In rural Chhattisgarh, angry people not to become a street, decision to boycott voting | छत्तीसगढ़ में सड़क नहीं बनने से नाराज ग्रामीण, मतदान का बहिष्कार का फैसला
छत्तीसगढ़ में सड़क नहीं बनने से नाराज ग्रामीण, मतदान का बहिष्कार का फैसला

छत्तीसगढ़ के आदिवासी बहुल जशपुर जिले के दारूपीसा गांव में सड़क नहीं बनने से नाराज ग्रामीणों ने मतदान का बहिष्कार करने का फैसला किया है। जशपुर जिले के दोकड़ा थाना क्षेत्र के अंतर्गत दारुपीसा गांव के लोगों ने मन बनाया है कि वे लोकसभा चुनाव के लिए 23 अप्रैल को होने वाले मतदान का बहिष्कार करेंगे।

ग्रामीणों ने गांव की दोनों सीमाओं पर इस संबंध में बोर्ड भी लगा दिया है तथा सभी राजनीतिक दलों के जनप्रतिनिधियों को जरूरी सुविधा उपलब्ध कराने से पहले मतदान के संबंध में किसी भी तरह की चर्चा नहीं करने की कड़ी हिदायत दे दी है। दारूपीसा गांव के मुखिया अलेक्स टोप्पो का कहना है कि यहां सड़क के अभाव में पानी, शिक्षा, स्वास्थ्य पर भी विपरीत प्रभाव पड़ रहा है। यहां के ग्रामीण जनप्रतिनिधियों से सड़क और अन्य सुविधाओं की मांग लम्बे समय से कर रहे हैं।

जनप्रतिनिधियों ने वादा तो किया लेकिन उसे पूरा नहीं किया। टोप्पो ने बताया कि पिछले वर्ष विधानसभा चुनाव में भी जनप्रतिनिधियों ने गांव में सड़क बनाने का वादा किया था। लेकिन चुनाव जीतने के बाद यहां बुनियादी सुविधाओं की फिर अनदेखी कर दी गई है। इसलिए इस बार ग्रामीणों ने एकजुट होकर लोकसभा चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने का फैसला किया है।

उधर, कुनकुरी विधानसभा क्षेत्र के विधायक यूडी मिंज ने आश्वासन दिया है कि दारुपीसा गांव में सड़क, पेयजल की समस्या का निवारण के लिए चुनाव आचार संहिता के हटते ही इस काम को सर्वोच्च प्राथमिकता से कराया जाएगा। जशपुर जिला का यह इलाका राज्य के रायगढ़ लोकसभा सीट के अंतर्गत है। इस सीट पर इस महीने की 23 तारीख को मतदान होना है।


Web Title: In rural Chhattisgarh, angry people not to become a street, decision to boycott voting