बिहार: जहरीली शराब पीने से 11 की मौत, कई लोगों की आंखों की रोशनी गईं, 5 गिरफ्तार

By लोकमत न्यूज़ डेस्क | Published: August 6, 2022 07:10 AM2022-08-06T07:10:00+5:302022-08-06T07:15:10+5:30

इस पर बोलते हुए पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि मामले में संबंधित थाने के एसएचओ और स्थानीय चौकीदार को निलंबित कर दिया गया है। यही नहीं पांच लोगों की गिरफ्तारी भी हुई है।

Bihar saran district 11 died due to drinking spurious liquor many people lost their eyesight 5 arrested | बिहार: जहरीली शराब पीने से 11 की मौत, कई लोगों की आंखों की रोशनी गईं, 5 गिरफ्तार

बिहार: जहरीली शराब पीने से 11 की मौत, कई लोगों की आंखों की रोशनी गईं, 5 गिरफ्तार

Next
Highlightsबिहार में जहरीली शराब पीने से 11 लोगों की मौत हो गई है। इसके साथ कई लोगों की आंखों की रौशनी भी चली गई है। पुलिस ने मामले में पांच लोगों को गिरफ्तार किया है।

पटना: बिहार के सारण जिले में जहरीली शराब पीने के कारण 11 लोगों की मौत हो गई जबकि 12 अन्य गंभीर रूप से बीमार हो गए। अधिकारियों ने शुक्रवार को यह जानकारी दी है। अधिकारियों के मुताबिक, जहरीली शराब पीने वाले कुछ लोगों की आंखों की रोशनी भी चली गई है। 

5 लोग हुए है गिरफ्तार

राजेश मीणा और पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार ने यहां संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पांच लोगों को कथित रूप से अवैध शराब बनाने और उसकी बिक्री में शामिल होने को लेकर गिरफ्तार किया गया है, जबकि संबंधित थाने के एसएचओ और स्थानीय चौकीदार को निलंबित किया गया है। 

उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘‘गुरुवार को सूचना मिली थी कि शराब पीने के बाद दो लोगों की मौत हो गई और कई लोग बीमार हो गए। यह घटना मेकर थाना क्षेत्र के फुलवरिया पंचायत के गांवों से सामने आई थी।’’ 

अब तक 11 लोगों की हो गई है मौत

संतोष कुमार ने बताया, ‘‘पुलिस, आबकारी और चिकित्सा अधिकारियों की एक टीम को मौके पर भेजा गया और बीमार पड़ गया लोगों को यहां सदर अस्पताल में भर्ती कराया गया। जिनकी हालत बिगड़ गई उन्हें पटना के पीएमसीएच अस्पताल ले जाया गया।’’ अधिकारियों ने बताया कि अब तक इस घटना में 11 लोगों की मौत हो गई। 

एसएचओ और चौकीदार हुए निलंबित 

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि इस घटना के सिलसिले में अब तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया गया है। उन्होंने बताया कि एसएचओ और चौकीदार को निलंबित कर दिया गया है और उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई शुरू कर दी गई है। 

क्या बोले मंत्रिमंडलीय सहयोगी अशोक चौधरी 

जब मुख्यमंत्री के करीबी एवं मंत्रिमंडलीय सहयोगी अशोक चौधरी से कहा गया कि ऐसी घटनाओं के आलोक में मद्यनिषेध कानून की प्रभावकारिता पर प्रश्न उठाये जा रहे हैं तब उन्होंने कहा, ‘‘ दहेज, बलात्कार एवं बिना लाइसेंस वाले हथियार भी रूके नहीं है, लेकिन क्या इससे उनके विरूद्ध बने कानूनों को निरस्त करने की मांग उठती है। ऐसे तत्व हैं जो बिहार में मद्यनिषेध अभियान को सफल नहीं देना चाहते हैं।’’ 

Web Title: Bihar saran district 11 died due to drinking spurious liquor many people lost their eyesight 5 arrested

क्राइम अलर्ट से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे