीं उठा, बल्कि हालांकि दोनों नेताओं ने धार्मिक सौहार्द के मुद्दे पर ‘सकारात्मक रूप’ में ज़रूर बात की.

भारत ने आईटी सेक्टर में भारतीय प्रोफेशनल्स के एच1बी वीजा का मुद्दा उठाया

दिल्ली में ट्रंप की यात्रा के दौरान भारत ने आईटी सेक्टर में भारतीय प्रोफेशनल्स के एच1बी वीजा का मुद्दा उठाया .अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दिल्ली में जब मीडिया से बात कर रहे थे तो उनकी और सीएनएन के पत्रकार जिम अकोस्टा के बीच तब तीखी बहस हो गयी. ये नोक झोंक तब हुई जब अमेरिकी राष्ट्रपति ने इस टीवी नेटवर्क की ईमानदारी पर सवाल खड़े किये.

अकोस्टा ने ट्रंप से पूछा कि क्या वह आने वाले राष्ट्रपति चुनाव में किसी भी विदेशी हस्तक्षेप को नकारने का संकल्प लेंगे. सीएनएन पत्रकार ने नये कार्यवाहक राष्ट्रीय खुफिया डायरेक्टर की नियुक्ति के फैसले पर भी सवाल उठाया जिन्हें किसी तरह का खुफिया अनुभव नहीं है. जवाब में ट्रंप ने कहा कि वह किसी देश से कोई मदद नहीं चाहते और उन्हें किसी देश से मदद नहीं मिली है. ट्रंप ने सीएनएन द्वारा पिछले दिनों एक गलत सूचना जारी करने पर खेद जताये जाने का भी जिक्र किया.

अकोस्टा ने इस पर कहा, ‘‘राष्ट्रपति महोदय, मुझे लगता है कि हमारा सच बताने का रिकॉर्ड कई बार आपके रिकॉर्ड से काफी बेहतर है. इस पर बहस बढ़ने लगी और ट्रंप ने कहा, ‘‘मैं आपको आपके रिकॉर्ड के बारे में बताता हूं. आपका रिकॉर्ड इतना खराब है कि आपको उस पर शर्म आनी चाहिए.’’ अकोस्टा ने कहा, ‘‘मुझे किसी बात पर शर्म नहीं आती और हमारा संस्थान भी शर्मिंदा नहीं है.’’ अमेरिकी राष्ट्रपति ने सीएनएन पर ब्रॉडकास्टिंग के मामले में सबसे खराब रिकॉर्ड होने का भी आरोप लगाया.

अकोस्टा और ट्रंप के बीच पहले भी कई बार कहासुनी हो चुकी है. व्हाइट हाउस ने 2018 में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में बहस के बाद अकोस्टा के प्रेस पास को सस्पेंड कर दिया और अकोस्टा के व्हाइट हाउस में घुसने पर भी रोक लगा दी गयी थी. ट्रंप प्रशासन ने प्रेस पास पर पाबंदी जारी रखी, लेकिन सीएनएन ने इस मामले में व्हाइट हाउस पर मुकदमा दर्ज किया जिसके बाद जज ने जिम अकोस्टा के पास को बहाल कर दिया था.

भारत में नागरिकता संशोधन बिल पर जारी विरोध और दिल्ली में हो रही हिंसा और कश्मीर पर राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने 25 फरवरी को कहा कि इस मुद्दे को भारत को देखना है और वह किसी विवाद में पड़कर अपनी दो दिवसीय शानदार भारत यात्रा को खराब नहीं करना चाहते . ट्रंप ने कहा कि मैं कतई किसी विवाद में नहीं पड़ने वाला हूं. एक छोटा सा जवाब देकर मैं अपने दो दिनों के दौरे और दो दिनों की यात्रा पर एक जवाब से पानी नहीं फेरूंगा . मेरे बयान के बढ़ा चढ़ा कर पेश किया जाएगा. तो आप बुरा ना मानें, इसी वजह से मैं जवाब देने में थोड़ा कंजूसी बरतूंगा.’’

कश्मीर को भारत और पाकिस्तान के बीच ‘बड़ी समस्या’ बताते हुए ट्रंप ने कहा कि कश्मीर लंबे समय से बहुत से लोगों के लिए समस्या रहा है और हर कहानी के दो पहलू होते है. ट्रंप ने तनाव कम करन के लिये दोनों देशों के बीच फिर से मध्यस्थता की पेशकश की. अमेरिका की प्रथम महिला मेलानिया ट्रंप ने साउथ दिल्ली के एक सरकारी स्कूल में ‘हैप्पीनेस क्लास’ में पहुंचीं. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के समाधि स्थल राजघाट गए .

डोनाल्ड ट्रंप के सम्मान में मंगलवार 25 फरवरी को डिनर रखा गया

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के सम्मान में मंगलवार 25 फरवरी को डिनर रखा गया. ये मेहमान अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप की दो दिनों की भारत यात्रा के अंतिम समारोह था. जिसके लिए राष्ट्रपति भवन को भव्य तरीके से सजाया गया था. करीब 130 हेक्टेयर में फैले राष्ट्रपति भवन में जगमग रोशनी के बीच ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया का रस्मी स्वागत किया गया.

ट्रंप के स्वागत के लिए दरबार हॉल तक जाने वाली सीढ़ियों पर राष्ट्रपति के अंगरक्षक मुस्तैद खड़े थे. विदेशी मेहमान का स्वागत राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और उनकी पत्नी ने किया और उन्हें हॉल में लेकर गये.राष्ट्रपति भवन में ट्रंप ने कहा कि भारत आना एक अद्भुत अनुभव है जिसने काफी कुछ सिखाया. ट्रंप के सम्मान में रात्रिभोज में कई पकवान रखे गये जिनमें धनिये का शोरबा, पालक पापड़ी के साथ आलू टिक्की, जरखेज जमीन, सब्जियों के रस में पकाई गई मौसमी सब्जियां और दाल रायसीना शामिल थे.

इसके अलावा कई मांसाहारी व्यंजन और मिठाइयां इसमें शामिल रहीं. मैं भारतीयों का सम्मान करता हूं, हम फिर आएंगे, फिर आएंगे.अपनी यात्रा के पहले दिन सोमवार 24 फरवरी को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ताजमहल के दीदार करने देखने शाम को आगरा पहुंचे और प्रेम के प्रतीक के तौर पर बनाए गए 17वीं सदी के मुगल काल के मकबरे को देखकर आश्चर्यचकित हो गए. दोनों ने विजिटर बुक में ताजमहल को ‘‘भारत की विविधतापूर्ण संस्कृति की धरोहर’’ करार दिया.

ताज परिसर में फोटो सेशन कराया

ट्रंप के साथ उनकी पत्नी, बेटी इवांका और दामाद जेरेड कुशनर अहमदाबाद से यहां पहुंचे. ताज परिसर में फोटो सेशन कराया. टूरिस्ट गाइड ने उन्हें ताजमहल से जुड़े किस्सों की जानकारी दी.ताजमहल के सामने ट्रंप ने अपनी पत्नी मेलानिया के साथ पूरी दुनिया में प्रसिद्ध ‘डायना बेंच’ पर बैठकर यादगार तस्वीर खिंचवाई.

यह पहली बार है कि जब किसी अमेरिकी राष्ट्रपति ने अपनी पत्नी के साथ तस्वीर खिंचवाई. ट्रंप की बेटी इवांका ने अपने पति जैरेड कुशनर के संग डायना बेंच के पास तस्वीर खिंचवाई. ट्रंप ने विजिटर बुक में अपनी टिप्पणी में लिखा, ‘‘ताजमहल भारत की विविध संस्कृति की धरोहर.’’ ट्रंप की बेटी इवांका ने ट्वीट किया, ‘‘ताजमहल की भव्यता और सुंदरता विस्मयकारी है.’’

डोनाल्ड ट्रंप से पहले मुगल युग के इस अजूबे को देखने वाले अंतिम राष्ट्रपति बिल क्लिंटन थे जो साल 2000 में भारत आए थे. उन्होंने अपनी बेटी चेल्सी क्लिंटन के साथ ताजमहल देखा था. अमेरिकी राष्ट्रपति ड्वाइट डेविड आइजनहावर ने 1959 में तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के साथ ताजमहल देखा था.

यात्रा के साथ एक और चीज़ चर्चा में थी और थी ‘द बीस्ट’

ट्रंप की इस यात्रा के साथ एक और चीज़ चर्चा में थी और थी द बीस्ट. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के बेहद खास बख्तरबंद वाहन यानि लिमोजिन कार को ‘द बीस्ट’ कहा जाता है. आठ इंच मोटी बख्तरबंद दीवार वाली बीस्ट की खिड़कियां बुलेटप्रुफ हैं.

अहमदाबाद के मोटेरा स्टेडियम में अभी पहले क्रिकेट मैच का भी आयोजन होना बाकी है लेकिन सोमवार 24 फरवरी को मोटेरा का मैदान लोगों की भारी भीड़ का गवाह बना, जहां अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भारत और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की जमकर प्रशंसा की. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पॉपुलर मोड थे. ट्रंप ने हिंदी फिल्मों की तारीफ करते हुए भारतीयों के दिलों को छूने की कोशिश की और अपने-अपने समय की दो सबसे मशहूर फिल्मों ‘शोले’ और ‘दिलवाले दुल्हनिया ले जाएंगे (डीडीएलजे)’ का नाम भी लिया.

मोटेरा स्टेडियम में ‘नमस्ते ट्रंप’ समारोह को संबोधित करते हुए अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि लोगों को हिंदी फिल्में देखने और उनके माध्यम से भारतीय संस्कृति को समझने में बहुत मजा आता है. इस देश में कौशल और रचनात्मकता के गढ़ माने जाने वाले बॉलीवुड में एक साल में करीब 2000 फिल्में बनती हैं. इससे पहले ट्रंप ने आयुष्मान खुराना की नयी फिल्म ‘शुभ मंगल ज्यादा सावधान’ की भी तारीफ की थी. फिल्म के पर्दे पर सेम सेक्स प्रेम को दर्शाने वाली इस फिल्म की तारीफ करते हुए ट्रंप ने पिछले हफ्ते कहा था, ग्रेट.

पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने भी 2015 में भारत यात्रा के दौरान ‘डीडीएलजे’ का जिक्र किया था और उन्होंने शाहरुख खान का एक डायलॉग ‘सेनोरिटा, भी बोला था.इस स्टेडियम को सरदार पटेल स्टेडियम के रूप में भी जाना जाता है.

1.25 लाख लोग लगातार ताली बजाते रहे

ट्रंप के लगभग 25 मिनट के भाषण के दौरान तकरीबन 1.25 लाख लोग लगातार ताली बजाते रहे. लोग उस दौरान बहुत खुश हुए जब ट्रंप ने यह याद करते हुए मोदी की प्रशंसा की कि मोदी ने एक विनम्र ‘‘चायवाले’’ के तौर पर शुरुआत की. मोटेरा स्टेडियम में 1.10 लाख लोगों के बैठने की क्षमता है जो दुनिया में सबसे बड़ा क्रिकेट स्टेडियम है. पुराना स्टेडियम 1982 में बना था और इसमें 49 हजार लोगों की बैठने की क्षमता थी. नये स्टेडियम का निर्माण 700 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से दो साल में पूरा हुआ है.

