covaxin may submit phase-3 trial record to DGCI next month | कोवाक्सिन अगले माह फेज-3ट्रायल का रिकॉर्ड डीजीसीआई को कर सकती है जमा
(फाइल फोटो)

Highlightsरूसी वैक्सीन स्पूतनिक-5 को मार्च तक मिल सकती है मंजूरीफिलहाल ट्रायल अंतिम चरण में है। वैक्सीन का कोई मेजर साइड इफेक्ट भी नजर नहीं आया है।

नई दिल्ली: स्वदेश निर्मित कोरोना वैक्सीन कोवाक्सीन को लेकर तरह-तरह के सवाल उठाए जा रहे हैं। सबसे बड़ा सवाल यही है कि फेज-3 ट्रायल पूरा हुए बिना ही वैक्सीन को आपातकाल उपयोग की मंजूरी दे दी गई। इसीलिए वैक्सीनेशन अभियान में फ्रंटलाइन वर्कर और डॉक्टर्स इसे लगवाने से मना कर रहे हैं। इस सवाल का जवाब देने के लिए भारत बायोटेक अगले माह तक ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीजीसीआई) को फेज-3 ट्रायल के नतीजे पेश करने की तैयारी में है। 

आईसीएमआर भी इस कोशिश में लगा है कि ट्रायल के नतीजे कंपनी जल्द से जल्द पेश करे। जिससे अन्य देशों में सरकार वैक्सीन की आपूर्ति शुरू कर सके और वैक्सीन पर उठ रहे सवाल खत्म हो जाएं।स्वास्थ्य मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा कि अभी तक के वैक्सीनेशन अभियान से यह साफ हो गया है कि कोवाक्सीन और कोविशील्ड दोनों ही वैक्सीन सुरक्षित हैं। कोवाक्सीन को लेकर खड़े किए जा रहे सवाल गलत हैं। 

नीति आयोग के सदस्य और कोरोना टास्क फोर्स के चेयरमैन डा.वीके पॉल और एम्स के निदेशक डा.रणदीप गुलेरिया ने पहले दिन यह वैक्सीन लगवाने के बाद अपने अनुभव भी साझा किए। भारत बायोटेक ने अक्टूबर प्रथम सप्ताह में ड्रग कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया (डीजीसीआई) से तीसरे फेज के ट्रायल की अनुमति मांगी थी। 

महीने के अंत तक डीजीसीआई से इसकी अनुमति मिल गई थी और भारत बायोटेक ने नवंबर माह में कोवाक्सिन का फेज-3 ट्रायल 28500 लोगों पर शुरू किया। जिसके ट्रायल में करीब दो से ढाई माह का समय लगना था। यह समय जनवरी 2021 में पूरा हो रहा है। 

रूस की स्पूतनिक-5 मिल सकती है मार्च तक :

रूस की स्पूतनिक-5 वैक्सीन के तीसरे फेज के ट्रायल चल रहे हैं। उम्मीद की जा रही है कि अगले दो माह में इसे अप्रूवल मिल जाएगी। स्पूतनिक वैक्सीन की भारत में कीमत 10 डॉलर (करीब 730 रुपये) होगी। इस वैक्सीन का ट्रायल डॉक्टर रेड्डी लैबोरेट्रीज मिलकर कर रही है। डॉक्टर रेड्डी के को-चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर जीवी प्रसाद ने कहा है कि भारत में अब तक स्पूतनिक के पहले और दूसरे फेज के ट्रायल के अच्छे नतीजे आए हैं। इस वैक्सीन को 18 डिग्री के तापमान पर स्टोर किया जा सकता है।

Web Title: covaxin may submit phase-3 trial record to DGCI next month

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे