नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद अब प्रशांत किशोर का आया ट्वीट, जानिए क्या कहा

By मनाली रस्तोगी | Published: September 15, 2022 01:03 PM2022-09-15T13:03:12+5:302022-09-15T13:39:40+5:30

पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ चुनावी रणनीतिकार से कार्यकर्ता बने प्रशांत किशोर के संभावित पुनर्मिलन की अटकलों के बीच उन्होंने एक ट्वीट पोस्ट किया।

Prashant Kishor cryptic tweet amid buzz of reunion with Bihar CM Nitish Kumar | नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद अब प्रशांत किशोर का आया ट्वीट, जानिए क्या कहा

नीतीश कुमार से मुलाकात के बाद अब प्रशांत किशोर का आया ट्वीट, जानिए क्या कहा

Next
Highlightsप्रशांत किशोर के ट्वीट को पुनर्मिलन की अटकलों के खंडन के रूप में देखा जा सकता है।किशोर को 2018 में जद (यू) में शामिल किया गया था और हफ्तों के भीतर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद पर पदोन्नत किया गया था।किशोर के विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध के कारण उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

पटना: चुनावी रणनीतिकार से कार्यकर्ता बने प्रशांत किशोर ने पटना में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ उनके संभावित पुनर्मिलन की अटकलों के बीच एक ट्वीट पोस्ट किया। जहां नीतीश कुमार ने जोर देकर कहा कि मीटिंग सामान्य थी और किसी भी राजनीतिक महत्व की नहीं थी तो वहीं प्रशांत किशोर ने रामधारी सिंह 'दिनकर' द्वारा लिखित हिंदी महाकाव्य रश्मिरथी से दो पंक्तियां पोस्ट कीं।

गुरुवार को प्रशांत किशोर ने ट्वीट कर लिखा, "तेरी सहायता से जय तो मैं अनायास पा जाऊंगा, आने वाली मानवता को, लेकिन, क्या मुख दिखलाऊंगा? ...दिनकर" उनके ट्वीट को पुनर्मिलन की अटकलों के खंडन के रूप में देखा जा सकता है। किशोर को 2018 में जद (यू) में शामिल किया गया था और हफ्तों के भीतर राष्ट्रीय उपाध्यक्ष के पद पर पदोन्नत किया गया था। हालांकि, किशोर के विवादास्पद नागरिकता (संशोधन) अधिनियम, 2019 और प्रस्तावित राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के विरोध के कारण उन्हें बर्खास्त कर दिया गया।

फिर उन्होंने एक चुनावी रणनीतिकार के रूप में अपना काम फिर से शुरू किया और ममता बनर्जी सरकार को पश्चिम बंगाल में सत्ता बनाए रखने में मदद की, जिससे भाजपा को 2021 के विधानसभा चुनावों में जोरदार टक्कर मिली। परिणाम घोषित होने के बाद प्रशांत किशोर ने घोषणा की कि वह अब चुनावी रणनीतिकार के रूप में काम नहीं करेंगे। एक साल बाद उन्होंने बिहार में 'जन सूरज' नाम से एक जन पहुंच कार्यक्रम शुरू किया, जिसके एक राजनीतिक दल में परिणत होने की संभावना है।

प्रशांत किशोर और बिहार के मुख्यमंत्री के बीच महागठबंधन में वापसी के बाद से ही वाकयुद्ध चल रहा है। लेकिन नीतीश कुमार के साथ किशोर की अघोषित मुलाकात ने संभावित पुनर्मिलन की चर्चा छेड़ दी। बैठक के महत्व के बारे में पूछे जाने पर कुमार ने संवाददाताओं से कहा, "यह एक सामान्य बैठक थी। इसमें बहुत कुछ नहीं था। उन्हें पवन वर्मा द्वारा लाया गया था जो कुछ दिन पहले भी मुझसे मिले थे।" उन्होंने रणनीतिकार के प्रति किसी भी तरह की कड़वाहट से इनकार किया, जिसे उन्होंने इस महीने की शुरुआत में दिल्ली में फटकार लगाई थी।

Web Title: Prashant Kishor cryptic tweet amid buzz of reunion with Bihar CM Nitish Kumar

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे