athletic federation of india afi trolled on twitter after comment on hima das english skills | हिमा दास की अंग्रेजी पर एथलेटिक्स फेडरेशन के कमेंट को लेकर सोशल मीडिया में बहस, AFI ने दी ये सफाई

नई दिल्ली, 13 जुलाई:  हिमा दास अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीतने वाली पहली भारतीय बन गई हैं। हिमा ने फिनलैंड के टैंपेरे में यह कमाल किया। हिमा ने एआईएफएफ वर्ल्ड अंडर-20 एथलेटिक्स चैंपियनशिप की 400 मीटर रेस में 51.46 सेकेंड का समय निकालते हुए गोल्ड जीता। हिमा 18 साल की हैं और उनकी इस खास उपलब्धि पर हर कोई बधाई दे रहा है। देश के बड़े नेताओं से लेकर बॉलीवुड और क्रिकेट के दिग्गज खिलाड़ियों तक ने हिमा को बधाई दी है। 

साथ ही एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) ने भी हिमा को बधाई दी है। हालांकि, एएफआई का हिमा को लेकर दो दिन पहले किया गया एक ट्वीट अब सोशल मीडिया पर विवादों में आ गया है और इसे लेकर चर्चा शुरू हो गई है। दरअसल, एएफआई ने अपने ट्वीट में हिमा के फाइनल में पहुंचने के बाद का एक वीडियो डाला है जिसमें वह मीडिया से अंग्रेजी में बात कर रही हैं। 

एएफआई ने अपने ट्वीट में लिखा था, 'हिमा सेमीफाइनल जीत के बाद मीडिया से बात कर रही हैं। वह इंग्लिश बोलने में उतनी अच्छी नहीं हैं लेकिन वहां भी उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ दिया। इसलिए हिमा हमें आप पर गर्व है।'

यह भी पढ़ें- हिमा दास ने वर्ल्ड एथलेटिक्स में गोल्ड जीत रचा इतिहास, सोशल मीडिया में लगा बधाइयों का तांता

हालांकि, कई लोगों को हिमा की अंग्रेजी पर एएफआई का कमेंट रास नहीं आया और उन्हें सवाल खड़े कर दिया। आप भी एएफआई का वो ट्वीट


इसके बाद कुछ यूजर्स ने खड़े किए सवाल।





एएफआई ने हालांकि लगातार उठ रहे सवालों पर अपनी सफाई भी दी और लिखा सवाल उठाने वालों को पूरा ट्वीट एक बार फिर ध्यान से पढ़ना चाहिए और बेवजह की ट्रोल की कोशिश बंद होनी चाहिए। एएफआई ने यह भी कहा, 'हिमा जिस बैकग्राउंड से आती हैं, वो हिंदी भी ठीक नहीं बोल पाती। हम उनके पत्रकारों के सवालों के जवाब देने की कोशिश और इंग्लिश में बेहतर तरीके से अपनी बात रखने की उनकी कोशिश की भी तारीफ कर रहे हैं। उम्मीद हैं आप उस ट्वीट का असल मतलब समझ गए होंगे।'



बता दें कि हिमा मौजूदा अंडर-20 सत्र में सर्वश्रेष्ठ समय निकालने के कारण खिताब की प्रबल दावेदार थीं। वह अप्रैल में गोल्ड कोस्ट में हुए राष्ट्रमंडल खेलों की 400 मीटर स्पर्धा में तत्कालीन भारतीय अंडर-20 रिकॉर्ड 51.32 सेकेंड के समय के साथ छठे स्थान पर रही थीं। 

यह भी पढ़ें- हिमा दास ने रचा इतिहास, बनीं वर्ल्ड चैंपियनशिप के ट्रैक इवेंट में गोल्ड जीतने वाली पहली भारतीय


एथलेटिक्स से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे