Parliament Conflict over question hour in corona crisis, figures says Rajya Sabha lost 60 percent time | प्रश्नकाल पर टकराव के बीच आंकड़े पेश कर रहे हैं अलग तस्वीर, राज्यसभा में 60% समय खोया, बाकी का उपयोग
प्रश्नकाल: राज्यसभा में 60% समय खोया, बाकी का उपयोग

Highlightsप्रश्नकाल पर राज्यसभा के पिछले चार साल के रिकॉर्ड पेश कर रहे हैं अलग तस्वीरचार वर्षों में राज्यसभा में कुल उपलब्ध समय का मात्र 40 प्रतिशत समय सवाल पूछने के लिए उपयोग में लाया गया

संसद में इस बार प्रश्नकाल करवाने को लेकर विपक्ष काफी आक्रामक नजर आ रहा है. लेकिन राज्यसभा के रिकॉर्ड और राज्यसभा सचिवालय का अनुसंधान विभाग कुल अलग तस्वीर पेश कर रहे हैं.

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक शोध में खुलासा हुआ है कि चार वर्षों (2015-19) में कुल उपलब्ध समय का मात्र 40 प्रतिशत समय सवाल पूछने के लिए उपयोग में लाया गया है जबकि 60 प्रतिशत समय बर्बाद किया गया है.

इस अवधि में राज्यसभा की 332 बैठकें (332 घंटे) हुई हैं. इनमें 133 घंटों में सवाल उठाने के लिए व्यय किए गए हैं. मतलब 40 प्रतिशत समय का ही उपयोग हुआ है. प्रश्नोत्तर काल का सालाना विश्लेषण करें तो 2015 में सिर्फ 18 घंटे और 07 मिनट, 2016 में 34 घंटे और 48 मिनट, 2018 में 14 घंटे और 29 मिनट, 2019 में 30 घंटे 40 मिनट का इस्तेमाल किया गया है.

अनुसंधानकर्ताओं ने इंगित किया कि 1978 से लगातार प्रश्नोत्तर काल के समय में गिरावट दर्ज की गई है. ज्यादातर समय चर्चा में बाधा उत्पन्न करने और स्थगन करनाए जाने के कारण बर्बाद हुआ है.

बता दें कि विभिन्न दलों के नेताओं ने सरकार को तर्क दिया है कि कोरोना के कारण प्रश्नोत्तर काल बंद नहीं करवाया जा सकता. उनका कहना है कि प्रश्नोत्तर काल उनका मूलभूत अधिकार है और संसदीय लोकतंत्र का मुख्य घटक है. कोविड महामारी को इसे बंद करवाने के लिए इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है.

English summary :
According to official sources, research has revealed that in four years (2015-19), only 40 percent of the total available time has been used to ask questions while 60 percent of the time has been wasted.


Web Title: Parliament Conflict over question hour in corona crisis, figures says Rajya Sabha lost 60 percent time
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे