Rajasthan BJP executive Eight state vice presidents and four general ministers involved, bets on former Chief Minister Vasundhara Raje's opponent | राजस्थान भाजपा कार्यकारिणीः आठ प्रदेश उपाध्यक्ष एवं चार महामंत्री शामिल, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विरोधी पर दांव
कार्यकारिणी में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विरोधियों को अधिक महत्व दिया गया है।

Highlights सांसद दीया कुमारी, विधायक मदन दिलावर, सुशील कटारा एवं भजनलाल शर्मा को प्रदेश महामंत्री बनाया गया है। पूनियां ने कहा ,‘‘ भाजपा एक राजनीतिक पार्टी है जो न केवल चुनाव लड़ती है बल्कि सामाजिक मोर्चे पर भी काम करती है। कोरोना संकट के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के काम को लोगों ने देखा है।’’ प्रदेश की 25 सदस्यों की इस कार्यकारिणी में नौ प्रदेश मंत्री भी हैं। इसके साथ ही पार्टी ने एक अनुशासन समिति भी गठित की है।

जयपुरः भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने राजस्थान में अपनी नयी प्रदेश कार्यकारिणी की घोषणा शनिवार को की जिसमें आठ प्रदेश उपाध्यक्ष एवं चार महामंत्री शामिल हैं।

भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनियां ने कहा कि नयी कार्यकारिणी में पार्टी ने सामाजिक समीकरणों का ध्यान रखा है और युवाओं के साथ साथ अनुभवी नेताओं को भी मौका दिया गया है। नयी कार्यकारिणी में सांसद सी पी जोशी, विधायक चंद्रकाता मेघवाल, पूर्व विधायक अलका गुर्जर, अजयपाल सिंह, हेमराज मीणा, प्रसन्न मेहता, मुकेश दाधीच एवं माधोराम चौधरी को उपाध्यक्ष बनाया गया है।

इसी तरह सांसद दीया कुमारी, विधायक मदन दिलावर, सुशील कटारा एवं भजनलाल शर्मा को प्रदेश महामंत्री बनाया गया है। पूनियां ने कहा ,‘‘ भाजपा एक राजनीतिक पार्टी है जो न केवल चुनाव लड़ती है बल्कि सामाजिक मोर्चे पर भी काम करती है। कोरोना संकट के दौरान भाजपा कार्यकर्ताओं के काम को लोगों ने देखा है।’’

प्रदेश की 25 सदस्यों की इस कार्यकारिणी में नौ प्रदेश मंत्री भी हैं। इसके साथ ही पार्टी ने एक अनुशासन समिति भी गठित की है। कार्यकारिणी में पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे के विरोधियों को अधिक महत्व दिया गया है। वसुंधरा राजे के राजनीतिक विरोधी माने जाने वालों में सांसद दीया कुमारी को महामंत्री और पूर्व मंत्री मदन दिलावर को उपाध्यक्ष बनाया गया है ।

महाराष्ट्र में भाजपा ने दूध के उचित खरीद मूल्य की मांग को लेकर प्रदर्शन किया

 महाराष्ट्र में मुख्य विपक्षी भाजपा ने दूध खरीद मूल्य में वृद्धि की मांग को लेकर राज्य के विभिन्न हिस्सों में विरोध प्रदर्शन किया। कई स्थानों पर किसानों ने विरोध स्वरूप सड़क पर दूध गिराया और नारेबाजी करते हुए कुछ समय के लिए सड़कों को जाम कर दिया। उनकी मूख्य मांग दूध पर सब्सिडी प्रति लीटर दस रुपये बढ़ाने और डेयरी द्वारा मौजूदा 30 रुपये प्रति लीटर की दर से हो रही दूध खरीद को संशोधित करने की है। उन्होंने प्रति किलो दूध पाउडर के निर्यात पर सब्सिडी बढ़ाने की भी मांग की।

उल्लेखनीय है कि बेहतर दूध खरीद मूल्य की मांग को लेकर हाल में स्वाभिमानी शेतकारी संगठन (एसएसएस), रैयत शेतकारी संगठन और अखिल भारतीय किसान सभा ने हाल में प्रदर्शन किया था। इस बीच, महाराष्ट्र भाजपा प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल ने डेयरी किसानों के मुद्दे पर मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे पर निशाना साधा।

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं जानना चाहता हूं कि मुख्यमंत्री ठाकरे दूध उत्पादकों का मुद्दा उठाने कितनी बार दिल्ली गए। अगर वह डेयरी उद्योग के मुद्दे को नहीं जानते तो उन्हें राकांपा नेता अजित पवार और कांग्रेस नेता बालासाहेब थोराट जैसे नेताओं को दिल्ली भेजना चाहिए जिन्हें इस क्षेत्र की गहरी जानकारी है।’’

अन्य भाजपा नेता एवं पूर्व विधानसभा अध्यक्ष हरीभाउ बागडे ने राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) और कांग्रेस पर दूध पाउडर आयात पर लोगों को भ्रमित करने का आरोप लगाया। उल्लेखनीय है कि कांग्रेस और राकांपा ने आरोप लगाया है कि केंद्र की दूध पाउडर आयात की नीति से घरेलू डेयरी उद्योग प्रभावित हो रहा है।

Web Title: Rajasthan BJP executive Eight state vice presidents and four general ministers involved, bets on former Chief Minister Vasundhara Raje's opponent
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे