up sonbhadra land dispute 6 man and 3 women dead and many injured | सोनभद्र में लोमहर्षक वारदात, जमीन विवाद को लेकर खूनी संघर्ष: नौ लोगों की हत्या, 19 जख्मी, सीएम ने दिए सख्त कार्रवाई के आदेश
सोनभद्र में लोमहर्षक वारदात, जमीन विवाद को लेकर खूनी संघर्ष: नौ लोगों की हत्या, 19 जख्मी, सीएम ने दिए सख्त कार्रवाई के आदेश

Highlightsमुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिनदहाड़े घटी इस लोमहर्षक वारदात को गम्भीरता से लेते हुए सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं।इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है।

सोनभद्र जिले के घोरावल क्षेत्र में बुधवार को दो पक्षों के बीच जमीन विवाद को लेकर हुए खूनी संघर्ष में नौ लोगों की गोली मारकर हत्या कर दी गयी तथा 19 अन्य जख्मी हो गए।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने दिनदहाड़े घटी इस लोमहर्षक वारदात को गम्भीरता से लेते हुए सख्त कार्रवाई के आदेश दिए हैं। इस मामले में अब तक दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस महानिदेशक ओ.पी. सिंह ने बताया कि घोरावल थाना क्षेत्र के सपही गांव में दो साल पहले ग्राम प्रधान यज्ञदत्त ने एक आईएएस अधिकारी से 90 बीघा जमीन खरीदी थी।

उस पर कब्जे का विवाद था। यज्ञदत्त आज जमीन पर कब्जे के लिए 10-12 ट्रैक्टरों से अपने साथियों को लेकर पहुंचा। ट्रैक्टर से जमीन जोतने के दौरान स्थानीय ग्रामीणों ने इसका विरोध किया। इस पर ग्राम प्रधान पक्ष के लोगों ने उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चला दीं।

उन्होंने बताया कि इस वारदात में तीन महिलाओं समेत नौ लोगों की मौत हो गयी जबकि 19 अन्य जख्मी हो गए। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से कई की हालत नाजुक बतायी जाती है। सिंह ने बताया कि इस मामले में ग्राम प्रधान के भतीजों गिरिजेश और विमलेश को गिरफ्तार कर लिया गया है।

बाकी आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस महानिदेशक ने बताया कि पुलिस जमीन के विवाद में ग्राम प्रधान पक्ष को पूर्व में भी पाबंद किया गया था और उनकी सम्पत्ति कुर्क करने की कार्रवाई भी मजिस्ट्रेट के यहां चल रही है।

उन्होंने बताया कि इस घटना के बाद मध्य प्रदेश पुलिस को भी सतर्क कर दिया गया है। अगर जरूरत पड़ी तो जमीन बेचने वाले आईएएस अधिकारी के खिलाफ भी कार्रवाई की जाएगी। सोनभद्र उत्तर प्रदेश का दूसरा सबसे बड़ा जिला है। इसकी सीमाएं मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड और बिहार से सटी हैं।

रोंगटे खड़े कर देने वाली यह वारदात हाल के वर्षों में प्रदेश में हुई सबसे ज्यादा रक्तपात वाली घटना है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने घटना का संज्ञान लेते हुए मिर्जापुर के मण्डलायुक्त तथा वाराणसी जोन के अपर पुलिस महानिदेशक को घटना के कारणों की संयुक्त रूप से जांच करने के निर्देश दिए हैं।

साथ ही लापरवाही सामने आने पर जिम्मेदारी तय करते हुए 24 घण्टे में रिपोर्ट पेश करने के आदेश दिए हैं। योगी ने पुलिस महानिदेशक को इस प्रकरण की व्यक्तिगत रूप से निगरानी करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने दोषियों को गिरफ्तार करने के लिए अत्यन्त प्रभावी कार्रवाई करने के निर्देश भी दिए हैं।

मुख्यमंत्री ने मृतकों के शोक संतप्त परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हुए जिलाधिकारी को घायलों का समुचित उपचार कराने के निर्देश दिए हैं। 

जिलाधिकारी अंकित कुमार अग्रवाल ने बताया, ‘‘गोली चलने से नौ लोगों की मौत हो गई तथा 19 अन्य घायल हो गए।’’ पुलिस ने बताया कि सपाही गांव प्रधान यज्ञ दत्त और उनके समर्थकों ने जमीन विवाद में दूसरे पक्ष पर अंधाधुंध गोलियां बरसा दी। 

स्थानीय मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक विवाद के दौरान आपस में असलहे से फायरिंग और गड़ासा चलने से कई लोग गंभीर रूप से घायल हुये। घटना स्थल पर फिलहाल पुलिस पहुंची हुई है। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सबसे पहने घायलों को अस्‍पताल पहुंचाया जहां पर उनकी हालत गंभीर बताई जा रही है। स्थानीय मीडिया के मुताबिक, जमीनी विवाद गुर्जर और गोड़ जाति के बीच हुआ। 

English summary :
Land dispute in Sonbhadra: The police has arrived at the incident place. The police reached the spot and transported the injured persons to the hospital where their condition is being reported as critical.


Web Title: up sonbhadra land dispute 6 man and 3 women dead and many injured
क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे