Barring Hardeep Singh Puri, K J Alphons, Bureaucrats-turned-politicians Win For BJP | पुरी, अल्फोंस हारे लेकिन सिंह, सत्यपाल और मेघवाल सहित बाकी सभी नौकरशाह जीते
पूर्व अधिकारी पुरी पंजाब के अमृतसर से कांग्रेस के गुरजीत सिंह औजला से 99,626 वोट के अंतर से हार गए।

Highlightsपूर्व आईएएस अधिकारी अल्फोंस केरल के एर्णाकुलम में तीसरे स्थान पर रहे।दो पूर्व अधिकारी और केंद्रीय मंत्री- हरदीप सिंह पुरी और के जे अल्फोंस उतने भाग्यशाली नहीं रहे।पूर्व आईपीएस अधिकारी सत्यपाल सिंह केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में काम कर चुके हैं और मुंबई पुलिस आयुक्त रहे थे।

दो उम्मीदवारों को छोड़कर नौकरशाह से नेता बने भाजपा के बाकी सभी प्रत्याशी जीतने में कामयाब रहे।

केंद्रीय मंत्री-आर के सिंह, सत्यपाल सिंह और अर्जुन राम मेघवाल विजयी रहे। लेकिन, दो पूर्व अधिकारी और केंद्रीय मंत्री- हरदीप सिंह पुरी और के जे अल्फोंस उतने भाग्यशाली नहीं रहे। भारतीय विदेश सेवा के पूर्व अधिकारी पुरी पंजाब के अमृतसर से कांग्रेस के गुरजीत सिंह औजला से 99,626 वोट के अंतर से हार गए। पूर्व आईएएस अधिकारी अल्फोंस केरल के एर्णाकुलम में तीसरे स्थान पर रहे।

कांग्रेस प्रत्याशी हिबी एडन ने यहां पर जीत हासिल की। केंद्रीय गृह सचिव के तौर पर सेवानिवृत्त हुए बिहार कैडर के पूर्व आईएएस अधिकारी आर के सिंह बिहार के आरा निर्वाचन क्षेत्र में 1.47 लाख वोट के अंतर से जीते। मौजूदा सांसद ऊर्जा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हैं।

मंत्रिपरिषद के उनके सहयोगी पूर्व आईपीएस अधिकारी सत्यपाल सिंह केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) में काम कर चुके हैं और मुंबई पुलिस आयुक्त रहे थे। उन्होंने उत्तर प्रदेश के बागपत में राष्ट्रीय लोक दल के जयंत चौधरी को 23502 मतों के अंतर से हराया।

इस सीट से मौजूदा लोकसभा सदस्य सिंह राज्य मंत्री के तौर पर विभिन्न प्रभार संभालते हैं। आईएएस से नेता बने मेघवाल राजस्थान के बीकानेर निर्वाचन क्षेत्र से जीते। वह संसदीय कार्य और जल संसाधन, नदी विकास, गंगा कायाकल्प मामलों के राज्य मंत्री हैं। अपराजिता सारंगी भी विजेता रहीं।

राजनीति में आने के लिए उन्होंने पिछले साल भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) छोड़ दी थी। वह भाजपा में शामिल हुई थीं और 23000 वोट के अंतर से ओडिशा के भुवनेश्वर निर्वाचन क्षेत्र से विजयी रहीं। उन्होंने पूर्व आईपीएस अधिकारी बीजू जनता दल के अरुप मोहन पटनायक को हराया।

अन्य विजेताओं में केंद्रीय स्टील मंत्री चौधरी बिरेंद्र सिंह के बेटे बृजेंद्र सिंह भी थे। बृजेंद्र सिंह प्रशासनिक सेवा छोड़कर भाजपा में शामिल हुए थे। हरियाणा के हिसार में उन्होंने जननायक जनता पार्टी के दुष्यंत चौटाला को 3.14 लाख वोटों के अंतर से हराया।

पूर्व आईपीएस अधिकारी विष्णु दयाल राम ने झारखंड के पलामू में राजद के घूरन राम को 4.77 लाख वोटों के अंतर से हराया। पश्चिम बंगाल के घाटाल निर्वाचन क्षेत्र से मैदान में उतरीं पूर्व आईपीएस अधिकारी भारती घोष को तृणमूल कांग्रेस के अधिकारी दीपक ने एक लाख वोटों के अंतर से हराया।

एक अन्य पूर्व आईपीएस अधिकारी प्रकाश मिश्रा ओडिशा के कटक निर्वाचन क्षेत्र में बीजू जनता दल के भर्तृहरि महताब ने 1.21 लाख से ज्यादा मतों के अंतर से हराया। 


Web Title: Barring Hardeep Singh Puri, K J Alphons, Bureaucrats-turned-politicians Win For BJP