CM Nitish Kumar took tough decision regarding workers reaching Bihar issued necessary instructions | बिहार लौटे 2000 से ज्यादा मजदूर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, सीएम नीतीश कुमार ने लिया कठोर फैसला, जारी किए जरूरी निर्देश
बिहार लौटे 2000 से ज्यादा मजदूर पाए गए कोरोना पॉजिटिव, सीएम नीतीश कुमार ने लिया कठोर फैसला

Highlightsबिहार लौटने वाले कई श्रमिकों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमण रोकने के लिए हाल में आए लोगों को पृथकवास केंद्र में पहले से रह रहे कामगारों से अलग रखने को कहा है।राज्य सरकार ने वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए 14 दिन पृथकवास केंद्र में रहना अनिवार्य कर दिया है।

पटना।बिहार लौटने वाले कई श्रमिकों के कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने संक्रमण रोकने के लिए हाल में आए लोगों को पृथकवास केंद्र में पहले से रह रहे कामगारों से अलग रखने को कहा है। राज्य सरकार ने वापस आने वाले प्रवासी श्रमिकों के लिए 14 दिन पृथकवास केंद्र में रहना अनिवार्य कर दिया है। इसके बाद ही उन्हें घर जाने की अनुमति और यात्रा खर्च के तौर पर 1,000 रुपये भी दिए जा रहे हैं । केंद्र द्वारा श्रमिकों को लाने के लिए श्रमिक ट्रेनें चलाने पर सहमति के बाद महीने के आरंभ से अब तक 15 लाख से ज्यादा मजदूर वापस आए हैं। राज्य स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक तीन मई के बाद से वापस आए 2,000 से ज्यादा श्रमिक संक्रमित पाए गए हैं । महामारी की स्थिति पर उच्च स्तरीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए कुमार ने अधिकारियों को यह सुनिश्चित करने का निर्देश दिया कि हाल में आए श्रमिकों को पृथकवास में पहले से रह रहे श्रमिकों से अलग रखा जाए।

बिहार में कोविड-19 के 174 नये मामले, संक्रमितों की संख्या 3,359 पहुंची

बिहार में कोविड-19 के कारण मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 19 हो गयी। यहां एक अस्पताल में इलाज के दौरान एक मरीज की मौत हो गई, जबकि भोजपुर और भागलपुर जिले के दो अन्य लोगों की मौत के बाद उनके नमूने की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव निकली। अधिकारियों ने यह जानकारी दी। राज्य में 174 लोगों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया, जिससे संक्रमण के कुल मामले 3,359 हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग ने बताया कि अब तक ठीक हुए लोगों की संख्या 1,209 है, जबकि अब तक 72,256 नमूनों का परीक्षण किया गया है। सीवान के एक 62 वर्षीय व्यक्ति, जो मुंबई गए थे, को संक्रमित पाए जाने पर नालंदा मेडिकल कॉलेज अस्पताल में भर्ती कराया गया था। अस्पताल अधीक्षक एन के सिंह ने बताया कि उसने आज दोपहर बाद अंतिम सांस ली।

उन्होंने बताया कि व्यक्ति मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी कई बीमारियों से पीड़ित था। भोजपुर जिले में कोविड-19 के कारण दूसरी मौत हुई है। 55 वर्षीय एक प्रवासी श्रमिक की 26 मई को मौत हो गई थी, जिसके नमूने की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव निकली है। बिहार के सभी 38 जिलों में कोविड-19 के मामले सामने आ चुके हैं। स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी आंकड़े के अनुसार, अभी तक 2,310 प्रवासी मजदूरों को कोरोना वायरस से संक्रमित पाया गया है, जो अन्य राज्यों से बिहार लौटे हैं।

Web Title: CM Nitish Kumar took tough decision regarding workers reaching Bihar issued necessary instructions
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे