Paush Purnima 2021: Know when is Paush Purnima, Kalpavas will start on this day only | Paush Purnima 2021: जानें कब है पौष पूर्णिमा, इस दिन ही शुरू होगा कल्पवास
पौष पूर्णिमा के दिन ही शुरू होगा कल्पवास (फाइल फोटो)

Highlightsइस दिन का हिंदू पंचांग के मुताबिक काफी महत्व है। इस दिन स्नान-दान करने के बाद सूर्य देव को जल देने से काफी लाभ मिलता है।

नई दिल्ली: हिंदू धर्म के लोगों के लिए पौष माह के पूर्णिमा का बेहद खास महत्व है। कई लोग तो इस दिन का इंजजार साल भर करते हैं। इसके पीछे कई धार्मिक वजह है। 

इस साल पौष पूर्णिमा अंग्रेजी कैलेंडर के मुताबिक, 28 जनवरी को है। बता दें कि पौष माह के शुक्ल पक्ष में पड़ने वाले पूर्णिमा को ही हम पौष पूर्णिमा के नाम से जानते हैं।

जानें 28 जनवरी के किस समय पूर्णिमा लगेगी 

इस साल मिल रहे जानकारी के मुताबिक 28 जनवरी 2021 को गुरुवार के दिन ही पौष पूर्णिमा का लगना तय है। इस बात की संभावना है कि 28 जनवरी को 1 बजकर 18 मिनट अर्ध रात्री में पौष पूर्णिमी लगेगी। यह पूर्णिमा 29 जनवरी शुक्रवार की रात 12 बजकर 47 मिनट तक रहेगी।

इस दिन का क्या खास महत्व है?

इस दिन का हिंदू पंचांग के मुताबिक काफी महत्व है। इस दिन ही भगवती दुर्गा के शाकम्भरी स्वरूप का जन्म हुआ था। इसलिए इस दिन को शाकम्भरी पूर्णिमा भी कहते हैं। इस दिन स्नान-दान करने के बाद सूर्य देव को जल देने से काफी लाभ मिलता है, ऐसी लोगों की धारणा है। लोगों का मानना है कि पौष पूर्णिमा पर स्नान-दान से व्यक्ति को मोक्ष की प्राप्ति होती है।

कल्पवास क्या है और यह कब से शुरू है?

आपके लिए यह जानना जरूरी है कि पौष पूर्णिमा के दिन यानी 28 जनवरी की रात से ही कल्पवास शुरू हो जाता है। कल्पवास में पूजा पाठ करने वाले लोग पौष पूर्णिमा से एक-दो दिन पहले संगम किनारे पहुंच जाते हैं। ये लोग संगम किनारे पर की तपस्या शुरू करते हैं। माघ मेले का दूसरा स्नान पौष पूर्णिमा पर होगा। कल्पवासी माघ मेले के सभी प्रमुख स्नानों पर स्नान-दान करते हैं। माघी पूर्णिमा के दिन कल्पवास का समापन होता है। 

Web Title: Paush Purnima 2021: Know when is Paush Purnima, Kalpavas will start on this day only

पूजा पाठ से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे