Afghan attack Children rescued gunmen storm maternity ward Doctors Borders clinic Kabul | Afghan attack: काबुल के शिया-बहुल इलाके में मातृत्व अस्पताल पर अफगान बंदूकधारियों का हमला, दो नवजात शिशुओं समेत 14 लोगों की मौत
हमले में कम से कम चार लोगों के घायल होने की खबर है। (file photo)

Highlightsअधिकारियों ने बताया कि अफगान बलों ने अस्पताल खाली कराया और नवजात शिशुओं व उनकी मांओं को अन्यत्र पहुंचाया। व्यक्ति को सुपुर्द-ए-ख़ाक़ किए जाने के दौरान ही एक आत्मघाती हमलावर ने मंगलवार को विस्फोट करके खुद को उड़ा लिया।

काबुलः अफगानिस्तान की राजधानी काबुल के पश्चिमी इलाके में आतंकवादियों ने एक प्रसूति अस्पताल पर हमला कर दिया जिससे दो नवजात शिशुओं समेत 14 लोगों की मौत हो गयी ।

एक अधिकारी ने इसकी जानकारी दी । आंतरिक मामलों के मंत्रालय ने जो तस्वीर जारी की है उसके अनुसार अफगानिस्तान सुरक्षा बलों ने अस्पताल से कई बच्चों एवं उनकी मांओं को सुरक्षित निकाल लिया है। इससे पहले दिन में हिंसा की आंच ने काबुल से आगे भी अन्य स्थानों को अपनी चपेट में ले लिया ।

इस्लामिक स्टेट के प्रभुत्व वाले नानगरहर प्रांत में एक अंत्येष्टि कार्यक्रम में एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट कर कम से कम 21 लोगों की हत्या कर दी जबकि इस घटना में 55 अन्य घायल हो गये । पूर्वी खोस्त प्रांत में एक अन्य घटना में एक बाजार में लगाये गये बम के फटने से एक बच्चे की मौत हो गयी जबकि दस अन्य लोग घायल हो गये ।

काबुल में हुये हमले के बाद आसमान में अस्पताल के उपर काले धुयें का गुबार देखा गया । आंतरिक मामलों के मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक एरीन ने कहा कि इमारत से 100 माताओं एवं बच्चों को निकाल लिया गया है। उन्होंने बताया कि हमले में 15 अन्य घायल हुये हैं जिनमें महिलायें, पुरुष और बच्चे शामिल हैं ।

तीन विदेशी नागरिकों को भी सुरक्षित निकाल लिया गया है। विदेशी नागरिकों के बारे में प्रवक्ता ने कोई जानकारी नहीं दी है। काबुल में हुये इस हमले की अभी तक किसी ने जिम्मेदारी नहीं ली है, जहां आईएस एवं तालिबान दोनों आतंकवादी संगठन अफगान सैन्य एवं सुरक्षा बलों को निशाना बनाते रहते हैं ।

काबुल में हुए हमले की जिम्मेदारी अभी किसी ने भी नहीं ली है लेकिन तालिबान और आईएस दोनों ही अफगानिस्तान की राजधानी और इसके आसपास के इलाकों में सक्रिय हैं और आए दिन सेना, सुरक्षा बलों तथा नागरिकों को निशाना बनाते रहते हैं। काबुल के दाष्टी बारची में स्थित अस्पताल के ऊपर गहरा काला धुआं छाया हुआ था। गृह मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक एरियन ने बताया कि भीषण गोलीबारी शुरु होने पर 80 से अधिक महिलाओं और बच्चों को अस्पताल से अफगान सुरक्षा बलों ने सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया।

मंत्रालय द्वारा साझा की गई तस्वीरों में नवजात शिशुओं और मांओं को बाहर ले जाते हुए दिखाया गया। एरियन ने कहा ‘‘सुरक्षा बल आतंकियों को खत्म करने और हालात को काबू करने के लिए प्रयासरत हैं।’’ उप जन स्वास्थ्य मंत्री वाहिद मजरूह ने घटना स्थल का दौरा किया और कहा कि कम से कम चार व्यक्ति हमले में घायल हुए हैं। फिलहाल यह स्पष्ट नहीं है कि आतंकियों का निशाना क्या 100 बिस्तरों वाला अस्पताल था।

नांगरहार प्रांत में हुए हमले के बारे में गवर्नर के प्रवक्ता अताउल्ला खोगयानी ने बताया कि खेवा जिले में एक स्थानीय, सरकार समर्थक मिलीशिया कमांडर को सुपुर्द-ए-ख़ाक़ किया जा रहा था। इसी दौरान एक आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट करके खुद को उड़ा लिया। मिलीशिया कमांडर का सोमवार की रात को दिल का दौरा पड़ने से निधन हुआ था।

खोगयानी ने बताया कि शोकाकुल लोगों में शामिल आत्मघाती हमलावर ने विस्फोट में खुद को उड़ाया, जिससे धमाके में कम से कम दस लोग मारे गए और 30 घायल हो गए। बाद में तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्ला मुजाहिद ने ट्वीट कर कहा कि दोनों ही हमले में तालिबान का हाथ नहीं है। 

Web Title: Afghan attack Children rescued gunmen storm maternity ward Doctors Borders clinic Kabul
विश्व से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे