opd strike in all government and private hospitals on june 18th for baba ramdev and ima issue | बिहारः योग गुरु बाबा रामदेव से आर-पार की लड़ाई के मूड में आईएमए, 18 जून को चार घंटे ओपीडी सेवा नहीं देंगे डॉक्टर
बाबा रामदेव। (फाइल फोटो )

Highlightsबिहार के डॉक्टरों ने 4 घंटे तक ओपीडी सेवा बंद करने का फैसला किया है। डॉक्टरों ने कहा कि बाबा रामदेव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई तो आंदोलन और तेज होगा। बाबा रामदेव के बयानों के खिलाफ डॉक्टर ओपीडी में मरीजों को नहीं देखेंगे। 

पटनाः योग गुरु बाबा रामदेव की तरफ से एलोपैथी के खिलाफ की गई टिप्पणियों के विरोध में बिहार के डॉक्टरों ने चार घंटे तक ओपीडी सेवा बंद करने का फैसला किया है। डॉक्टर बाबा रामदेव के खिलाफ विरोध जता रहे हैं। ऐसे में 18 जून को सुबह 8ः30 बजे से लेकर दोपहर 12ः30 बजे तक एलोपैथिक डॉक्टर ओपीडी में सेवा नहीं देंगे और मरीजों को नहीं देखेंगे। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) ने बाबा रामदेव के चिकित्सा विज्ञान, आधुनिक चिकित्सा पद्धति, कोविड टीकाकरण एवं शहीदों के प्रति दिए गए अपमानजनक बयान और डॉक्टरों के प्रति हो रही हिंसा के खिलाफ ओपीडी बाधित करने का फैसला किया है। 

बिहार आईएमए के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार और सचिव डॉ. सुनील कुमार ने संगठन के सभी शाखाओं के अध्यक्षों और सचिवों को पत्र लिखकर इसकी जानकारी दी है। बिहार में कोई भी डॉक्टर 18 जून को 4 घंटे तक ओपीडी सेवा नहीं देगा।

पत्र में निर्देश जारी किए गए हैं कि सभी सरकारी और निजी अस्पताल में तैनात डॉक्टर सुबह साढे आठ बजे से साढे बारह बजे तक ओपीडी बंद रखेंगे। यह फैसला देश स्तर पर लिया गया है। जिलाध्यक्षों और सचिवों को ये निर्देश भी दिए गए हैं कि डॉक्टरों के खिलाफ हाल के दिनों में जो भी हिंसक घटनाएं हुई हैं, उनकी जानकारी और दस्तावेज मुख्यालय को मुहैया कराएं। 

प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई तो तेज होगा आंदोलन

ये भी निर्देश भी दिए गए हैं कि रामदेव के खिलाफ यदि किसी जिला में प्राथमिकी से इनकार किया जा रहा हो तो जिले के एसपी के पास रजिस्टर्ड पोस्ट भेजें या न्यायालय में मामला दर्ज कराएं। आईएमए ने कहा है कि बाबा रामदेव ने चिकित्सा विज्ञान, आधुनिक चिकित्सा पद्धति, कोविड टीकाकरण और कोविड काल में शहीद हुए डॉक्टरों के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की है। संगठन का कहना है कि अगर बाबा रामदेव के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज नहीं हुई तो आगे आंदोलन और तेज होगा।

साक्ष्य जुटाने में जुटी पुलिस

इधर, बाबा रामदेव द्वारा एलोपैथी को लेकर दिए गए विवादित बयान मामले में पत्रकार नगर थाना पुलिस की छानबीन जारी है। इस मामले में पुलिस तमाम साक्ष्यों को जुटा रही है। वहीं, इस मामले में अब एलोपैथी व आयुर्वेद के डॉक्टरों का भी बयान दर्ज किया जाएगा। बाद में पूछताछ के लिए पतंजलि योगपीठ के सदस्यों को भी थाने बुलाया जा सकता है।

बाबा रामदेव के खिलाफ मामला दर्ज किया था

बता दें कि बाबा रामदेव के विवादित बयान पर इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए), पटना ने गत सोमवार को बाबा रामदेव के खिलाफ पत्रकार नगर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था। संगठन से जुड़े डॉक्टरों ने रामदेव पर एलोपैथ डॉक्टरों के खिलाफ गलत बयान देने की बात कही थी। आईएमए का कहना है कि बाबा रामदेव ने एलोपैथी को दिवालिया विज्ञान बताने के साथ ही यह कहा था कि काफी कोरोना मरीजों की मौत एलोपैथी की दवाएं खाने से हो गई। उन्होंने कोरोना के टीके को भी बेकार बताया था। इस संबंध में पुलिस ने रामदेव के खिलाफ विभिन्न धाराओं के तहत मुकदमा दर्ज किया है। पुलिस अधिकारी के मुताबिक पुलिस विवादित बयान के वीडियो की तकनीकी जांच कर रही है।

Web Title: opd strike in all government and private hospitals on june 18th for baba ramdev and ima issue

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे