लाइव न्यूज़ :

International Yoga Day 2024: रोजाना करें इस प्राणायाम का अभ्यास, हमेशा रहेंगे स्वस्थ

By अंजली चौहान | Published: June 19, 2024 3:07 PM

International Yoga Day 2024: अनुलोम-विलोम एक प्रकार का प्राणायाम या नियंत्रित श्वास पद्धति है। यह वैकल्पिक नासिका से सांस लेने की तकनीक का पालन करता है और इसके कई फायदे हैं।

Open in App

International Yoga Day 2024: हर व्यक्ति के लिए योग अच्छे स्वास्थ्य की कुंजी है। अलग-अलग तरह के योग, प्राणायाम है जिन्हें करके आप लंबे समय तक स्वस्थ रह सकते हैं। आज-कल की भाग-दौड़ भरी जिंदगी में कठिन और घंटों बैठकर योगा करने तो संभव नहीं है लेकिन कई प्राणायाम ऐसे है जिन्हें आप कुछ सेकेंड में आसानी से कर सकते हैं। प्राणायाम जैसे श्वास व्यायाम न केवल शारीरिक स्वास्थ्य को बढ़ाते हैं, बल्कि मन को भी शांत करते हैं, जिससे समग्र स्वास्थ्य को बढ़ावा मिलता है। यह भी माना जाता है कि यह श्वास तकनीक व्यक्ति को त्रिदोष -वात, पित्त और कफ को संतुलित करने में सक्षम बनाती है।

ये दोष अक्सर स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याओं का कारण बनते हैं। यही कारण है कि अपनी सांस को नियंत्रित करने की क्षमता में सुधार करना फायदेमंद होता है। आइए बताते हैं आपको ऐसे प्राणायाम के बारे में जिसे आप रोजाना आसानी से कर सकते हैं...

अनुलोम विलोम

अनुलोम विलोम एक प्रकार का प्राणायाम या नियंत्रित श्वास विधि है। यह वैकल्पिक नासिका श्वास की तकनीक का पालन करता है और इसके कई लाभ हैं। इस प्राणायाम का अभ्यास करने का सबसे अच्छा समय सुबह खाली पेट या सोने से पहले है, क्योंकि यह शरीर को आराम देने में मदद करता है। अनुलोम विलोम प्राणायाम को नाड़ी शोधन (वैकल्पिक नासिका श्वास) भी कहा जाता है। यह दोनों नथुनों से एक साथ सांस लेने और बाएं और दाएं नथुने से बारी-बारी से सांस छोड़ने का अभ्यास है। दाएं हाथ के अंगूठे का उपयोग दाएं नथुने को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है, जबकि छोटी और अनामिका का उपयोग बाएं नथुने को नियंत्रित करने के लिए किया जाता है। 

अनुलोम-विलोम प्राणायाम करने का तरीका

- सुखासन या पद्मासन में बैठें और अपने हाथों को घुटनों पर टिकाएं।

- अपने दाहिने हाथ की मध्यमा और तर्जनी को हथेली की ओर मोड़ें। इस अभ्यास में केवल दाहिने हाथ का उपयोग किया जाता है।

- बाएं नथुने से सांस लें और दाएं अंगूठे से दाएं नथुने को बंद करें और अपने फेफड़ों में हवा भरने के लिए धीरे-धीरे सांस लें। यह महत्वपूर्ण है कि आप अपने हाथों को सही तरीके से रखें।

- अब, दाएं नथुने से धीरे-धीरे सांस छोड़ें।

- कम से कम पांच मिनट तक दोहराएं, करीब 60 सांसें लें।

इस प्राणायाम को करने के लाभ

- यह तनाव और चिंता को कम करने में मदद करता है

- श्वसन क्रिया को बेहतर बनाता है, फेफड़ों की क्षमता को मजबूत और बढ़ाता है, और शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति बढ़ाता है

- हृदय के स्वास्थ्य में सुधार करता है

- एकाग्रता, ध्यान और प्रदर्शन को बढ़ाता है।

हालांकि, उच्च रक्तचाप और तीव्र अस्थमा वाले लोगों को इसे करने से बचना चाहिए। वहीं, गर्भवती महिलाओं और रुमेटॉइड गठिया वाले लोगों को विशेषज्ञ की देखरेख में इस प्राणायाम का अभ्यास करना चाहिए।

बता दें कि अनु का मोटे तौर पर अनुवाद 'साथ' होता है और लोमा का अर्थ है बाल जिसका अर्थ है 'दाने के साथ' या 'स्वाभाविक', और कभी-कभी इसे 'दाने के अनुसार चलना' भी कहा जा सकता है। यह विलोमा प्राणायाम का विपरीत है जिसका अर्थ है दाने के विपरीत।

टॅग्स :अंतरराष्ट्रीय योग दिवसअंतर्राष्ट्रीय योग सप्ताहयोगहेल्थ टिप्स
Open in App

संबंधित खबरें

स्वास्थ्यProtein Deficiency को दूर करने में मदद करते हैं ये 5 फल, प्रोटीन की कमी से हुए 4 लक्षणों को ऐसे पहचाने

स्वास्थ्यMonsoon Health Tips: मानसून सीजन में एलर्जी से बचने के लिए फॉलो करें ये 6 टिप्स, नहीं होगी कोई दिक्कत

स्वास्थ्यभारतीय महिलाओं में दूसरा सबसे आम कैंसर है सर्वाइकल कैंसर, जानिए क्या है कारण

स्वास्थ्यबढ़ते कोलेस्ट्रॉल को कंट्रोल करने के लिए इस तरह इस्तेमाल करें हल्दी, इन स्वास्थ्य समस्याओं को भी नियंत्रित करने में करती है मदद

स्वास्थ्यक्या है चांदीपुरा वेसिकुलोवायरस? जानिए इस वायरल बीमारी के कारण, लक्षण, इलाज और बचाव

स्वास्थ्य अधिक खबरें

स्वास्थ्यकेरल में निपाह वायरस से संक्रमित पाए जाने के एक दिन बाद 14 वर्षीय लड़के की मौत

स्वास्थ्यखाने में मक्खन की जगह इस्तेमाल करें जैतून का तेल, हृदय रोग और मधुमेह का खतरा कम होगा, अध्य्यन में आया सामने

स्वास्थ्यWorld Homeopathy Summit-2: होम्योपैथ चिकित्सा जगत महाकुंभ, 25 देशों से आए चिकित्सकों का सम्मान, नीतीश दुबे की अगुआई में सफल आयोजन

स्वास्थ्यChandipura virus in Gujarat: 5 दिन और 6 बच्चे की मौत, क्या है चांदीपुरा वायरस, बुखार, उल्टी, दस्त और सिरदर्द हो तो तुरंत सलाह लें, कैसे फैलता है...

स्वास्थ्यMonsoon Health Tips: मानसून में कैसे रहे फिट, ये 5 असरदार तरीके अपनाएं, खुश और तरोताजा रहिएगा