राहुल गांधी ने नौकरी में आरक्षण को लेकर सरकार को घेरा, कहा- अगर रोजगार ही नहीं, तो आरक्षण का क्या मतलब

By उस्मान | Published: August 28, 2021 07:38 AM2021-08-28T07:38:47+5:302021-08-28T07:40:18+5:30

राहुल ने नौकरी में आरक्षण को लेकर सरकार के समक्ष सवाल उठाया और पूछा कि जब नौकरी ही नहीं रहेगी तो इसका क्या उपयोग रह जाएगा

What Is The Point Of Having Reservation, Without Employment: Rahul Gandhi | राहुल गांधी ने नौकरी में आरक्षण को लेकर सरकार को घेरा, कहा- अगर रोजगार ही नहीं, तो आरक्षण का क्या मतलब

राहुल गांधी

Next
Highlightsराहुल गांधी ने नौकरी में आरक्षण को लेकर सरकार के समक्ष सवाल उठायानौकरी ही नहीं रहेगी तो इसका क्या उपयोग रह जाएगाकेंद्र सरकार द्वारा आने वाले वर्षों में छह लाख करोड़ रुपये जुटाने पर उठाया सवाल

नयी दिल्ली, 27 अगस्त (भाषा) कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने शुक्रवार को नौकरी में आरक्षण को लेकर सरकार के समक्ष सवाल उठाया और पूछा कि जब नौकरी ही नहीं रहेगी तो इसका क्या उपयोग रह जाएगा? कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष ने नए कृषि कानूनों को लेकर भी सरकार पर हमला किया और इन्हें वापस लेने की मांग की।

राहुल गांधी ने ''इंडिया ऑन सेल'' हैशटेग के साथ ट्वीट किया, '' ‘मित्रि’करण की सूनामी। न रोज़गार है और न आने वाले सालों में होगा तो आरक्षण का क्या मतलब?'' केंद्र सरकार द्वारा आने वाले वर्षों में छह लाख करोड़ रुपये जुटाने के लिए राष्ट्रीय मौद्रिकरण नीति का ऐलान किया है जिसको लेकर गांधी ने निशाना साधा है। एक अन्य ट्वीट में कांग्रेस नेता ने कहा, '' खेत को रेत नहीं होने देंगे, मित्रों को भेंट नहीं देने देंगे। कृषि विरोधी क़ानून वापस लो! ''  

Web Title: What Is The Point Of Having Reservation, Without Employment: Rahul Gandhi

भारत से जुड़ी हिंदी खबरों और देश दुनिया खबरों के लिए यहाँ क्लिक करे. यूट्यूब चैनल यहाँ इब करें और देखें हमारा एक्सक्लूसिव वीडियो कंटेंट. सोशल से जुड़ने के लिए हमारा लाइक करे