Karnataka Battle: Congress-JD(S) will shift MLA's to unknown place, alleges horse trading | आधी रात बेंगलुरु से रवाना हुए कांग्रेस-जेडी(एस) विधायक, 'हॉर्स ट्रेडिंग' से बचाने के लिए लगाई ये तिकड़म!

बेंगलुरु, 17 मईः कांग्रेस और जेडी(एस) के सामने अपने विधायकों को एकजुट रखने की चुनौती है। इसी वजह से शुक्रवार रात सभी विधायकों को बस से बेंगलुरु के बाहर भेज दिया गया है। जेडीएस प्रमुख एचडी कुमारास्वामी ने कहा कि विधायकों की सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है। सभी विधायकों को एकसाथ रखा जाएगा।

 बीएस येदियुरप्पा ने गुरुवार को कर्नाटक के मुख्यमंत्री पद की शपथ ली। उन्हें 15 दिन के अंदर बहुमत साबित करना है। कांग्रेस और जेडी(एस) के नेताओं ने बीजेपी पर विधायकों की 'हॉर्स ट्रेडिंग' का आरोप लगाया है। हालांकि उन्होंने यह भी कहा कि उनके सभी विधायक एकजुट हैं और बीजेपी की पेशकश का किसी पर कोई असर नहीं होगा

राज्यपाल वाजुभाई वाला द्वारा बीजेपी को सरकार बनाने के लिए पहले आमंत्रण देने के मामले पर शुक्रवार सुबह सुप्रीम कोर्ट सुनवाई करेगा। ताजा रिपोर्ट के मुताबिक बेंगलुरु के ईगलटन रिपोर्ट से कांग्रेस के सभी विधायकों को ले जाया गया है। जेडी(एस) भी अपने विधायकों को हैदराबाद और कोच्चि भेज रही है।


जेडी(एस) नेता एचडी कुमारास्वामी ने कहा कि हम कहां जा रहे हैं यह तय नहीं है। हम देर रात तय करेंगे कि आगे क्या करना है। हमारे पास कई विकल्प हैं। उनमें से एक राष्ट्रपति भवन के सामने प्रदर्शन करना भी है। कांग्रेस नेता रामालिंगा रेड्डी ने कहा कि जैसे ही ईगलटन रिसॉर्ट के बाहर पुलिस हटाई गई बीजेपी नेता अंदर आ गए। उन्होंने विधायकों को पैसे की पेशकश की। लगातार फोन से संपर्क कर रहे हैं। रामालिंगा ने कहा कि हम आज शिफ्टिंग कर रहे हैं। अभी जगह तय नहीं है। जेडी(एस) विधायक हमारे साथ नहीं आएंगे। 

यह भी पढ़ेंः- कुछ कांग्रेसी विधायक बहुमत परीक्षण के दौरान मार गए बीजेपी की तरफ पलटी तो क्या होगा?


कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सभी विधायक बेंगलुरु में हैं। हमें सुप्रीम कोर्ट पर पूरा भरोसा है। वो उस गलती को नहीं दोहराएंगे जो राज्यपाल ने की है। आजाद ने कहा कि बीजेपी एक खेल के लिए दो अलग-अलग नियम नहीं बना सकती। केंद्र सरकार और उनके राज्यपाल जनता के सामने बेनकाब हो चुके हैं। यह केंद्र की जिम्मेदारी है कि वो संविधान और लोकतंत्र की रक्षा करें लेकिन दुर्भाग्य से वही इसे तोड़ रहे हैं।


पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी ने भी ताजा घटनाक्रम को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। उन्होंने कहा कि मैं हॉर्स ट्रेडिंग के खिलाफ हूं। हमें हमेशा लोकतांत्रिक संस्थान को बचा कर रखना चाहिए। सत्ता बदलती रहती है लेकिन अगर हम संविधान का उल्लंघन करते हैं तो यह देश के लिए नुकसानदेह है।


भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे