कश्मीर के माता ललिता त्रिपुर सुन्दरी मंदिर में लगी आग, कश्मीरी पंडितों ने पुलिस पर मामले की लीपापोती का लगाया आरोप, जानिए

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: January 15, 2022 09:55 AM2022-01-15T09:55:29+5:302022-01-15T09:58:37+5:30

कश्मीरी पंडितों का आरोप है कि पुलिस मामले में लीपापोती कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि ऐसी कड़ाके की ठंड में आग कैसे लगी और मंदिर में देवी को चढ़ाए गए धागे और पर्दे सही-सलामत है जबकि देवी का स्थान माने जाने वाला पेड़ जल गया है।

Kashmir fire in mata lalita tripura sundari temple Kashmiri Pandits accuse the police of covering up the matter | कश्मीर के माता ललिता त्रिपुर सुन्दरी मंदिर में लगी आग, कश्मीरी पंडितों ने पुलिस पर मामले की लीपापोती का लगाया आरोप, जानिए

कश्मीर के माता ललिता त्रिपुर सुन्दरी मंदिर में लगी आग, कश्मीरी पंडितों ने पुलिस पर मामले की लीपापोती का लगाया आरोप, जानिए

Next
Highlightsजम्मू-कश्मीर पुलिस ने मंदिर में लगी आग को दुर्घटना बताया हैकश्मीरी पंडितों का कहना है कि इतनी ठंड में आग कैसे लग सकती हैस्थानीय लोगों ने पुलिस पर आरोप लगाया है कि वह मामले की लीपापोती कर रही है

कुलगामः जम्मू-कश्मीर में कुपवाड़ा जिले के देवसर में स्थित माता ललिता त्रिपुर सुन्दरी के मंदिर में मामूली आग लगने की खबर फैलते ही कश्मीरी पंडितों ने आगजनी का आरोप लगाते हुए यह कृत्य करने वालों को गिरफ्तार करने की मांग की। वहीं, पुलिस का कहना है कि शुरुआती जांच से ऐसा लगता है कि मंदिर में जलने वाले दीयों और आरती के कारण गुरुवार-शुक्रवार की दरमियानी रात यह आग लगी।

कुलगाम पुलिस ने ट्वीट किया है, ‘‘माता त्रिपुर सुन्दरी (देवसर) मंदिर में आग लगने की घटना की पुलिस ने जांच की। शुरुआती जांच में पता चला है कि मंदिर में रोज रखे जाने वाले दीयों और आरती के कारण दुर्घटनावश आग लगी है... किसी गड़बड़ी का साक्ष्य नहीं है। लोगों से अनुरोध है कि अफवाहों पर ध्यान ना दें।’’ कुलगाम के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जी. वी. संदीप चक्रवर्ती और उपायुक्त बिलाल मोही-उद-दीन भट तत्काल घटना की जांच करने मंदिर पहुंचे।

हालांकि, कश्मीरी पंडितों का आरोप है कि पुलिस मामले में लीपापोती कर रही है। उन्होंने सवाल किया कि ऐसी कड़ाके की ठंड में आग कैसे लगी और मंदिर में देवी को चढ़ाए गए धागे और पर्दे सही-सलामत है जबकि देवी का स्थान माने जाने वाला पेड़ जल गया है। देवसर निवासी सुनीता धर ने सवाल किया, ‘‘दीयों से ऐसी आग लगना संभव नहीं है... वह भी तब जक आजकल मंदिर में कोई जाता नहीं है... ऐसे में रात एक बजे दीये से कैसे आग लग सकती है।’’

उधर, स्थानीय लोगों का कहना है कि आजकल मंदिर में देर रात कोई आरती नहीं होती है और वह बंद रहता है। हालांकि, पुलिस ने अपनी ओर से सफाई पेश करते हुए कहा है कि आधी रात को सेना ने मंदिर को साफ और सेनेटाइज किया था और संभवत: आग उसी दौरान लगी हो। इस संबंध में सेना से कोई जवाब नहीं मिला है।

Web Title: Kashmir fire in mata lalita tripura sundari temple Kashmiri Pandits accuse the police of covering up the matter

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे