Government will print five times more note to tackle cash crunch | ATM Cash Crunch: सरकार पहले से पांच गुना ज्यादा छापेगी पांच सौ के नोट

नई दिल्ली, 17 अप्रैल: देश की आधी जनता कैश क्रंच की समस्या से जूझ रही है। एटीएम के बाहर लोगों की लंबी कतार देखने को मिल रही है। लोग सवाल करने लगे हैं कि क्या देश नोटबंदी के बाद वाले हालात से गुजर रहा है? वित्तमंत्री अरुण जेटली और आरबीआई की तरफ से कैश क्रंच को लेकर बयान आ चुका है कि बैंकों में पर्याप्त पैसा है। अब सरकार के तरफ से ये कहा गया है कि पांच सौ के नोट पहले से पांच गुना ज्यादा छापा जाएगा।

ATM में कैश की किल्लत, राहुल गांधी ने कहा- 'मोदीजी ने बैंकिंग सिस्टम को कर दिया बर्बाद'

आर्थिक मामलों के सचिव सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया है कि अभी हर रोज पांच सौ के पांच करोड़ नोट छापे जाते हैं। अब पांच सौ के नोटों की छपाई पांच गुना बढ़ाई जाएगी। हर रोज अब इसे बढ़ाकर 2500 करोड़ किया जाएगा। महीने में 70-75 हजार करोड़ पांच सौ के नोट प्रिंट करवाया जाएगा। उन्होंने ये भी बताया कि पहले जहां देश भर में औसतन 19-20 हजार करोड़ रुपये की नगद की मांग होती थी, अब वो बढ़कर 40-45 हजार करोड़ रुपये पर पहुंच गयी है। अगर सिर्फ इस महीने यानी कि अप्रैल बात करें तो महज 13 दिनों में 45 हजार करोड की मांग हुई है।  

एटीएम में पैसों की किल्लत से जनता बेहाल, वित्तमंत्री अरुण जेटली ने कहा- देश में है पर्याप्त पैसा

दो हजार के नोट की भी छपाई की रफ्तार अच्छी है। सुभाष चंद्र गर्ग ने बताया कि सौ, पचास और 20 रुपए के नोट का स्टॉक अभी है, साथ ही इनकी छपाई भी जारी है। चाहे नोटों की मांग कितनी भी बढ़ जाए पैसों की कमी नहीं होगी।

ATM Cash Crunch: तो क्या फिर से देश में नोटबंदी जैसे हालात हो गए हैं? देखें वीडियो: