Budget 2018 may cost your pocket Save Money for better future | बढ़ती महंगाई के दौर में बेहतर भविष्य के लिए ऐसे शुरू करें बचत

आज के इस दौर में व्यक्ति जो कमाता है सब खर्च हो जाता है उसके पास सेविंग्स करने के लिए भी कुछ नहीं बचता। इसके कारण हम भविष्‍य में अपनी किसी भी जरूरत के या दुर्घटना के लिए कुछ नहीं बचा पाते।  लेकिन अभी भी बहुत ज्यादा देर नहीं हुए अगर आप अब से भी सेविंग शुरू करते है तो भविष्य के लिए अच्छी खासी बचत कर सकते हैं।  सबसे पहले तो आपको जरूरत है अपने खर्चों का हिसाब रखने की।  यह बचत के लिए सबसे अहम पहलू है। 

खर्चों का हिसाब पता लगाने के लिए सबसे सही तरीका यह है कि हर मंथ में जितनी आपकी इनकम है उनका ब्यौरा तैयार करें । ब्योरा रखने के लिए आप खर्चों को दो हिस्सों में बांट सकतें हैं। जैसे फिक्स खर्च और कभी-कभार होने वाले खर्च। फिक्स खर्च जैसे घर का किराया, इंश्योरेंस के प्रीमियम आदि।  इसके उलट कभी-कभार (फ्लेक्सिबल) होने वाले खर्च का अमाउंट हर मंथ एक नहीं होती। खाने-पीनाया मनोरंजन पर होने वाले खर्च फ्लेक्सिबल खर्च में आता हैं। 

अपनी आय और व्यय जरुर पता जरुर लगाएं। हर मंथ में अपनी आय और खर्चों का हिसाब लगाने के बाद आप अपनी खर्च को अपनी टोटल इनकम में से घटा लें। इसके बाद जो भी अमाउंट बचता है आप उसे इन्वेस्ट कर सकते हैं लेकिन अगर खर्च की कुल रकम पूरी इनकम से ज्यादा है, तो यह आपके लिए चिंता बात हो सकती है।  ऐसे में आपको जरुरत है अपने खर्चों में थोड़ी कटौती करने की।  क्योंकि यह बात हमेशा याद रखें कि इनकम से ज्यादा खर्च हमेशा आपको कर्ज में डालता है।

अपनी सेविंग्स को अगर आप अपनी बटुए के बजाएं बैंक अकाउंट में रखते हो तो यह बढ़िया आदत है क्योंकि बैंक में आपका पैसा बचा रहता है जबकि बटुए में रखा अमाउंट अक्सर हम खर्च क्र देतें हैं।  इसके साथ ही अगर आप बैंक में पैसे रखतें हैं तो इसका इंटरेस्ट भी आपको मिलता है।  बचत खाते यानि सेविंग्स अकाउंट में 4 से 6 प्रतिशत तक का इंटरेस्ट मिलता है।