अपनी यात्रा के पहले दिन अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया ट्रंप ने 24 फरवरी सोमवार दोपहर में अहमदाबाद में साबरमती आश्रम पहुंचे . इस दौरान उन्होंने कुछ भी नहीं खाया. ट्रंप और उनकी पत्नी के आश्रम में नाश्ते के लिए गुजराती व्यंजन ‘खमण’ तैयार था. इसके अलावा, ब्रोकली और कॉर्न समोसा, एप्पल पाई, काजू कतली और कई तरह की चाय शामिल थी. ट्रंप और उनकी पत्नी अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से मोटेरा क्रिकेट स्टेडियम तक के अपने रोडशो के बीच में करीब 15 मिनट के लिए आश्रम गए थे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आश्रम में ट्रंप और उनकी पत्नी का स्वागत किया. अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप एवं उनकी पत्नी मेलानिया को साबरमती आश्रम पहुंचने पर गांधीजी के ‘तीन बुद्धिमान बंदरों’ की संगमरमर की मूर्ति और महात्मा गांधी की आत्मकथा पुस्तक का विशेष संस्करण तोहफे स्वरूप भेंट की गयी. अमेरिकी राष्ट्रपति को शुभ प्रतीक के रूप में गांधीजी से जुड़ी सदाचार की ताबीज भी भेंट की गई . प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्रंप को तीन बुद्धिमान बंदरों की मूर्ति भेंट की जिसमें एक बंदर ‘बुरा मत सुनो, दूसरा बुरा मत देखे और तीसरा बुरा मत कहो’ को प्रदर्शित करता है .

यह उस मूर्ति की प्रतिकृति है जो महात्मा गांधी को 1933 में एक जापानी भिक्षु ने भेंट की थी . मूर्ति भेंट करते हुए मोदी ने तीनों बंदरों के संदेश को ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया को समझाया और उन्होंने ध्यानपूर्वक इसे सुना . ट्रंप को महात्मा गांधी की आत्मकथा पुस्तक का विशेष संस्करण ‘ द स्टोरी आफ माई एक्सपेरिमेंट विद ट्रूथ’और पेंसिल से बनाया गया गांधीजी का वह दुलर्भ चित्र भेंट किया जब वे लंदन में 10 डाउनिंग स्ट्रीट से बाहर आ रहे थे .

साबरमती आश्रम आने पर ट्रंप और उनकी पत्नी ने ‘चरखे’ में खासी रुचि दिखायी . ट्रंप दंपति को चरखा भी भेंट स्वरूप दिया गया .ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया को ले कर एयर फोर्स वन विमान सरदार वल्लभ भाई पटेल हवाई अड्डे पर 24 फरवरी को सुबह 11 बज कर 37 मिनट पर उतरा . प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का स्वागत करने के लिए सुबह अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा पहुंच गए थे. जिसके बाद अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अहमदाबाद अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से 22 किलोमीटर लंबे रोड शो किया.

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपनी भारत यात्रा के दौरान यहां होटल आईटीसी मौर्या में ठहरे. पहली भारत यात्रा पर आ रहे ट्रंप आईटीसी मौर्या के महल नुमा ग्रैंड प्रेसीडेंशियल सुइट में ठहरे. इस सुइट का नाम ‘चाणक्य’ है जिसमें एक निजी ड्रॉइंग रूम, एक निजी छत, एक जिम और निजी प्रवेश के साथ ही डाइनिंग की जगह है. इसमें एक पार्किंग का रास्ता, तेज गति वाली लिफ्ट, पुख्ता सुरक्षा इंतजाम और एक प्रेसीडेंशियल फ्लोर बटलर भी है.

इससे पहले होटल में पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति जॉर्ज डब्ल्यू बुश, बिल क्लिंटन, बराक ओबामा और जिमी कार्टर भी ठहर चुके हैं. तत्कालीन अमेरिकी राष्ट्रपति क्लिंटन जब भारत यात्रा पर आईटीसी मौर्या में ठहरे थे तो उनके लिए विशेष ‘क्लिंटन प्लेटर’ और ‘चेल्सिया प्लेटर’ बनाया गया था। इसी तरह जब बराक ओबामा राष्ट्रपति के रूप में दो बार भारत यात्रा पर आये थे तो होटल ने उनके लिए ‘ओबामा प्लेटर’ तैयार किया था. इस पांच सितारा होटल के सभी 438 कमरे तब तक के लिए बुक थे.

Web Title: US President Donald Trump concludes two-day visit Indian business leaders media briefing and attended a state banquet at the Rashtrapati Bhavan
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे