श्रीलंकाः राष्ट्रपति सचिवालय के बाहर देर रात सशस्त्र बलों ने प्रदर्शनकारियों पर की कार्रवाई, उखाड़े टेंट, दोनों के बीच टकराव का वीडियो आया सामने

By अनिल शर्मा | Published: July 22, 2022 10:18 AM2022-07-22T10:18:41+5:302022-07-22T10:43:43+5:30

गुरुवार देर रात सशस्त्र सुरक्षा कर्मियों ने प्रदर्शनकारियों के टेंट के उखाड़ दिए। प्रदर्शनकारियों पर देर रात कार्रवाई करते हुए सशस्त्र बलों द्वारा कोलंबो में राष्ट्रपति सचिवालय के परिसर के बाहर और गाले फेस पर जमा हुए प्रदर्शनकारियों के तंबुओं का हटा दिया।

sri lanka Late night armed forces uprooted protesters tents Galle Face Ranil Wickremesinghe | श्रीलंकाः राष्ट्रपति सचिवालय के बाहर देर रात सशस्त्र बलों ने प्रदर्शनकारियों पर की कार्रवाई, उखाड़े टेंट, दोनों के बीच टकराव का वीडियो आया सामने

श्रीलंकाः राष्ट्रपति सचिवालय के बाहर देर रात सशस्त्र बलों ने प्रदर्शनकारियों पर की कार्रवाई, उखाड़े टेंट, दोनों के बीच टकराव का वीडियो आया सामने

Next
Highlightsश्रीलंका के नये राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे शुक्रवार को अपने मंत्रिमंडल को शपथ दिलायेंगे राष्ट्रपति सचिवालय के बाहर तेज होते प्रदर्शन को देखते हुए सशस्त्र सैनिकों की भारी तैनाती की गई है

कोलंबोः यहां रानिल विक्रमसिंघे के श्रीलंका के नए राष्ट्रपति के रूप में शपथ लेने के बाद एक बार फिर विरोध तेज हो गया है।  विक्रमसिंघे के खिलाफ प्रदर्शन तेज होने के साथ ही गाले फेस पर भारी संख्या में प्रदर्शनकारी जमा हुए जिसके बाद राष्ट्रपति सचिवालय के बाहर सशस्त्र सैनिकों की भारी तैनाती की गई।

वहीं देर रात सशस्त्र सुरक्षा कर्मियों ने प्रदर्शनकारियों के टेंट के उखाड़ दिए। प्रदर्शनकारियों पर देर रात कार्रवाई करते हुए सशस्त्र बलों द्वारा कोलंबो में राष्ट्रपति सचिवालय के परिसर के बाहर और गाले फेस पर जमा हुए प्रदर्शनकारियों के तंबुओं का हटा दिया। इस दौरान प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा कर्मियों के बीच टकराव भी हुआ।

एक प्रदर्शनकारी ने चेतावनी देते हुए कहा कि "रानिल विक्रमसिंघे हमें खत्म करना चाहते हैं और वे फिर से ऐसा कर रहे हैं। हम हार नहीं मानेंगे। हम अपने देश को इस गंदी राजनीति से मुक्त बनाना चाहते हैं।"

श्रीलंका के नये राष्ट्रपति रानिल विक्रमसिंघे शुक्रवार को अपने मंत्रिमंडल को शपथ दिलायेंगे। मंत्रिमंडल में वही नेता शामिल किए जाएंगे जो विक्रमसिंघे के कार्यवाहक राष्ट्रपति के रहने के दौरान इसके (मंत्रिमंडल के) सदस्य थे। संसद सत्र के आहूत होने पर राष्ट्रीय सरकार पर सहमति बनने तक पिछला मंत्रिमंडल काम करता रहेगा और इसके बाद मंत्रिमंडल में फेरबदल होगा।

विक्रमसिंघे ने देश के समक्ष मौजूद अप्रत्याशित आर्थिक संकट से उबरने के लिए द्विपक्षीय सहमति का आह्वान किया है। उन्हें चुनाव जीतने के बाद बृहस्पतिवार को देश के आठवें राष्ट्रपति के तौर पर शपथ दिलायी गयी। अधिकारियों ने बताया कि विक्रमसिंघे सर्वदलीय सरकार नियुक्त करेंगे। छह बार प्रधानमंत्री रह चुके विक्रमसिंघे को बुधवार को सांसदों ने राष्ट्रपति चुना था। अब उम्मीद की जा रही है कि नकदी संकट से जूझ रहे श्रीलंका के लिए राहत सौदे के लिए अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के साथ चल रही वार्ता को निरंतरता मिलेगी।

Web Title: sri lanka Late night armed forces uprooted protesters tents Galle Face Ranil Wickremesinghe

विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे