Covid-19: चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, थाईलैंड और सिंगापुर से आए यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर सकती है सरकार, अगले 40 दिन महत्वपूर्ण

By भाषा | Published: December 28, 2022 05:43 PM2022-12-28T17:43:08+5:302022-12-28T17:45:02+5:30

अधिकारी ने कहा, “विगत में, यह पाया गया था कि पूर्वी एशिया के कोविड-19 की चपेट में आने के 30-35 दिन बाद भारत में महामारी की एक नयी लहर आई थी... यह एक प्रवृत्ति रही है।”

Covid-19 China, Japan, South Korea, Hong Kong, Thailand and Singapore Government may make RTPCR report mandatory passengers coming | Covid-19: चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, थाईलैंड और सिंगापुर से आए यात्रियों के लिए आरटीपीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर सकती है सरकार, अगले 40 दिन महत्वपूर्ण

भारत आये 6,000 अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कोविड-19 जांच की गई, जिनमें 39 की रिपोर्ट ‘सकारात्मक’ आई है।

Next
Highlightsअगर लहर आती भी है तो मौत और अस्पताल में भर्ती का आंकड़ा बेहद कम रहेगा। ‘एयर सुविधा’ फॉर्म भरना और 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य किया जा सकता है। भारत आये 6,000 अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कोविड-19 जांच की गई, जिनमें 39 की रिपोर्ट ‘सकारात्मक’ आई है।

नई दिल्लीः  सरकार अगले सप्ताह से चीन और पांच अन्य स्थानों से आने वाले यात्रियों के लिए नकारात्मक आरटी-पीसीआर रिपोर्ट अनिवार्य कर सकती है। आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को यह जानकारी दी। उन्होंने यह भी आगाह किया कि अगले 40 दिन महत्वपूर्ण होंगे क्योंकि भारत में जनवरी में कोविड में उछाल देखा जा सकता है।

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अगर लहर आती भी है तो मौत और अस्पताल में भर्ती का आंकड़ा बेहद कम रहेगा। एक अधिकारी ने कहा, “विगत में, यह पाया गया था कि पूर्वी एशिया के कोविड-19 की चपेट में आने के 30-35 दिन बाद भारत में महामारी की एक नयी लहर आई थी... यह एक प्रवृत्ति रही है।”

सूत्रों ने कहा कि चीन, जापान, दक्षिण कोरिया, हांगकांग, थाईलैंड और सिंगापुर से आने वाले अंतरराष्ट्रीय यात्रियों के लिए अगले सप्ताह से ‘एयर सुविधा’ फॉर्म भरना और 72 घंटे पहले आरटी-पीसीआर परीक्षण अनिवार्य किया जा सकता है। सूत्रों ने बताया कि पिछले दो दिनों में, भारत आये 6,000 अंतरराष्ट्रीय यात्रियों की कोविड-19 जांच की गई, जिनमें 39 की रिपोर्ट ‘सकारात्मक’ आई है।

उन्होंने बताया कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया दिल्ली हवाई अड्डे पर कोविड-19 जांच सुविधाओं का जायजा लेने के लिए वहां का दौरा करेंगे। स्वास्थ्य मंत्री मांडविया द्वारा कांग्रेस नेता राहुल गांधी से कोविड-19 दिशानिर्देशों का पालन नहीं हो सकने की स्थिति में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ को स्थगित करने पर विचार करने के लिए कहने के कुछ दिनों बाद कोविड दिशानिर्देशों को कड़ा करने का प्रस्ताव और मामलों में वृद्धि को लेकर चेतावनी दी गई है। ‘भारत जोड़ो यात्रा’में अभी शीतकालीन विराम की अवधि चल रही है और यह तीन जनवरी से फिर से शुरू होगी।

चीन और दक्षिण कोरिया सहित कुछ देशों में कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने के बीच सरकार ने लोगों से सतर्क रहने को कहा है और राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों को किसी भी अकस्मात स्थिति से निपटने के लिए तैयारी करने को कहा है।

मामलों में उछाल के बाद सरकार ने शनिवार से प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय उड़ान में आने वाले यात्रियों में से दो प्रतिशत की बिना किसी क्रम के कोरोना वायरस जांच को अनिवार्य कर दिया था। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कोविड के मामलों में तेजी की स्थिति से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए बैठकें की हैं।

कोविड-19 के मामले तेजी से बढ़ने की किसी भी स्थिति से निपटने की तैयारियों का जायजा लेने के लिए मंगलवार को देश भर के अस्पतालों में ‘मॉक ड्रिल’ की गई। वहीं, मांडविया ने कहा कि विश्व में कोविड के मामले बढ़ने के मद्देनजर देश सतर्कता बरत रहा है और इससे निपटने के लिए तैयार है। कोरोना वायरस के ओमीक्रोन के उप-स्वरूप बीएफ.7 से मामलों में हालिया वृद्धि हुई है। आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि बीएफ.7 के फैलने की दर बहुत अधिक है और एक संक्रमित व्यक्ति 16 लोगों को संक्रमित कर सकता है।

Web Title: Covid-19 China, Japan, South Korea, Hong Kong, Thailand and Singapore Government may make RTPCR report mandatory passengers coming

स्वास्थ्य से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे