Who was giving protection to DSP Davinder Singh, why PM Modi, Home Minister and NSA are silent on the matter: Rahul Gandhi | DSP दविंदर सिंह को कौन दे रहा था संरक्षण, मामले पर पीएम मोदी, गृह मंत्री और NSA खामोश क्यों हैं: राहुल गांधी
कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उसके खिलाफ त्वरित अदालत में छह महीने के भीतर मुकदमा चलना चाहिए।

Highlightsडीएसपी दविंदर सिंह ने अपने घर पर तीन ऐसे आतंकवादियों को अपने घर पर पनाह दी।उन्हें दिल्ली ले जाते हुए पकड़ा गया जिनके हाथ में भारतीय नागरिकों का खून लगा है।

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कश्मीर घाटी से पुलिस अधिकारी दविंदर सिंह की गिरफ्तारी को लेकर बृहस्पतिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार (एनएसए) अजीत डोभाल की कथित ‘‘खामोशी’’ को लेकर सवाल किया।

राहुल गांधी ने कहा कि सिंह के खिलाफ त्वरित अदालत में मुकदमा चलना चाहिए और दोषी पाए जाने पर उसे कड़ी सजा दी जानी चाहिए। गांधी ने यह सवाल भी किया कि दविंदर सिंह की पुलवामा हमले में क्या भूमिका थी और उसे किसका संरक्षण मिल रहा था?

उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘‘डीएसपी दविंदर सिंह ने अपने घर पर तीन ऐसे आतंकवादियों को अपने घर पर पनाह दी और उन्हें दिल्ली ले जाते हुए पकड़ा गया जिनके हाथ में भारतीय नागरिकों का खून लगा है।’’ कांग्रेस नेता ने कहा, ‘‘उसके खिलाफ त्वरित अदालत में छह महीने के भीतर मुकदमा चलना चाहिए और अगर वह दोषी है तो उसे भारत के खिलाफ देशद्रोह के लिए कड़ी से कड़ी सजा मिलनी चाहिए।’’

गांधी ने सवाल किया, ‘‘दविंदर सिंह पर प्रधानमंत्री, गृह मंत्री और एनएसए खामोश क्यों हैं? पुलवामा हमले में दविंदर सिंह की क्या भूमिका थी? उसने और कितने आतंकवादियों की मदद की? उसे कौन संरक्षण दे रहा था और क्यों दे रहा था?’’

संसद, पुलवामा हमले में दविंदर की भूमिका की भूमिका की हो जांच : मुख्यमंत्री कमलनाथ

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आंतकवादियों के साथ हाल में गिरफ्तार किये गये जम्मू कश्मीर पुलिस के अधिकारी दविंदर सिंह की संसद (वर्ष 2001) और पुलवामा के हमले (वर्ष 2019) में भूमिका की जांच की मांग की है।

कमलनाथ ने गुरुवार को ट्वीट किया, ‘‘ जम्मू कश्मीर में पदस्थ डीएसपी दविंदर सिंह को आतंकवादियो के साथ पकड़ा गया। दविंदर सिंह की संसद हमले व पुलवामा कांड में भी संदिग्ध भूमिका की बाते निरंतर सामने आ रही है। यह एक बड़ी खुफिया विफलता का मामला है, इस पर कई सवाल उठ रहे हैं। इसकी पूरी जांच होनी चाहिये।’’

उल्लेखनीय है कि पुलिस ने शनिवार को सिंह को दक्षिणी कश्मीर के कुलगाम जिले के मीर बाजार में हिजबुल मुजाहिद्दीन के दो आतंकवादियों नवीद बाबा और अल्ताफ के साथ गिरफ्तार किया था। इसके अलावा एक अज्ञात वकील भी उनके साथ था, जो आतंकी संगठनों के लिए काम कर रहा था। 

Web Title: Who was giving protection to DSP Davinder Singh, why PM Modi, Home Minister and NSA are silent on the matter: Rahul Gandhi
भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया की ताज़ा खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ सब्सक्राइब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा Facebook Page लाइक करे