कश्मीर पर भारत का सख्त रुख, दिल्ली पहुंचे चीन के विदेश मंत्री वांग यी, एस जयशंकर और अजीत डोभाल से मिलेंगे, जानें पूरा मामला

By सतीश कुमार सिंह | Published: March 24, 2022 08:36 PM2022-03-24T20:36:33+5:302022-03-24T20:54:32+5:30

भारत ने पाकिस्तान में हुई इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक में चीन के विदेश मंत्री वांग यी के जम्मू कश्मीर पर दिए गए बयानों को अनावश्यक बताते हुए खारिज कर दिया था।

kashmir Chinese Foreign Minister Wang Yi arrives in India meet NSA Ajit Doval and EAM Dr S Jaishankar tomorrow | कश्मीर पर भारत का सख्त रुख, दिल्ली पहुंचे चीन के विदेश मंत्री वांग यी, एस जयशंकर और अजीत डोभाल से मिलेंगे, जानें पूरा मामला

भारत के इस बयान को चीन के लिए कड़ी प्रतिक्रिया और संदेश के तौर पर देखा जा रहा है।

Next
Highlightsभारत ने कहा था कि केन्द्र शासित क्षेत्र से जुड़े मामले पूरी तरह से देश के आंतरिक मामले हैं।विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन सहित अन्य देशों को जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है।भारत उनके आंतरिक मामलों पर सार्वजनिक रूप से विचार व्यक्त करने से परहेज करता है।

नई दिल्लीः चीन के विदेश मंत्री वांग यी भारत पहुंच गए हैं। कल एनएसए अजीत डोभाल और विदेश मंत्री डॉ एस जयशंकर से मिलने की संभावना है। वांग यी बगैर किसी पूर्व निर्धारित कार्यक्रम के भारत पहुंचे> भारत ने पाकिस्तान में हुई इस्लामिक सहयोग संगठन (ओआईसी) की बैठक में वांग यी के जम्मू कश्मीर पर दिए गए बयानों को अनावश्यक बताते हुए खारिज कर दिया था।

भारत ने कहा था कि केन्द्र शासित क्षेत्र से जुड़े मामले पूरी तरह से देश के आंतरिक मामले हैं। विदेश मंत्रालय ने कहा कि चीन सहित अन्य देशों को जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्हें समझना चाहिए कि भारत उनके आंतरिक मामलों पर सार्वजनिक रूप से विचार व्यक्त करने से परहेज करता है।

भारत के इस बयान को चीन के लिए कड़ी प्रतिक्रिया और संदेश के तौर पर देखा जा रहा है। विदेश मंत्रालय का यह बयान ऐसे वक्त में आया है जब वांग की संभावित भारत यात्रा के बारे में भारत और चीन के बीच संपर्क हो रहे हैं, हालांकि दोनों ही पक्षों ने इस संभावित यात्रा को लेकर कोई स्पष्ट संकेत नहीं दिए हैं,जिससे इसको लेकर संशय बना हुआ है।

ओआईसी की बैठक में वांग द्वारा जम्मू कश्मीर का जिक्र किए जाने के संबंध में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने कहा,‘‘ हम उद्घाटन सत्र में भाषण के दौरान चीन के विदेश मंत्री वांग यी द्वारा भारत का अनावश्यक जिक्र किये जाने को खारिज करते हैं।’’ बागची ने कहा कि केन्द्र शासित क्षेत्र जम्मू कश्मीर से जुड़े मामले ‘‘पूरी’’तरह से भारत के आंतरिक मामले हैं।

उन्होंने कहा,‘‘चीन सहित अन्य देशों को जम्मू कश्मीर पर टिप्पणी करने का कोई अधिकार नहीं है। उन्हें समझना चाहिए कि भारत उनके आंतरिक मामलों पर सार्वजनिक रूप से विचार व्यक्त करने से परहेज करता है’’ वांग के बयानों के संबंध में पत्रकारों द्वारा पूछे गए प्रश्नों का बागची जवाब दे रहे थे।

वांग ने बैठक में कहा,‘‘ कश्मीर पर, हमने आज फिर से अपने इस्लामिक मित्रों की बातें सुनी। चीन भी यही उम्मीद साझा करता है।’’ चीन के विदेश मंत्री दो दिन की पाकिस्तान की यात्रा पर हैं। वांग ने बैठक में अपने संबोधन में कहा,‘‘ यह पहली बार है जब चीन के विदेश मंत्री ओआईसी-सीएफएम बैठक में भाग ले रहे हैं। यह पूरी तरह से आदान-प्रदान और सहयोग को मजबूत करने के चीन और इस्लामी दुनिया की इच्छा को प्रदर्शित करता है, और हम निश्चित रूप से इन संबंधों को एक नए स्तर पर ले जाएंगे।’’

Web Title: kashmir Chinese Foreign Minister Wang Yi arrives in India meet NSA Ajit Doval and EAM Dr S Jaishankar tomorrow

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे