Jamia millia hands over Rs 2.66 crore bill to narendra Modi government hrd ministry in violence by police during protest against caa | Jamia Violence: जामिया ने मोदी सरकार को थमाया 2.66 करोड़ रुपये का बिल, लाइब्रेरी में दिल्ली पुलिस की लाठियों से सरकारी संपत्ति का हुआ था नुकसान
जामिया ने नुकसान की भरपाई के लिए सरकार को सौंपा 2.66 करोड़ रुपये का बिल

Highlightsजामिया के सीसीटीवी फुटेज से कई वीडियो क्लिप जारी किए गए हैं जिसमें पुलिसकर्मी छात्रों पर लाठियों से प्रहार करते दिख रहे हैं। दिल्ली पुलिस ने कहा है कि कुछ वीडियो एडिट किए गए हैं और वे अभी भी अपनी प्रामाणिकता को सुनिश्चित कर रहे हैं।

जामिया विश्वविद्यालय में नरेंद्र मोदी सरकार द्वारा CAA लागू किए जाने के बाद विरोध प्रदर्शन शुरू हुआ था। इसी प्रदर्शन के दौरान भड़की हिंसा के बाद दिल्ली पुलिस द्वारा लाइब्रेरी व कैंपस में की गई तोड़फोड़ के मामले में जामिया ने मानव संसाधन विकास मंत्रालय (एमएचआरडी) को 2.66 करोड़ का बिल सौंपा है।

सौंपे गए बिल के अनुसार, जामिया मिलिया इस्लामिया में पिछले साल 15 दिसंबर को परिसर के अंदर दिल्ली पुलिस कार्रवाई के दौरान 2.66 करोड़ रुपये की संपत्ति का नुकसान हुआ था। इसमें 25 सीसीटीवी कैमरा के नुकसान को भी शामिल किया गया है, जिसकी कीमत 4.75 लाख है।

पिछले कुछ दिनों में जामिया के सीसीटीवी फुटेज से कई वीडियो क्लिप जारी किए गए हैं। इसमें पुलिसकर्मी छात्रों पर लाठियों से प्रहार करते दिख रहे हैं। साथ ही वीडियो में विश्वविद्यालय की संपत्ति को नुकसान होता हुआ भी दिख रहा है। इन वीडियो में दिख रहा है कि लाइब्रेरी में लगे सीसीटीवी कैमरों पर भी हाथ से मारा जा रहा है। पुलिस ने कहा है कि कुछ वीडियो एडिट किए गए हैं और वे अभी भी अपनी प्रामाणिकता को सुनिश्चित कर रहे हैं।

सबसे अधिक लाइब्रेरी का नुकसान हुआ था-

हिंसा के कुछ ही दिनों बाद, विश्वविद्यालय के अधिकारियों ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया था कि संपत्ति की क्षति लगभग 2.5 करोड़ रुपये थी, और अधिक विस्तार से जानकारी इकट्ठा करने की बात कही गई थी। लाइब्रेरियन तारिक अशरफ ने तब कहा था, “लाइब्रेरी में सबसे ज्यादा नुकसान कांच व शीशे टूटने के कारण होता है। क्षतिग्रस्त हुई कुछ अन्य चीजें सीसीटीवी कैमरे और ट्यूबलाइट आदि हैं, लेकिन शुक्र है कि कोई किताब या पांडुलिपियों को नहीं छुआ गया। ”

इस हिंसा में साफ दिखा कि पुलिस कार्रवाई से यूनिवर्सिटी में पुस्तकालय उपकरण, दरवाजे, खिड़की के शीशे, एसी इकाइयां, विद्युत प्रणाली, कुर्सियां, मेज, रोशनी और दर्पण क्षतिग्रस्त हो गए थे। विश्वविद्यालय के अनुमान के अनुसार, 55 लाख रुपये के उपकरण भी क्षतिग्रस्त हो गए थे।

जामिया यूनिवर्सिटी ने समानों के टूटने पर नुकसान कुछ इस तरह बताए-

इसी हमले में यूनिवर्सिटी ने बताया कि 75 दरवाजे, जिनकी कीमत 41.25 लाख रुपये, 22.5 लाख रुपये की 220 विंडो पैन, 18 लाख रुपये की रेलिंग, 15 लाख रुपये के हार्डवेयर और 14 लाख रुपये की 35 लाइब्रेरी टेबल हिंसा में क्षतिग्रस्त हो गए थे। विश्वविद्यालय में 7 लाख रुपये की 175 कुर्सियां, 6 लाख रुपये की "टॉयलेट आइटम", 7.5 लाख रुपये की वनस्पतियां, 8 लाख रुपये की टाइलें, और 15 लाख एल्यूमीनियम के दरवाजे दिखाई दिए, जिनकी कीमत 4.5 लाख रुपये थी।

इसके साथ ही दीवारों से पेंट छीलने के कारण लगभग 22.5 लाख रुपये का नुकसान हुआ है। जामिया में 165 रोशनी (12.4 लाख रुपये), पत्थर की नकल (3.8 लाख रुपये), झूठी छत (5.5 लाख रुपये) और पत्थरों पर अंकुश लगाने (2.5 लाख रुपये) की क्षति हुई। इसके अलावा, 75 दर्पणों की कीमत 72,630 रुपये और 180 कांच की फिल्मों की लागत 72,000 रुपये थी।


 

English summary :
Jamia millia hands over Rs 2.66 crore bill to narendra Modi government hrd ministry in violence by police during protest against caa


Web Title: Jamia millia hands over Rs 2.66 crore bill to narendra Modi government hrd ministry in violence by police during protest against caa
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे