WEF 2022: ऑक्‍सफैम ने किया बड़ा दावा, कहा हर 30 घंटे में कोरोना काल ने बनाया एक नया अरबपति, बताया प्रत्येक 33 घंटों में 10 लाख लोग हो रहे है गरीब

By आजाद खान | Published: May 23, 2022 01:50 PM2022-05-23T13:50:46+5:302022-05-23T13:54:27+5:30

WEF 2022: गौरतलब है कि इस पर बोलते हुए ऑक्सफैम के कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा, 'दुनिया के अरबपति अपनी तकदीर अविश्वसनीय रूप से बदलने का जश्न मनाने दावोस आ रहे हैं। महामारी और अब खाद्यान्न तथा ऊर्जा की कीमतों में भारी बढ़ोतरी उनके लिए वरदान साबित हो रही है।'

WEF 2022 Oxfam claim Corona era created new billionaire every 30 hours told 1 million people becoming poor every 33 hours Davos Summit | WEF 2022: ऑक्‍सफैम ने किया बड़ा दावा, कहा हर 30 घंटे में कोरोना काल ने बनाया एक नया अरबपति, बताया प्रत्येक 33 घंटों में 10 लाख लोग हो रहे है गरीब

WEF 2022: ऑक्‍सफैम ने किया बड़ा दावा, कहा हर 30 घंटे में कोरोना काल ने बनाया एक नया अरबपति, बताया प्रत्येक 33 घंटों में 10 लाख लोग हो रहे है गरीब

Next
Highlightsऑक्सफैम इंटरनेशनल ने वर्ल्ड इकानॉमिक फोरम में बड़ा खुलासा किया है। इसके अनुसार, महामारी ने हर हर 30 घंटे में एक नया अरबपति बनाया है।वहीं इसी तरज पर हर 33 घंटे में 10 लाख लोग बेहद गरीब हो रहे हैं।

World Economic Forum 2022: स्विटजरलैंड के दावोस के वर्ल्ड इकानॉमिक फोरम (World Economic Forum 2022) में ऑक्सफैम इंटरनेशनल ने यह दावा किया है कि कोविड महामारी (Covid Pandemic ) ने हर 30 घंटे में एक नया अरबपति (Billionaire) बनाया है। ऑक्सफैम ने यह भी दावा किया है कि हर साल के मुकाबले इस हर 33 घंटे में 10 लाख लोग बेहद गरीब हो रहे हैं। संगठन ने यह दावा सोमवार को वर्ल्ड इकानॉमिक फोरम में किया है जहां पर दुनिया भर के धनी व शक्तिशाली लोग इसमें हिस्सा लेने के लिए शामिल हुए है। आपको बता दें कि वर्ल्ड इकानॉमिक फोरम की यह बैठक कोरोना के कारण दो साल तक नहीं हुई थी। 

ऑक्सफैम का क्या है दावा

ऑक्सफैम ने अपनी 'प्रॉफिटिंग फ्रॉम पैन' यानी पीड़ा से मुनाफाखोरी (Profiting from Pain) के जरिए यह दावा किया गया है। दावे में ह कहा गया है कि पिछले कुछ दशकों की तुलना में जरूरी चीजों के दाम में भारी उछाल देखने को मिला है।'प्रॉफिटिंग फ्रॉम पैन' में यह भी कहा गया है कि जिस तरीके से खाद्यान्न और ऊर्जा क्षेत्रों के अरबपति हर दो दिन अपनी संपत्ति को एक अरब डॉलर बढ़ा रहे हैं, उसकी तरज पर लोग गरीब भी हो रहे हैं। 

महंगाई अरबपतियों के लिए बनी अवसर-ऑक्सफैम

इस पर बोलते हुए ऑक्सफैम इंटरनेशनल की कार्यकारी निदेशक गैब्रिएला बुचर ने कहा, 'दुनिया के अरबपति अपनी तकदीर अविश्वसनीय रूप से बदलने का जश्न मनाने दावोस आ रहे हैं। महामारी और अब खाद्यान्न तथा ऊर्जा की कीमतों में भारी बढ़ोतरी उनके लिए वरदान साबित हो रही है। उधर, बेहद गरीबी से लोगों को उबारने की दशकों की प्रगति सिफर रही है और लाखों लोग सिर्फ जिंदा रहने के लिए अप्रत्याशित महंगाई का सामना कर रहे हैं।'

आने वाले दिनों में 26 करोड़ लोग हो जाएंगे बेहद गरीब

ऑक्सफैम ने दावा किया है कि जिस तरीके से अमीर लोगों की संख्या बढ़ रही है और नए नए अरबपति उभर कर सामने आ रहे हैं। इससे यह साफ होता है कि हर साल हर 33 घंटे में 10 लोगों की दर से 26.30 करोड़ लोग बेहद गरीब हो जाएंगे। 

23 सालों की तुलना में सबसे अधिक बने है अरबपति

इस रिपोर्टे में यह भी दावा किया गया है कि कोरोना काल में अरबपतियों की संख्या में पिछले 23 साल की तुलना में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी हुई है। ऑक्सफैम इंटरनेशनल के बुचर ने अरबपतियों के संपत्ति बढ़ने पर सवाल उठाते हुए कहा कि आपकी संपत्ति इसलिए नहीं बढ़ी है कि आपने स्मार्ट हो गए या आपने बहुत मेहनत की है, बल्कि आपका धन इसलिए बढ़ा है कि आपने सुपर रिच दशकों के जरिए की गई धांधली का लाभ आपको आज मिल रहा है। 

Web Title: WEF 2022 Oxfam claim Corona era created new billionaire every 30 hours told 1 million people becoming poor every 33 hours Davos Summit

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे