If not a lockdown solution, then why Congress-ruled states have already extended the period of detention: BJP | BJP का विपक्ष पर तंज, कहा- अगर लॉकडाउन समाधान नहीं, तो कांग्रेस शासित राज्यों ने पहले ही क्यों बढ़ाई बंदी की अवधि
भाजपा के संगठन मंत्री बी एल संतोष ने ट्वीट किया, 'राहुल गांधी के अनुसार लॉकडाउन समाधान नहीं है.... (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Highlightsपंजाब में भी कांग्रेस सत्ता में है और वहां भी प्रधानमंत्री मोदी के लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा से पहले ही बंदी की अवधि को बढ़ा दिया गया था।प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि अधिकांश मुख्यमंत्रियों ने महामारी से मुकाबला करने के लिये लॉकडाउन का समर्थन किया था।

नई दिल्ली:  लॉकडाउन के कोरोना वायरस (Coronavirus) को रोकने का समाधान नहीं होने संबंधी राहुल गांधी के बयान पर तंज कसते हुए भाजपा ने गुरुवार (16 अप्रैल) को कांग्रेस से सवाल किया कि अगर यह (लॉकडाउन) समाधान नहीं है तब कांग्रेस शासित राज्यों ने केंद्र की घोषणा से पहले ही बंदी की अवधि क्यों बढ़ायी।

भाजपा के संगठन मंत्री बी एल संतोष ने ट्वीट किया, 'राहुल गांधी के अनुसार लॉकडाउन समाधान नहीं है.... तब कांग्रेस और उसके द्वारा समर्थित सरकारों के मुख्यमंत्रियों ने पहले ही लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा क्यों की ?' 

गौरतलब है कि महाराष्ट्र में कांग्रेस पार्टी वहां गठबंधन सरकार का हिस्सा है और राज्य ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा से पहले ही 30 अप्रैल तक बंदी को बढ़ा दिया था। पंजाब में भी कांग्रेस सत्ता में है और वहां भी प्रधानमंत्री मोदी के लॉकडाउन को 3 मई तक बढ़ाने की घोषणा से पहले ही बंदी की अवधि को बढ़ा दिया गया था। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा था कि अधिकांश मुख्यमंत्रियों ने महामारी से मुकाबला करने के लिये लॉकडाउन का समर्थन किया था। 

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार (16 अप्रैल) को कहा कि लॉकडाउन से कोरोना वायरस संकट का स्थायी समाधान नहीं होगा, बल्कि बड़े पैमाने पर और रणनीतिक रूप से जांच से ही इस वायरस को पराजित किया जा सकता है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी से यह आग्रह भी किया कि राज्यों और जिलों को पर्याप्त संसाधन मुहैया कराए जाएं। राहुल ने कहा, ''लॉकडाउन कोई समाधान नहीं है। यह वायरस को पराजित नहीं करता है। यह सिर्फ कुछ समय के लिए रोकता है। जब हम लॉकडाउन से बाहर आएंगे तो वायरस फिर से जोर पकड़ सकता है। इसलिए इसे पराजित करने का सबसे बड़ा हथियार जांच है।'' 

भाजपा ने अपने ट्विटर हैंडल पर आंकड़ा जारी करते हुए जोर दिया कि भारत गंभीर रूप से प्रभावित देशों की तुलना में कोविड-19 को काफी हद तक रोक सका और प्रति 10 लाख आबादी पर केवल 9 मामले सामने आए और प्रति 10 लाख आबादी पर 0.3 मौत हुई है। इसमें कहा गया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित 12 हजार मामलों को देखें तब भारत में इसके फैलने की रफ्तार गंभीर रूप से प्रभावित देशों की तुलना में काफी कम है।

Web Title: If not a lockdown solution, then why Congress-ruled states have already extended the period of detention: BJP
राजनीति से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे