Natural home remedies for piles, Piles treatment, foods eat and avoid in haemorrhoids in Hindi | बवासीर के दर्दनाक मस्सों को कुछ दिनों में सुखाकर रख देंगी ये 5 चीजें, नहीं पड़ेगी ऑपरेशन की जरूरत
बवासीर के दर्दनाक मस्सों को कुछ दिनों में सुखाकर रख देंगी ये 5 चीजें, नहीं पड़ेगी ऑपरेशन की जरूरत

बवासीर यानी पाइल्स (Piles) एक तकलीफ़देह रोग है जो कब्ज के कारण होता है। बवासीर होने पर मलद्वार में असहनीय दर्द, चुभन, मस्से, घाव, जलन आदि हो जाते हैं। बवासीर का सही इलाज नहीं कराने पर मलाशय के कैंसर का खतरा हो सकता है। बवासीर दो तरह की होती है खूनी बवासीर और बादी बवासीर। 

खूनी बवासीर में मल के साथ खून आता है जबकि बादी बवासीर में गुदा के मुख में छोटे-छोटे मस्से हो जाते हैं। इलाज नहीं कराने से यह मटर के आकार के मस्से फूलकर बड़े और कठोर होने लगते हैं। मस्सों के बड़े होने पर गुदा में कोचन और चुभन-सी होने लगती है। ऐसी स्थिति में मल विसर्जन करते समय तो भारी पीड़ा होती है।

बवासीर के मस्से की बीमारी के दौरान गुदा के अंदर और गुदा के आसपास की जगह पर सूजन होती है। गुदा, बड़ी आंत के नलिका का अंतिम हिस्से को कहते हैं। आपको बता दें कि ये लगभग 4 सेमी लंबा होता है जो गुदा नलिका के निचले सिरे पर बाहर की ओर खुलता है। बवासीर के मस्से बहुत ही दुख और तकलीफ देते हैं। मरीज का उठना-बैठना यहां तक कि चलना-फिरना भी भारी हो जाता है। 
 
कई बार बिना उपचार के बादी बवासीर ठीक हो जाती है लेकिन अधिकांश मामलों में इसके उपचार की सख्त जरूरत होती है। जाहिर है यह समस्या कब्ज के कारण होती है और एक्सपर्ट इससे बचने के लिए बेहतर खानपान और फिजिकल एक्टिविटी की सलाह देते हैं। 

आपको अपने खाने में ज्यादा से ज्यादा फाइबर वाली चीजें जैसे फल, सब्जियां, अनाज की जगह चोकर शामिल करनी चाहिए। इसके अलावा पानी और अन्य तरल पदार्थों का खूब सेवन करना चाहिए। खैर, बवासीर के दर्दनाक मस्सों को खत्म करने के लिए आप यह उपाय अपना सकते हैं।

बवासीर के मस्सों को सुखाने के आसान उपाय

1) हल्दी को कडवी तोरई के रस में लेप बना कर मस्सों पर लगाने से सब तरह के मस्से नष्ट हो जाते हैं। इसमें अगर नीम का तेल या कोई भी कड़वा तेल मिला कर मस्सों पर लगाया जाए तो और भी जल्दी आराम आता है। 

2) आक और सहजन के पत्तों का लेप भी मस्सों के लिए बहुत रामबाण है। इसके अलावा नीम और कनेर के पत्तों का लेप मस्सों को नष्ट करता है। 

3) लौकी गुड़ को कांजी में पीसकर लेप करने से बवासीर के मस्से नष्ट हो जाते हैं।

4) 20 ग्राम नीलाथोथा व 40 ग्राम अफीम पीस कर 40 ग्राम सरसों के तेल में पकायें। हर रोज सुबह शाम इस मिश्रण को रूई की मदद से मस्सों पर लगाने से कुछ ही दिनों में बवासीर के मस्से सूखने लगेंगे।

5) नीम के कोमल पत्ते घी में भूनकर इसमें थोड़ा सा कपूर डालकर इसकी टिकिया बना लें। अब प्रतिदिन 1 टिकिया गुदाद्वार पर बांधने पर मस्से नष्ट होने लगते है।


Web Title: Natural home remedies for piles, Piles treatment, foods eat and avoid in haemorrhoids in Hindi
स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे